भारत

महाराष्ट्र: विस्फोटक मिलने के मामले में एटीएस ने की एक और गिरफ़्तारी, अब तक पांच गिरफ़्त में

अातंकवाद निरोधी दस्ते ने बीते दिनों पालघर ज़िले से वैभव राउत को गिरफ्तार किया था जिसके घर से बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद हुए थे. मामले में पांच लोग गिरफ़्तार हुए हैं जो राज्य में विस्फोटों को अंजाम देने की साजिश रचने में शामिल हैं.

Maharashtra ATS

मुंबई: महाराष्ट्र में विस्फोटकों और हथियारों की हाल ही में हुई जब्ती के मामले में जांच कर रहे आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) ने घाटकोपर से एक और शख्स को गिरफ्तार कर लिया है.

एक अधिकारी ने शनिवार को कहा कि 30 वर्षीय अविनाश पवार को शुक्रवार रात गिरफ्तार कर लिया गया और उसे शनिवार को एक अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा.

एटीएस के मुताबिक, पवार इस मामले में वैभव राउत, शरद कालस्कर, सुधनवा गोंधालेकर और श्रीकांत पंगारकर के साथ राज्य में विस्फोटों को अंजाम देने की साजिश रचने में शामिल था. इन चारों को इस मामले में पहले गिरफ्तार किया गया था.

अधिकारी ने कहा कि पवार का नाम गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के दौरान सामने आया.

उन्होंने कहा, ‘हमने विस्फोटक तत्व अधिनियम की धाराओं 4, 5 के साथ विस्फोटक अधिनियम की धारा 9 (बी), आईपीसी की धारा 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) और गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) की धाराओं 16, 18 और 20 के तहत पवार को गिरफ्तार कर लिया.’

गौैरतलब है कि एटीएस ने 10 अगस्त को वैभव राउत (40) को गिरफ्तार किया था जो पालघर जिले के नालासोपारा में हिंदू गोवंश रक्षा समिति नाम का संगठन चलाता था. उसके घर से आठ देसी बम, गन पाउडर और डेटोनेटर मिले थे.

इसके बाद कालस्कर (25) और गोंधालेकर (39) को गिरफ्तार किया गया. जालना से शिवसेना के पूर्व पार्षद पंगारकर को 19 अगस्त को गिरफ्तार किया गया. तर्कवादी नरेंद्र दाभोलकर की हत्या में भी पंगारकर की संलिप्तता पाई गई है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments