भारत

ग्राहक सेवा मानकों पर खरा नहीं उतरने पर जियो, एयरटेल और वोडाफोन पर जुर्माना

दूरसंचार नियामक प्राधिकरण ने रिलायंस जियो पर सबसे ज़्यादा 34 लाख रुपये का जुर्माना लगाया. यह जुर्माना अन्य नेटवर्कों के साथ परस्पर संयोजन बिंदु पर जाम, काल सेंटर व ग्राहक सेवाओं तक पहुंच सहित विभिन्न मदों में लगा है.

(फोटो साभार: फेसबुक)

(फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: दूरसंचार नियामक प्राधिकरण ट्राई ने रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया समेत बड़ी दूरसंचार कंपनियों पर जुर्माना लगाया है. मार्च तिमाही के दौरान विभिन्न सेवा गुणवत्ता मानकों पर खरा नहीं उतरने के चलते यह क़दम उठाया गया है। सूत्रों ने यह जानकारी दी.

सूत्रों ने बताया है कि विभिन्न मानदंडों और सेवा क्षेत्रों के आधार पर जुर्माना लगाया गया है और सभी कंपनियां भुगतान कर रही हैं.

ट्राई ने मार्च तिमाही के दौरान रिलायंस जियो पर 34 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. यह जुर्माना अन्य नेटवर्कों के साथ परस्पर संयोजन बिंदु पर जाम, काल सेंटर व ग्राहक सेवाओं तक पहुंच सहित विभिन्न मदों में लगा है. इस बारे में रिलायंस जियो को भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं आया.

वोडाफोन द्वारा आइडिया सेल्युलर के अधिग्रहण तक भारती एयरटेल सबसे बड़ी टेलीकॉम आॅपरेटर कंपनी थी. सूत्रों के अनुसार, भारती एयरटेल पर 11 लाख रुपये का जुर्माना लगा है, जबकि आइडिया सेल्युलर पर 12.5 लाख रुपये और वोडाफोन पर करीब 4 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

जुर्माना विभिन्न सर्कलों में कॉल ड्राप, एक तय समयसीमा में ग्राहक सेवा आॅपरेटर द्वारा जवाब देने के प्रतिशत को आधार बनाकर लगाया गया है.

एयरटेल ने इस पर प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया जबकि आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन ने भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं दिया है.

ट्राई चेयरमैन आरएस शर्मा ने इससे पहले कहा था कि नियामक गुणवत्ता नियमों को पूरा नहीं करने वाली कंपनियों पर जुर्माना लगाने के अंतिम चरण में है. हालांकि, जानकारी देने से मना कर दिया था.

Comments