राजनीति

बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपराधियों से पितृ पक्ष में अपराध न करने का आग्रह किया

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि मुज़फ़्फ़रपुर में पूर्व मेयर को एके 47 से मार दिया गया. नीतीश जी की नाकामियों से बिहार में एके 47 आम हथियार हो गया है.

Bengaluru: Chairman of the State Finance Ministers Group and Bihar Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi speaks during a press conference after meeting with the group of ministers constituted to monitor and remove IT challenges faced in implementation of GST, in Bengaluru on Saturday, July 14, 2018. (PTI Photo/Shailendra Bhojak)(PTI7_14_2018_000148B)

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी. (फोटो: पीटीआई)

पटना: बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपराधियों से आग्रह किया है कि कम से कम पितृ पक्ष के दौरान वे आपराधिक गतिविधियों में लिप्त न रहें. गया में पितृपक्ष मेले का उद्घाटन करते हुए उन्होंने यह अपील की है.

कार्यक्रम के दौरान सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘किसी भी बाहर से आने वाले व्यक्ति को कोई भी शिकायत करने का मौका नहीं मिलना चाहिए. और मैं अपराधियों से भी हाथ जोड़कर आग्रह करूंगा कि कम से कम पितृ पक्ष में तो छोड़ दीजिए (अपराध), बाकी दिन तो आप, मना करें… न करें… कुछ न कुछ करते रहते हैं और पुलिसवाले लगे रहते हैं. लेकिन ये 15-16 दिन, ये जो धार्मिक उत्सव है… इस उत्सव में कोई ऐसा काम मत कीजिए जिससे बिहार की प्रतिष्ठा, गया जी प्रतिष्ठा और आने वाले लोगों को शिकायत का कोई मौका मिले. और अगर आप करेंगे तो इतने सीसीटीवी कैमरा लगे हैं और हमारे पुलिस के इतने जवान हैं कि कोई बचकर निकल नहीं पाएगा, कोई यहां से भाग नहीं सकेगा.’

मालूम हो कि गया बिहार और झारखंड की सीमा पर बसा बिहार का दूसरा सबसे बड़ा शहर है. उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर की ही तरह इसकी प्रतिष्ठा भी धार्मिक नगरी की तरह है. हर साल पितृ पक्ष के दौरान यहां हज़ारों लोग पिंड दान के लिए आते हैं.

बहरहाल सुशील कुमार मोदी का यह बयान ऐसे समय आया है जब बीते 23 सितंबर को मुज़फ़्फ़रपुर शहर के पूर्व मेयर की बदमाशों ने एके 47 से गोली मारकर हत्या कर दी है. इस हमले में उनके ड्राइवर को भी मार डाला गया.

इस बयान के बाद सुशील कुमार मोदी विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं. विपक्षी दल राजद ने उन पर और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि यह उनकी नाकामियों को दर्शाता है.

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने मुज़फ़्फ़रपुर में आधुनिक और आॅटोमैटिक हथियार से अंधाधुंध गोलीबारी कर पूर्व मेयर समीर कुमार और उनके वाहन चालक की हत्या की ओर इशारा करते हुए ट्वीट कर कहा कि उप-मुख्यमंत्री का बयान सरकार की नाकामियों को दर्शाता है.

तेजस्वी ने कहा, ‘ख़ुलासा और दिलासा मास्टर की कुख्यात जोड़ी डर के मारे कुछ दिनों में अपराधियों के पैर भी पकड़े तो अचम्भित नहीं होना. क्योंकि बिहार पुलिस से ज़्यादा AK-47 अपराधियों के पास है.’

उन्होंने मुख्यमंत्री के पूर्व घटित वारदातों पर यह कहे जाने कि बिहार में क़ानून का राज है, क़ानून अपना काम करेगा एवं हम ना किसी को फंसाते हैं, न किसी को बचाते हैं को उद्धृत करते हुए आरोप लगाया, ‘नीतीश कुमार जी के इन दो तकिया कलामों ने बिहार का बेड़ा गर्क कर दिया है क्योंकि किसी को फंसाते हैं तब भी यही रटा-रटाया बोलते हैं और बचाते हैं तब भी यही घिसा-पिटा डायलॉग.’

तेजस्वी ने कहा, ‘मुज़फ़्फ़रपुर में पूर्व मेयर को दिनदहाड़े AK-47 से मार दिया गया. नीतीश जी की नाकामियों से बिहार में AK-47 आम हथियार हो गया है. डबल इंजन की सरकार में अपराध तीन सौ गुना बढ़ गया है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)