भारत

अभिनेता आलोक नाथ पर बलात्कार का आरोप, उन्होंने कहा- रेप हुआ होगा लेकिन मैंने नहीं किया

धारावाहिक तारा की लेखक और प्रोड्यूसर विन्ता नंदा ने आलोक नाथ पर बलात्कार का आरोप लगाया है. सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन ने कहा है कि वह अभिनेता को कारण बताओ नोटिस भेजेगा.

अभिनेता आलोक नाथ. (फोटो साभार: फेसबुक)

अभिनेता आलोक नाथ. (फोटो साभार: फेसबुक)

मुंबई: मशहूर धारावाहिक ‘तारा’ की लेखिका विन्ता नंदा ने टेलीविज़न के ‘सबसे संस्कारी व्यक्ति’ के तौर पर पहचान रखने वाले अभिनेता आलोक नाथ पर उससे 19 साल पहले बलात्कार करने का आरोप लगाया है जिसके बाद सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन (सिनटा) ने मंगलवार को कहा कि वह अभिनेता को कारण बताओ नोटिस भेजेगा.

इस बीच अभिनेता आलोकनाथ ने एक बयान जारी कर इस आरोप का खंडन किया है.

लेखक-प्रोड्यूसर नंदा ने सोमवार की रात को फेसबुक पर लिखे एक लंबे पोस्ट में अपने साथ कथित तौर पर यौन शोषण की विस्तार से जानकारी दी है. यह दुनिया भर में चल रहे ‘मीटू’ अभियान की कड़ी में ताज़ा मामला है.

उन्होंने आलोक नाथ का नाम नहीं लिया लेकिन अपने दोषी को ‘सबसे संस्कारी व्यक्ति’ बताया. टेलीविज़न पर पिता, अंकल और दादा की संस्कारी छवि में दिखने के चलते आलोक नाथ को ‘सबसे संस्कारी व्यक्ति’ कहा जाता है.

हालांकि बाद में आलोक नाथ का नाम सार्वजनिक हो गया.

नंदा ने आरोप लगाया कि आलोक नाथ को 1993 में ‘तारा’ के सेट पर मुख्य अभिनेत्री नवनीत निशान से दुर्व्यवहार करने के बाद धारावाहिक से निकाल दिया गया था. इसके बाद उन्होंने एक पार्टी में उनका यौन शोषण किया था.

अभिनेत्री ऋचा चड्ढा टि्वटर पर उन लोगों में से एक रहीं जिन्होंने नंदा के पोस्ट में जिस व्यक्ति का ज़िक्र किया गया है, उसका नाम लिखा.

चड्ढा ने इस पोस्ट के जवाब में लिखा, ‘आलोक नाथ.’

इन आरोपों के संदर्भ में आलोक नाथ ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा, ‘न तो मैं इस बात का खंडन कर रहा हूं और न ही इससे सहमत हूं. यह (बलात्कार) हुआ होगा, लेकिन इसे किसी और ने किया होगा. वैसे मैं इस बारे में ज़्यादा बात नहीं करना चाहता क्योंकि अगर मैंने कुछ और कहा तो बात और बढ़ जाएगी.’

टीवी लेखक और प्रोड्यूसर नंदा से अपनी दोस्ती स्वीकार करते हुए आलोक नाथ ने कहा, ‘एक समय में वह अच्छी दोस्त हुआ करती थीं… आज उन्होंने बहुत बड़ी बात कह दी. एक तरह से अभी वह जो हैं उसे बनाने वाला व्यक्ति मैं ही हूं. आज के समय में इन आरोपों पर प्रतिक्रिया देने बजाए जो भी एक महिला कहती है उसे ज़्यादा तरजीह दी जाती है. ऐसी स्थित में इस पर कुछ भी कहना गलत होगा.’

सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन ने नंदा का समर्थन किया

सीआईएनटीएए के महासचिव सुशांत सिंह ने नंदा के प्रति समर्थन जताया. सुशांत सिंह ने लिखा, ‘प्रिय विन्ता नंदा, मैं बहुत-बहुत माफी चाहता हूं. मेरे सीआईएनटीएए (सिनटा) के अधिकारी होने के तौर पर आलोक नाथ को कारण बताओ नोटिस भेजा जाएगा कि क्यों ना उन्हें निष्कासित किया जाए. दुर्भाग्यपूर्ण रूप से हमें उचित प्रक्रिया का पालन करना होगा. मैं आपसे शिकायत दर्ज कराने का अनुरोध करता हूं, हम आपको पूरा समर्थन देते हें.’

अपने बुरे दौर को याद करते हुए नंदा ने बताया कि आलोक नाथ की पत्नी उनकी अच्छी सहेली थीं. धारावाहिक में दीपक सेठ का किरदार निभाने वाला अभिनेता निशान के पीछे था जिसकी उनमें दिलचस्पी नहीं थी.

उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा, ‘वह शराबी, निर्लज्ज और बहुत बेकार व्यक्ति था लेकिन वह उस दशक का टेलीविज़न स्टार भी था तो न केवल उसे बुरे व्यवहार के लिए माफ कर दिया गया बल्कि कई लोगों ने उन्हें बढ़ावा दिया. वह सेट पर उनको (नवनीत को) परेशान करते और हर कोई चुप रहता. जब उन्होंने हमसे शिकायत की तो हमने उन्हें निकालने का फैसला किया.’

नंदा ने कहा कि उन्हें आलोक नाथ और निशान के बीच आख़िरी दृश्य फिल्माने की ज़रूरत थी और उन्हें धारावाहिक से निकालने की सूचना देने की योजना थी लेकिन जब उन्हें इस बारे में पता चला तो वह उस दिन सेट पर शराब पीकर आए.

नंदा ने कहा, ‘जब तक उन्हें शॉट के लिए बुलाया गया तब तक वह शराब पीते रहे. जब उन्हें शूट के लिए बुलाया गया तो उन्होंने मुख्य महिला कलाकार को छुआ और वो भी बहुत क्रूरतापूर्ण तरीके से. अभिनेत्री (नवनीत) ने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया. हमने उन्हें सेट से जाने के लिए कहा और बताया कि अब से वह इस धारावाहिक का हिस्सा नहीं हैं.’

धारावाहिक की रेटिंग बढ़ती गई लेकिन चैनल का प्रबंधन बदल गया और उसने अहम किरदार निभा रहीं अभिनेत्री को बदलने के लिए कहा.

नंदा ने बताया कि आलोक नाथ के जाने के बाद नव नियुक्त सीईओ ने चैनल के आदेश को मानने के बावजूद ‘तारा’ के साथ उसी चैनल पर चल रहे उनके चार अन्य धारावाहिकों को भी बंद कर दिया.

उन्होंने कहा, ‘एक शाम उनके (आलोक नाथ के) घर पर पार्टी में मेरी ड्रिंक्स में कुछ मिला दिया गया और मुझे अजीब महसूस होने लगा. फिर देर रात दो बजे मैं उनके घर से चली गई. किसी ने मुझे घर छोड़ देने की पेशकश नहीं की जो मेरे लिए और विचित्र था. मुझे लग गया था कि यहां रुकना मेरे लिए सही नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने सुनसान सड़क पर घर की ओर चलना शुरू कर दिया हालांकि वहां से मेरे घर की दूरी अधिक थी. बीच रास्ते में मुझे यह व्यक्ति मिल गया और उसने कहा कि वह मुझे घर छोड़ देगा. मैंने उस पर भरोसा कर लिया और कार में बैठ गई. उसके बाद मुझे होश नहीं रहा. मुझे याद है कि मेरे मुंह में शराब डाली गई और देर तक मेरा यौन शोषण किया गया. जब मैं अगले दिन दोपहर में उठी तो मुझे दर्द हो रहा था. मेरे साथ न केवल बलात्कार किया गया बल्कि मुझे मेरे घर ले जाया गया और मेरे साथ बर्बरता की गई.’

नंदा ने आरोप लगाया कि जब उन्होंने अपने दोस्तों को घटना के बारे में बताया तो उन्हें चुप रहने और इसे भूल जाने की सलाह दी गई. उन्होंने कहा कि आलोक नाथ अपने प्रभाव का इस्तेमाल करता रहा और कई वर्षों तक उनका यौन उत्पीड़न करता रहा जिससे वह ‘मानसिक रूप से टूट गईं.’

उन्होंने कहा, ‘यह सबसे मुश्किल दौर रहा और यही मुख्य वजह है कि क्यों सच बताने में मुझे इतना वक्त लगा. जब मैं इस नई सीरीज़ पर काम कर रही थी तो उसने मुझे एक बार फिर अपने घर आने के लिए कहा और मैंने उसे मेरा उत्पीड़न करने दिया.’

नंदा ने कहा कि उन्हें नौकरी और पैसे की ज़रूरत थी. दूसरी बार शोषण के बाद उन्होंने सब छोड़ दिया.

नंदा ने कहा, ‘मैं उस वक़्त पूरी तरह टूट चुकी थी.’

गौरतलब है कि आलोक नाथ ‘बुनियाद’ धारावाहिक, ‘हम आपके हैं कौन’ फिल्म और ‘हम साथ-साथ हैं’ फिल्म में निभाए गए किरदार के लिए मशहूर है.

आलोक नाथ का नाम लेने में कोई झिझक नहीं थी: विन्ता नंदा

अभिनेता आलोक नाथ पर बलात्कार और उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली लेखका-निर्देशक विन्ता नंदा ने कहा कि उन्हें अभिनेता का नाम लेने में कोई झिझक नहीं थी लेकिन उन्हें यह मालूम नहीं था कि 20 वर्षों तक उन पर गहरा असर डालने वाली यह घटना सोशल मीडिया पर इतना बड़ा मुद्दा बन जाएगी.

नंदा ने कहा कि उन्होंने अभी तक यह निर्णय नहीं लिया है कि उनका अगला क़दम क्या होगा लेकिन उनका पहला कदम ‘अपनी रक्षा’ करना है.

उन्होंने कहा, ‘मैंने 20 साल तक मुझ पर असर डालने वाली बात वर्षों से दबा कर रखी. यह घटना मेरी हर स्थिति के केंद्र में रही. मैंने एक लेखक और एक इंसान के तौर पर अपना विश्वास गंवा दिया. इसने पूरी तरह मुझे बदल दिया.’

उन्होंने कहा, ‘मैं चाहती हूं कि जिसने मेरे साथ ऐसा किया, उसे सज़ा मिले लेकिन मैं अभी कुछ नहीं कह रही क्योंकि मैं नहीं जानती मैं आगे क्या करने जा रही हूं. मैंने कोई योजना नहीं बनाई है.’

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने सीधे तौर पर आलोक नाथ का नाम क्यों नहीं लिया, इस पर नंदा ने कहा कि ऐसा कोई डर नहीं था लेकिन वह विशिष्ट लोगों के समूह को संबोधित कर रही थीं.

नंदा ने कहा, ‘यह मेरा निजी फेसबुक पेज है और मुझे इसके (घटना के) इतना बड़ा मुद्दा बनने की उम्मीद नहीं थी. यह मेरे, मेरे दोस्तों और रिश्तेदारों के बीच था तथा हर कोई जानता है कि कौन ‘संस्कारी’ है. इस पर हज़ारों टिप्पणियां आईं और कई लोगों ने मुझसे पूछा कि वह व्यक्ति कौन है. उसका नाम लेने में कोई झिझक नहीं थी.’

यह पूछा गया कि आलोक नाथ ने एक बयान में कहा कि वह शायद कोई और होगा. इस पर विन्ता ने उलट कर सवाल किया, ‘क्या आपको लगता है कि वह इसे कबूल करेगा?’

नंदा ने कहा कि उन्होंने आलोक नाथ का पर्दाफाश करने का फैसला किया क्योंकि वह इस घटना को अपने तक सीमित रखने के लिए कसूरवार महसूस कर रही थीं. उन्होंने दूसरों से अपनी आवाज़ उठाने के लिए कहा.

उन्होंने कहा, ‘मैंने इससे आगे कुछ नहीं सोचा है. मैं इसे न बताने को लेकर कसूरवार महसूस कर रही थी. यह पहले से सोचा गया या नियोजित नहीं था. मैं देखूंगी कि आगे क्या होता है. कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है. मैं अपनी रक्षा करना चाहती हूं.’

अपनी पोस्ट में नंदा ने ‘सबसे संस्कारी व्यक्ति’ कहलाने वाले आलोक नाथ पर 19 साल पहले एक से ज़्यादा बार उनका बलात्कार करने का आरोप लगाया है.

आलोक नाथ को थप्पड़ मारने की चार साल तक सज़ा भुगती: नवनीत निशान

अभिनेत्री नवनीत निशान. (फोटो साभार: फेसबुक)

अभिनेत्री नवनीत निशान. (फोटो साभार: फेसबुक)

मशहूर धारावाहिक ‘तारा’ की अभिनेत्री नवनीत निशान ने आलोक नाथ के ख़िलाफ़ विन्ता नंदा के आरोपों का समर्थन करते हुए पुष्टि की कि उन्हें अभिनेता के यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा था.

निशान ने कहा कि नंदा जिस ‘भयानक पीड़ा’ से गुज़री उसे देखते हुए वह नंदा के साथ सहानुभूति रखती हैं. आलोक नाथ का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि वह भी इस व्यक्ति की ‘ताकत’ से पीड़ित रही हैं.

उन्होंने कहा, ‘विन्ता जिस भयानक दुख से गुज़री, उसे देखते हुए मैं उससे सहानूभूति रखती हूं. यह अकल्पनीय है. उसकी हरक़त के जवाब में उस व्यक्ति को थप्पड़ मारकर मैंने चार साल तक उत्पीड़न बर्दाश्त किया और लोगों ने इसे भुला दिया.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने धारावाहिक को गंवाकर इसकी कीमत चुकाई और बाद में इस व्यक्ति ने मीडिया के ज़रिये मुझे अपमानित किया तथा मैंने यह सहा. मैंने तब और उसके बाद अपनी लड़ाई लड़ी. मुझे बहुत खुशी है आपकी ताकत और यौन प्रभुत्व ख़त्म हो रहा है. अब बहुत हो गया.’

अभिनेत्री ने कहा कि वह हर उस महिला तथा पुरुष का समर्थन करती हैं जो ‘मी टू’ अभियान में अपने लिए खड़ा हुआ है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments