राजनीति

मेरे भाषण देने से कांग्रेस के वोट कटते हैं, इसलिए प्रचार करने नहीं जाता: दिग्विजय सिंह

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह एक वीडियो में ऐसा कहते नज़र आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि मीडिया इस वीडियो को सही परिप्रेक्ष्य में नहीं दिखा रहा है.

Bhopal: Senior Congress leader Digvijay Singh along with party activists appeal to shopkeepers and public to support Bharat Bandh called by Congress Party in relation to fuel price hike, in Bhopal, Saturday, Sept 8, 2018. (PTI Photo) (PTI9_8_2018_000154B)

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह.(फोटो: पीटीआई)

भोपाल: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का एक विवादास्पद वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह कथित रूप से कह रहे हैं कि मेरे भाषण देने से कांग्रेस के वोट कटते हैं, इसलिए मैं पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने नहीं जाता हूं.

दिग्विजय का यह वीडियो मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव से करीब डेढ़ महीने पहले मीडिया में वायरल हुआ है. इससे पार्टी के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं सहित मध्यप्रदेश की राजनीति में हलचल मच गई है.

यह वीडियो शनिवार का है और इसमें दिग्विजय मध्य प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष एवं विधायक जीतू पटवारी के भोपाल स्थित निवास से बाहर निकलते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अनौपचारिक रूप से बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं.

इस वीडियो में दिग्विजय साफ शब्दों में कार्यकर्ताओं से कह रहे है, ‘देखो, ख्वाब देखते रह जाओगे अगर काम नहीं किया तो. नहीं बनेगी सरकार अगर ऐसे काम किया तो. जिसको टिकट मिले, चाहे दुश्मन को मिले, जिताओ.’

वह इस वीडियो में अपनी वेदना प्रकट करते हुए आगे कह रहे हैं, ‘और मेरा काम केवल एक है- कोई प्रचार नहीं, कोई भाषण नहीं. मेरे भाषण देने से तो कांग्रेस के वोट कटते हैं इसलिए मैं कहीं जाता ही नहीं.’

जब उनसे वायरल हुए वीडियो के बारे में सवाल किया गया तो दिग्विजय ने मंगलवार को बताया, ‘वे (मीडिया) इसे सही परिप्रेक्ष्य में नहीं दिखा रहे हैं. वे इसके पहले हिस्से को नहीं दिखा रहे हैं. यदि आप पहला हिस्सा भी सुनोगे तो आपको लगेगा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं कहा गया है. सही परिप्रेक्ष्य में कहा गया है.’

दिग्विजय के वायरल हुए इस वीडियो पर चुटकी लेते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से कहा, ‘ये दर्द हमने नहीं दिया. यह दर्द कांग्रेस ने ही दिया है मित्रो. उनके (दिग्विजय) पोस्टर नहीं लगा रहे, उनके फोटो नहीं छप रहे, उनको तवज्जो नहीं दे रहे.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने कल्पना भी नहीं की थी कि कांग्रेस एक नेता की ऐसी दुर्दशा करेगी.’ चौहान ने कांग्रेस पर तंज़ कसते हुए कहा, ‘कम से कम कांग्रेस के लोग अपने नेता की इज़्ज़त करें.’

वहीं, मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने इस वीडियो पर मीडिया से कहा, ‘मैं नहीं जानता कि उन्होंने (दिग्विजय) किस संदर्भ में यह बयान दिया.’

दिग्विजय मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की समन्वय समिति के अध्यक्ष हैं. राज्य में अभी मुख्य रूप से कमलनाथ और मध्य प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ही सक्रिय रूप से प्रचार करते नज़र आ रहे हैं.

पिछले महीने 17 सितंबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की भोपाल स्थित भेल दशहरा मैदान में एक सभा हुई थी. इस कार्यक्रम स्थल के बाहर नौ नेताओं के कट आउट लगे थे. इसमें दिग्विजय नहीं थे.

पूर्व मुख्यमंत्री पर बसपा प्रमुख मायावती ने भी हाल ही में भाजपा और संघ का एजेंट होने का आरोप लगाया था. मायावती ने कहा था कि राहुल गांधी एवं पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में बसपा से गठबंधन चाहते थे, लेकिन दिग्विजय जैसे नेताओं के चलते गठबंधन नहीं हो सका.

Comments