भारत

यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद टाटा सन्स द्वारा सुहेल सेठ के साथ क़रार ख़त्म करने की सूचना

लेखक और सलाहकार सुहेल सेठ पर मीटू अभियान के तहत अब तक छह महिलाएं यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी हैं.

सुहेल सेठ. (फोटो साभार: फेसबुक)

सुहेल सेठ. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे लेखक और सलाहकार सुहेल सेठ से टाटा सन्स द्वारा क़रार ख़त्म किए जाने की सूचना है. भारत में चले मीटू मुहिम के तहत पांच महिलाओं ने सुहेल सेठ पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं.

टाटा सन्स ने एक महीने की नोटिस के साथ यह क़रार ख़त्म करने का निर्णय लिया है. इससे पहले कंपनी की ओर से कहा गया था कि वह सुहेल सेठ पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को देख रही हैं.

द इकोनॉमिक टाइम्स को दिए गए जवाब में टाटा समूह के प्रवक्ता की ओर कहा गया था, ‘टाटा समूह कार्यस्थल पर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है. मीडिया में सुहेल सेठ पर लगे आरोपों पर हमने संज्ञान लिया है. हम इस मामले को देख रहे हैं और इस संबंध में किसी कार्रवाई के बारे में आगे जानकारी देंगे.’

टाटा सन्स के प्रवक्ता की ओर से कहा गया है कि ‘काउंसलेज’ के साथ टाटा सन्स का क़रार 30 नवंबर, 2018 को ख़त्म हो जाएगा. सुहेल सेठ की कंपनी का नाम काउंसलेज है. साल 2002 में उन्होंने इस सलाहकार संस्था ‘काउंसलेज इंडिया’ की स्थापना की थी.

सुहेल सेठ टाटा सन्स की पब्लिक रिलेशन टीम के साथ काम करते थे. कहा जाता है कि साल 2016 में अध्यक्ष पद से साइरस मिस्त्री को हटाने के बाद उन्होंने कंपनी की छवि बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

मालूम हो कि सुहेल सेठ पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद टाटा सन्स पहला समूह नहीं है जिसने उनके साथ अपना क़रार ख़त्म किया है. कोका कोला और महिंद्रा समूह के अलावा वर्ल्ड वुमन फाउंडेशन सुहेल सेठ के साथ अपने समझौतों को ख़त्म कर दिया है.

बीते 10 अक्टूबर को 27 वर्षीय फिल्मकार नताश्जा राठौड़ ने सोशल मीडिया पर वॉट्स ऐप मैसेज के स्क्रीनशॉट पोस्ट किए जिसमें उन्होंने घटना का आरोप लगाते हुए इसी हफ्ते सुहेल सेठ को भेजा था. यह घटना पिछले साल गुड़गांव में घटी थी.

इस संदेश में उन्होंने लिखा है, ‘मेरे विरोध करने के बावजूद आपने मुझे जबरदस्ती किस किया था. मैंने आपसे कहा था कि तमीज़ से पेश आइए. नशे की हालत में आपने अपना हाथ मेरे कुर्ते में डाल दिया था.’

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में राठौड़ ने कहा, ‘मैं उनसे (सुहेल सेठ) एक पार्टी मिली थी जब मेरे बॉस ने मुझे उनसे मिलने के लिए कहा था. उन्होंने मुझसे जनपथ आकर उनके साथ आइसक्रीम खाने के लिए कहा था. दो बार तो मैंने मना कर दिया लेकिन वह अपनी बात पर अड़े रहे तो मैं उनकी कार में बैठ गई लेकिन हम जनपथ नहीं गए बल्कि वह मुझे अपने घर ले गए.’

10 अक्टूबर को ही इंडियन एक्सप्रेस में काम कर चुकीं 33 वर्षीय पत्रकार मंदाकिनी गहलोत ने भी सुहेल सेठ पर इसी तरह के आरोप लगाए थे. कई ट्वीट की सीरीज में मंदाकिनी ने सुहेल के महिलाओं के साथ अनुचित रवैये के बारे में बताया है.

ट्विटर पर मंदाकिनी ने लिखा, ‘साल 2011 में गोवा में एक कार्यक्रम के बाद जब मैं सब लोगों को गुड बाय कर रही थी तो मैं उनसे भी मिलकर वापस लौटना चाह रही थी, लेकिन बिना मेरी सहमति के जबरन उन्होंने मेरे होंठो पर किस किया. मैं अवाक रह गई. मैंने उनसे कहा कि सुहेल आप ऐसा नहीं कर सकते.’

मंदाकिनी ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘पता नहीं क्यों मैंने औपचारिक शिकायत दर्ज नहीं कराई. उस समय मैं बहुत छोटी थी. अपना करिअर बनाना चाहती थी और सुहेल उस समय बहुत ताकतवर हैसियत रखते थे.’

इससे पहले बीते 9 अक्टूबर को मुंबई की एक 26 वर्षीय महिला ने भी इसी तरह का अनुभव ट्विटर पर साझा किया. इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उन्होंने कहा कि सुहेल ने साल 2010 में उन्हें आपत्तिजनक मैसेज भेजा था. उस समय वह सिर्फ 17 साल की थीं.

उन्होंने बताया, ‘अपने मैसेज में सुहेल ने लिखा था कि जन्मदिन की पार्टी के लिए मेरे कमरे में आ जाओ. इस संदेश के आख़िर में उन्होंने ‘बिग वाइल्ड किस’ लिखा था. मैं हैरान थी. मैं अपनी मां को यह मैसेज दिखाने के लिए वॉशरूम ले गई. मां ने मुझे सुहेल सेठ को ब्लॉक करने के लिए कहा और मैंने उन्हें ब्लॉक कर दिया.’

मुंबई की 31 वर्षीय एक अन्य महिला ने भी नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वह सुहेल सेठ से पिछले साल एक प्रसिद्ध रेस्टोरेंट में मिली थीं.

उन्होंने बताया, ‘वह मेरे पिता को अच्छी तरह से जानते थे और मैं उनसे एक बार दिल्ली में अपने पिता के साथ मिल चुकी थी. मेरे पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं. रेस्टोरेंट में मिलने के दौरान बातचीत में सुहेल सेक्स और आॅनलाइन डेटिंग की बात करने लगे. फिर उन्होंने अपना हाथ मेरी कमर पर रख दिया. उनकी ये हरकत काफी तकलीफदेह थी.’

महिला के अनुसार, उसके बाद सुहेल सेठ ने अपने मुंबई यात्रा की योजना के बारे में मैसेज किया और मुझे अपने कमरे में आने के लिए बुलाते रहे, लेकिन मैं नहीं गई.

इसके अलावा मॉडल डायेंड्रा सोरेस और लेखिका इरा त्रिवेदी भी सुहैल सेठ के ख़िलाफ़ यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी हैं.

मॉडल डायेंड्रा सोरेस ने सुहेल के ख़िलाफ़ फेसबुक पोस्ट के ज़रिये अपने साथ हुई यौन उत्पीड़न की घटना साझा की थी. उन्होंने बताया था कि घटना कुछ साल पहले की है जब वह दिल्ली के एक ब्राइडल फैशन वीक समारोह के बाद आफ्टर पार्टी में शामिल होने के लिए गई थीं. जहां सुहेल ने उनके साथ बदतमीज़ी की थी.

डायेंड्रा ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘यह सितबंर 2012 की बात है. मैं नई दिल्ली में एंबी वैली इंडिया ब्राइडल फैशन वीक में रैंप वॉक कर रही थी. इस शो के बाद मैं अपने  मॉडल और फैशन डिज़ाइनर दोस्तों के साथ वसंत कुंज स्थित ग्रांड होटल के जीबार गई थी. हमें वीआईपी सेक्शन में थे और मैं एक काउच पर डांस कर रही थी.’

सोरेस के मुताबिक, ‘सुहेल सेठ भी पार्टी में थे. वह मेरे दोस्त नहीं, मैं बस उनसे परिचित थी. पहले उन्होंने अपना हाथ मेरे टॉप में डाला तो मैंने उनका कान पकड़ कर मरोड़ दिया. लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने मुझे पकड़ लिया और जबरन किस किया. मैं बहुत गुस्से में थी जितना ज़ोर से हो सकता था उतनी ज़ोर से मैंने उनकी जीभ काट ली थी.’

बीते 17 अक्टूबर को 44 वर्षीय जैसमिन दिवेकर ने भी जनवरी 2017 में सुहैल सेठ द्वारा जबरन पकड़े जाने का अनुभव साझा किया था.

Comments