राजनीति

जेएनयू में कॉन्डोम की संख्या बताने वाले राजस्थान के भाजपा विधायक का टिकट कटा

राजस्थान के अलवर ज़िले के रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने कहा था कि जेएनयू में 3,000 कॉन्डोम और एबॉर्शन के लिए इस्तेमाल होने वाले 500 इंजेक्शन रोज़ाना मिलते हैं. एक अन्य बयान में उन्होंने कहा था कि गोकशी और गो-तस्करी करने वाले मारे जाएंगे.

भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा. (फोटो साभार: फेसबुक)

भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा. (फोटो साभार: फेसबुक)

जयपुर: भाजपा ने आगामी राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी कर दी है. बीते बुधवार को पार्टी की ओर से 31 उम्मीदवारों की यह सूची सार्वजनिक की गई.

भाजपा ने तीन मंत्रियों के अलावा 15 विधायकों के टिकट काट दिए हैं. इन 15 विधायकों में अलवर ज़िले के रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा का भी नाम शामिल हैं. भाजपा ने रामगढ़ सीट से सुखवंत सिंह को प्रत्याशी बनाया है.

गो-तस्करी और मॉब लिंचिंग के लिए चर्चित रहे अलवर ज़िले के रामगढ़ से विधायक आहूजा अपने विवादास्पद बयानों के लिए जाने जाते हैं.

गो-तस्करी के अलावा नई दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) को लेकर विधायक ज्ञानदेव आहूजा विवादस्पद बयान दे चुके हैं.

गो-तस्करी को लेकर आहूजा ने कहा था, ‘गोकशी और गो-तस्करी करने वाले मारे जाएंगे.’ पिछले साल दिसंबर में उन्होंने ये बयान कथित तौर पर गो-तस्करी को लेकर जमकर पीटे गए एक व्यक्ति को लेकर दिया था. उन्होंने कहा था, ‘मेरा तो सीधा-सीधा कहना है कि अगर गोकशी या गो-तस्करी करोगे तो यूं ही मरोगे.’

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों की दूसरी सूची. (फोटो साभार: @BJP4India)

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों की दूसरी सूची. (फोटो साभार: @BJP4India)

विधायक आहूजा विवादित बयान देने का यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले आहूजा ने कहा था, ‘जेएनयू में 2,000 देसी और विदेशी शराब की बोतलें, 50,000 हड्डियां, 3,000 कॉन्डोम, एबॉर्शन के लिए इस्तेमाल होने वाले 500 इंजेक्शन, सिगरेट के 10,000 से अधिक टुकड़े, बीड़ी के 4,000 से अधिक टुकड़े, 2,000 चिप्स और नमकीन की थैलियां और ड्रग्स पीने के लिए इस्तेमाल होने वाले सिल्वर रंग के 100 कागज़ रोजाना बरामद होते हैं. यहां होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम में युवक और युवतियां नग्न होकर नाचते हैं.’

गौरतलब है कि राजस्थान का अलवर शहर गोरक्षा के नाम पर कथित तौर पर लोगों को पीटे जाने और उन्हें मार डालने को लेकर लगातार चर्चा में रह चुका है. साल 2017 के अप्रैल में गाय ले जा रहे पहलू ख़ान की हत्या कथित गोरक्षकों ने दिल्ली-जयपुर हाईवे पर पीट-पीट कर दी थी.

उसी साल नवंबर में अलवर-भरतपुर सीमा पर कथित गोरक्षकों द्वारा उमर ख़ान की हत्या कर दी गई. पुलिस का कहना था कि उमर मवेशी तस्करी कर रहे थे.

इसके अलावा पिछले साल जुलाई में अलवर ज़िले के रामगढ़ थाना क्षेत्र में गो-तस्करी के संदेह में एक व्यक्ति की कुछ लोगों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी. मृतक की पहचान हरियाणा के कोलगांव निवासी रकबर ख़ान उर्फ अकबर ख़ान (28) के रूप में हुई थी.

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों की दूसरी सूची. (फोटो साभार: @BJP4India)

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों की दूसरी सूची. (फोटो साभार: @BJP4India)

समाचार वेबसाइट एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, साल 2017 में राजस्थान गोवंशीय पशु (वध का प्रतिषेध और अस्थाई प्रवर्जन या निर्यात का विनियमन) अधिनियम के तहत सबसे ज़्यादा मामले अलवर में दर्ज किए गए थे.

इतना ही नहीं मवेशी तस्करी पर रोक लगाने के लिए राजस्थान पुलिस को गोरक्षा चौकियों की स्थापना का निर्देश भी दिया गया है.

ज्ञानदेव आहूजा के अलावा जिन तीन मंत्रियों के टिकट कटे हैं उनमें खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री बाबूलाल वर्मा, देवस्थान विभाग राज्यमंत्री राजकुमार रिणवां, पंचायतीराज राज्य मंत्री धन सिंह रावत शामिल हैं.

भाजपा की ओर से जारी पहली सूची में 131 उम्मीदवारों के नाम शामिल किए गए थे. पहली सूची में दो मंत्रियों सहित 23 विधायकों का टिकट कटा था.

Comments