भारत

योगी के मंत्री बोले, दंगा फैलाने के लिए हुई बुलंदशहर में हिंसा, विहिप-बजरंग दल के लोग ज़िम्मेदार

बुलंदशहर में हुई हिंसा मामले में योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि विहिप और बजरंग दल के लोग वोट बैंक के लिए भावना भड़काने का काम कर रहे हैं.

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर (फोटो: ट्विटर)

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर (फोटो: ट्विटर)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा और इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की मौत मामले में योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल को जिम्मेदार ठहराया है. घटना में स्याना ठाणे के इंस्पेक्टर सुबोध सिंह और एक युवक सुमित की मौत हो गई थी.

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी प्रमुख और कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा कि ये लोग वोट बैंक के लिए भावना भड़काने का काम कर रहे हैं. इन लोगों के वीडियो सबके सामने है.

उन्होंने कहा, ‘घटना में भाजपा के नेता, बजरंग दल और विहिप के लोग पकड़े गए हैं. जिन तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, उसमें से एक भाजपा नेता भी है. मैं मुख्यमंत्री से मिलकर कड़ी कार्रवाई की मांग करूंगा.’

कैबिनेट मंत्री ने घटना को प्रायोजित बताते हुए कहा, ‘बुलंदशहर की घटना पहले से प्रायोजित थी. दंगा कराने के लिए पहले से योजना बनाई गई थी. दंगे के लिए लोगों को भड़काया गया. सड़क जाम क्यों किया गया, यह बड़ा सवाल है.’

ये भी पढ़ें: योगी की समीक्षा बैठक में भीड़ द्वारा हिंसा का ज़िक्र भी नहीं, सारा ध्यान गोकशी पर

हालांकि, इस पूरे मामले में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अभी किसी भी संगठन का नाम लेना जल्दबाजी होगी. मामले की जांच की जा रही है. जांच रिपोर्ट आने तक किसी परिणाम तक पहुंचना सही नहीं है. इस मामले में जो भी दोषी होंगे, उन पर कड़ी कार्रवाई होगी.

गौरतलब है कि बुलंदशहर की स्याना तहसील में लोग गोकशी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. उसी बीच पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प हो गई, जिसमें इंस्पेक्टर सुबोध सिंह और एक युवक सुमित की मौत हो गई. मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है.

मालूम हो कि राजभर योगी सरकार में मंत्री होने के बावज़ूद भी भाजपा और राज्य सरकार पर हमला बोलते रहते हैं. हाल ही में राजभर ने कुंभ मेले पर खर्च होने वाले पैसों को लेकर सवाल खड़ा किया कि प्रदेश में दिव्यांग बच्चों के लिए स्कूल खोलने को पैसे नहीं है, लेकिन कुंभ पर हजारों करोड़ रुपये ख़र्च हो रहे हैं.

शहरों को नाम बदलने को लेकर भी राजभर ने योगी सरकार को नसीहत दे दी थी कि शहरों के नाम बदलने की जगह शिक्षा-स्वस्थ्य पर पैसे ख़र्च होते तो ज़्यादा अच्छा होता.

Comments