भारत

मध्य प्रदेश: ईवीएम हैक कर चुनाव परिणाम प्रभावित करने का दावा करने वाला युवक हिरासत में

मध्य प्रदेश में भिंड से कांग्रेस उम्मीदवार रमेश दुबे की शिकायत पर पुलिस ने अभय जोशी नामक युवक को ग्वालियर रेलवे स्टेशन क्षेत्र से हिरासत में लिया है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

ग्वालियर: पुलिस ने एक ऐसे युवक को हिरासत में लिया जिसने भिंड से कांग्रेस के प्रत्याशी से संपर्क कर ईवीएम को हैक करने का दावा किया था.

नगर पुलिस अधीक्षक केएम गोस्वामी ने बुधवार को बताया कि भिंड से कांग्रेस के उम्मीदवार रमेश दुबे की शिकायत पर पुलिस ने अभय जोशी नामक युवक को ग्वालियर रेलवे स्टेशन क्षेत्र से हिरासत में लिया है.

जोशी अपने को लखनऊ का निवासी बता रहा है. पुलिस युवक से विस्तृत पूछताछ कर रही है.

भिंड विधानसभा सीट पर कांग्रेस के प्रत्याशी रमेश दुबे ने बताया कि दिल्ली से किसी अजय सिंह ने फोन कर उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर अभय जोशी का नंबर देकर कहा कि वह ईवीएम के मामले में मदद कर सकता है.

टाइम्स आॅफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, रमेश दुबे ने बताया कि अजय सिंह ने उन्हें बताया था कि ईवीएम से जुड़े विवादों के बारे में उसे जानकारी है और उसके पास इंजीनियरों की ऐसी टीम है जो ईवीएम को सुरक्षित कर सकती है. जब रमेश ने उनसे कहा कि तो अजय सिंह ने कहा कि उन्हें एक इंजीनियर कॉल करेगा.

इसके कुछ देर बाद ग्वालियर से जोशी का फोन आया और उसने कहा कि वह ईवीएम को हैक करके चुनाव परिणाम उनके पक्ष में करा सकता है और इसके लिए कुछ रकम देनी होगी.

दुबे ने कहा कि उन्होंने युवक की जानकारी पुलिस को दे दी और युवक को ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर बुलाकर स्वयं भी भिंड से ग्वालियर आ गए. उन्होंने बताया कि स्टेशन पर जोशी उनसे मिला और पुलिस को साथ देखते ही वहां से भागने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो सका. पुलिस उसे पड़ाव थाने लेकर आ गई.

दुबे ने टाइम्स आॅफ इंडिया से बातचीत में कहा, ‘अभय जोशी ने बताया था कि ईवीएम के सर्किटों में थोड़ा फेरबदल कर वोट अपने पक्ष में किया जा सकता है. उसने प्रति ईवीएम ढाई लाख रुपये की मांग की थी.’

ग्वालियर के एसपी नवनीत भसीन ने कहा, ‘जोशी से पूछताछ की गई है. हम दिल्ली स्थित उसके घर की छानबीन के लिए एक टीम भेजेगी. यह पैसों के लिए धोखाधड़ी का मामला लगता है.’

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुके हैं और 11 दिसंबर को इसके नतीजे आने है.

(समाचार एजेंसी भाषा इनपुट के साथ) 

Comments