भारत

छत्तीसगढ़ चुनाव: मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दिया इस्तीफ़ा, कांग्रेस को 66 सीटों पर बढ़त

90 सीटों वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 66, भाजपा 17, बसपा तीन और अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस ने चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, मुख्यमंत्री रमन सिंह और अजीत जोगी. (फोटो साभार: फेसबुक)

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, मुख्यमंत्री रमन सिंह और अजीत जोगी. (फोटो साभार: फेसबुक)

रायपुर: 90 सीटों वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 66, भाजपा 17, बसपा तीन और अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस ने चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं.

इस बीच मुख्यमंत्री रमन सिंह ने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. उन्होंने कहा, ‘मैंने छत्तीसगढ़ के राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है.’

छत्तीसगढ़ में 90 सीटों के लिए दो चरणों में 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान हुआ था. जिसमें 76.60 फीसदी मतदान हुआ था.

मतगणना के साथ ही मुख्यमंत्री रमन सिंह, उनके मंत्रिमंडल के 11 सदस्यों, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, कांकेर लोकसभा क्षेत्र के सांसद विक्रम उसेंडी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, विपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस सांसद ताम्रध्वज साहू, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी समेत 1,269 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा. इनमें 133 महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं.

छत्तीसगढ़ में विधानसभा का यह चौथा चुनाव है. इससे पहले तीन चुनावों में भारतीय जनता पार्टी जीत हासिल कर पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है. वहीं कांग्रेस को लगातार हार का सामना करना पड़ा है.

राज्य में भाजपा और कांग्रेस के मध्य ही मुकाबला होता आया है लेकिन इस बार के चुनाव में अजीत जोगी की पार्टी ने बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर मुकाबला को त्रिकोणीय बना दिया. कुछ सीटों पर उनकी पार्टी का दखल होने से मुकाबला रोचक हो गया है.

लगभग डेढ़ महीने के दौरान चुनावी रैलियों में राजनीतिक पार्टियां गांव, गरीब, किसान, रोजगार और भ्रष्टाचार के मुद्दों को लेकर आमने सामने रही.

राज्य में जीत हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती समेत अनेक नेताओं ने राज्य का दौरा किया और मतदाताओं को संबोधित किया.

चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने चार रैलियों, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने 16 रैलियों, योगी आदित्यनाथ ने 24 रैलियों तथा मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राज्य भर में 69 रैलियों को संबोधित किया है. वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य में 19 सभाएं कर अपनी पार्टी के लिए वोट मांगा है.

राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से 29 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए तथा 10 सीटें अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित हैं. राज्य में इन सुरक्षित सीटों पर बड़ी जीत सत्ता तक आसान पहुंच का रास्ता है.

2013 में हुए चुनाव में भाजपा ने 49 सीटों पर जीत के साथ सरकार बनाई थी. वहीं कांग्रेस को 39 सीटों पर, बहुजन समाज पार्टी को एक सीट पर जीत मिली थी. जबकि एक सीट पर स्वतंत्र उम्मीदवार की जीत हुई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Categories: भारत, राजनीति, विशेष

Tagged as: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,