भारत

उर्जित पटेल के इस्तीफ़े पर नीति आयोग उपाध्यक्ष बोले, रिज़र्व बैंक किसी एक व्यक्ति पर निर्भर नहीं

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि उर्जित पटेल ने अच्छा काम किया, लेकिन आरबीआई लंबे समय से दृढ़ पेशेवर संस्थान है इसका कामकाज चलता रहेगा.

निति आयोग उपाध्यक्ष राजीव कुमार (फोटो: पीटीआई)

निति आयोग उपाध्यक्ष राजीव कुमार (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के अचानक इस्तीफा देने के एक दिन बाद नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने मंगलवार को कहा कि केंद्रीय बैंक की संस्थागत क्षमताएं ‘बहुत मजबूत’ हैं और बाजार एवं अर्थव्यवस्था के लिए जो जरूरी होगा, वह आरबीआई करेगा.

कुमार ने कहा कि आरबीआई के गवर्नर के तौर पर पिछले दो साल में पटेल ने बहुत अच्छा काम किया. केंद्रीय बैंक का कामकाज किसी एक व्यक्ति पर निर्भर पर नहीं है.

कुमार ने यहां ‘भारतीय समावेशी वित्त शिखर सम्मेलन’ में अलग से पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘आरबीआई की संस्थागत क्षमताएं बहुत मजबूत हैं और बाजार एवं अर्थव्यवस्था के लिए जो जरूरी होगा, वह करेगा.’

उन्होंने कहा, ‘वास्तव में आरबीआई लंबे समय से दृढ़ खड़ा एक ऐसा पेशेवर संस्थान है कि इसका कामकाज चलता रहेगा.’

उल्लेखनीय है कि सरकार और पटेल के बीच केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता लेकर तनाव था. हालांकि पटेल ने अपने पद छोड़ने का कारण निजी बताया है.

कुमार ने आश्वस्त किया कि कामकाज को सुचारू बनाए रखने के लिए जो जरूरी होगा सरकार वह करेगी. उन्होंने कहा, ‘पटेल ने पिछले दो साल में बेहद अच्छा काम किया है. लेकिन आरबीआई किसी एक व्यक्ति पर निर्भर नहीं है.’

पटेल के इस्तीफे के बाद रुपये के लुढ़कने के संबंध में कुमार ने कहा, ‘सरकार भी इस मुद्दे से वाकिफ है और मुझे विश्वास है कि वह इसका हरसंभव समाधान करेगी.’

शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया मंगलवार को 110 पैसे टूटकर 72.42 के स्तर पर चल रहा था.

कार्यक्रम में प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कुमार ने कहा कि वित्तीय समावेशन से आशय रोजगार, रोजगार निर्माण और वृद्धि से होना चाहिए. उन्होंने पूर्वोत्तर क्षेत्र में बेहतर ऋण सुविधाएं देने पर भी जोर दिया.

उन्होंने कहा कि उनके हिसाब से देश में वित्तीय समावेशन बढ़ाने का सबसे मजबूत तरीका मोबाइल बैंकिंग हो सकता है.

शाम तक हो सकती है नए आरबीआई गवर्नर के नाम की घोषणा: वित्त सचिव

सरकार मंगलवार शाम तक आरबीआई के नए गवर्नर के नाम की घोषणा कर सकती है. वित्त सचिव अजय नारायण झा ने यह जानकारी दी.

उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने निजी कारणों का हवाला देते हुए सोमवार को तत्काल प्रभाव से अपना इस्तीफा दे दिया. वह 1990 के बाद पहले ऐसे आरबीआई गवर्नर हैं जिन्होंने अपना कार्यकाल पूरा होने से पहले इस्तीफा दिया है.

पटेल का इस्तीफा आरबीआई के निदेशक मंडल की अहम बैठक से मात्र चार दिन पहले आया है. गौरतलब है कि पटेल और सरकार के बीच आरबीआई की स्वायत्ता को लेकर पिछले कुछ समय से तनाव बना हुआ था.

माना जा रहा है कि निदेशक मंडल की बैठक को टाला जा सकता है क्योंकि फिलहाल कोई नियमित गवर्नर नहीं है.

पत्रकारों से बातचीत में वित्त सचिव अजय नारायण झा ने कहा कि आरबीआई के संबंध में सरकार की ओर से शाम तक कोई घोषणा की जा सकती है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)