भारत

तीन राज्यों के बाद अब कांग्रेस को झारखंड उपचुनाव में भी मिली जीत, भाजपा गुजरात उपचुनाव जीती

झारखंड के कोलेबीरा विधानसभा सीट पर कांग्रेस के नमन बिक्सल कोंगाडी और गुजरात के जसदण सीट पर भाजपा के कुंवरजी बावलिया उपचुनाव जीते.

राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद अब कांग्रेस को झारखंड उपचुनाव में भी जीत मिली है. वहीं गुजरात में एक सीट पर विधायक पद के लिए हुए उपचुनाव में भाजपा जीती है.

एनडीटीवी के मुताबिक झारखंड के कोलेबीरा विधानसभा सीट पर उपचुनाव कराए गए थे. यहां पर कांग्रेस के नमन बिक्सल कोंगाडी को 40343 वोट मिले. वहीं भाजपा प्रत्याशी बसंत सोरेंग को 30685 वोट मिले. इस तरह इस सीट पर कांग्रेस ने भाजपा को लगभग 10 हज़ार वोटों से मात दी है.

राज्य में झारखंड पार्टी के विधायक एनोस एक्का कोर्ट द्वारा हत्या के मामले में दोषी पाए गए और उन्हें सजा दी गई. इसके चलते कोलेबीरा सीट खाली हुई थी और बीते गुरुवार यानि कि 20 दिसंबर को यहां और गुजरात के जसदण विधानसभा सीट पर मतदान हुआ था.

कोलेबिरा को नक्सल प्रभावित इलाका माना जाता है. यहां पर भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बीते गुरुवार को मतदान कराया गया था, जहां करीब 64 प्रतिशत वोट पड़े थे.

खास बात यह रही कि नक्सल प्रभावित इलाका होने के बावजूद उपचुनाव के दौरान किसी भी प्रकार की हिंसा की खबर नहीं आई थी.

इस सीट पर कुल 5 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे. इसमें से भाजपा के बसंत सोरेंग, झारखंड पार्टी से एनोस एक्का की पत्नी मेनन एक्का और कांग्रेस के नमन बिक्सल कोंगाडी प्रमुख हैं. इनके अलावा सेंगेल पार्टी के अनिल कंदुलना और निर्दलीय बसंत डुंगडुंगभी भी चुनाव मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे थे.

मतगणना के शुरूआत में भाजपा और कांग्रेस के बीच वोटों का अंतर काफी कम था. हालांकि जैसे-जैसे मतों की पेटी खुलती गई वैसे-वैसे दोनों पार्टियों के बीच वोटों का अंतर बढ़ गया और कांग्रेस विजयी हुई.

वहीं गुजरात के जसदण विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा को जीत मिली है. यहां भाजपा के कुंवरजी बावलिया ने 19985 वोटों से जीत हासिल की है.

बीते जुलाई महीने में कुंवरजी बावलिया कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए थे. माना जाता है कि बावलिया का कोली समुदाय में काफी अच्छी पकड़ है. इसी वजह से भाजपा ने उन्हें यहां से टिकट दिया था.

पांच बार के विधायक बावलिया ने कांग्रेस के अवसर नाकिया को हराया है. बता दें कि साल 2017 में हुए चुनाव में कुंवरजी बावलिया कांग्रेस के टिकट से जसदण सीट पर जीत हासिल की थी.

लेकिन बाद में उन्होंने विधानसभा की सदस्यता और कांग्रेस से इस्तीफा दिया और भाजपा में शामिल हो गए. इसी कारण से इस सीट पर उपचुनाव कराया गया. जिस दिन बावलिया ने इस्तीफा दिया था उसी दिन उन्हें भाजपा सरकार में कैबिनेट मंत्री बना दिया गया था.

गुजरात में भाजपा के अब कुल 100 विधायक हो गए हैं. साल 2017 में हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा को 99 सीटें मिली थीं. जसदण विधानसभा सीट से कुल आठ प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे.