भारत

तेलंगाना: दूसरी जाति में शादी से नाराज़ मां-बाप ने बेटी की हत्या कर लाश को जलाया

तेलंगाना के मैनचेरियल ज़िले के निवासी अनुराधा और लक्ष्मण ने शादी की थी लेकिन अनुराधा के परिवार को ये स्वीकार नहीं था.

तेलंगाना का मैनचेरियल जिला (फोटो: गूगल मैप)

तेलंगाना का मैनचेरियल ज़िला (फोटो: गूगल मैप)

हैदराबाद: झूठी शान की खातिर हत्या के एक मामले में 22 वर्षीय एक महिला तेलंगाना के मैनचेरियल जिले में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत मिली. महिला ने दूसरी जाति के एक व्यक्ति से शादी की थी. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी.

अनुराधा और लक्ष्मण एक ही गांव के रहने वाले हैं. दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे, लेकिन अनुराधा के परिवार को ये स्वीकार नहीं था.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला के पति ए. लक्ष्मण ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उसकी पत्नी को उसके माता-पिता शनिवार रात में जबर्दस्ती अपने साथ ले गए.

मैनचेरियल के डीएसपी वेनुगोपाल राव ने बताया, ‘हमारी टीमों ने उसकी तलाश शुरू की और इस दौरान हमें नजदीक के एक गांव में कुछ मानव हड्डियां मिलीं. हम उसे फॉरेंसिक जांच के लिए ले गए. हम इस समय कुछ भी टिप्पणी करने में सक्षम नहीं हैं.’

जांच में शामिल एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि उन्होंने पूछताछ के लिए अनुराधा के माता-पिता और उसके कुछ रिश्तेदारों को हिरासत में ले लिया है.

अनुराधा और लक्ष्मण एक ही गांव के रहने वाले हैं. दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे, लेकिन अनुराधा के परिवार को ये स्वीकार नहीं था कि उनकी बेटी दूसरी जाति के व्यक्ति से शादी करे.

द न्यूज़ मिनट के अनुसार, कलामदुगु गांव के निवासी लक्ष्मण और अनुराधा ने बीते तीन दिसंबर को हैदराबाद में एक आर्य समाज मंदिर में विवाह कर लिया था. अनुराधा एक शिक्षक बनने के लिए प्रशिक्षण ले रही थीं और लक्ष्मण बीटेक छात्र थे. अनुराधा यादव समुदाय की थीं, वहीं लक्ष्मण पद्मशाली समुदाय से हैं.

शादी के बाद दंपति ने 22 दिसंबर को जन्नाराम पुलिस से सुरक्षा मांगी थी, क्योंकि उन्हें एक मामले की सुनवाई के लिए गांव जाना था. इससे पहले मार्च में, अनुराधा के पिता ने अपनी बेटी को परेशान करने के लिए लक्ष्मण के खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज कराया था.

अनुराधा और लक्ष्मण शनिवार को लक्सेटिपेट कोर्ट में मामले की सुनवाई में शामिल होने के लिए गांव गए थे. उस दिन अनुराधा के माता-पिता ने लक्ष्मण के साथ मारपीट की और जबरदस्ती अनुराधा को ले गए.

पुलिस की जांच में पता चला है कि माता-पिता अनुराधा को निर्मल जिले के मल्लापुर गांव के पास एक जगह पर ले गए और उसकी हत्या कर दी. उन्होंने कथित तौर पर शव को जला दिया और सबूत मिटाने के लिए राख को फेंक दिया.

मालूम हो कि सितंबर महीने में नलगोंडा इलाके में एक दलित युवक, प्रणय कुमार की हत्या कर दी गई थी. हत्यारे को कथित तौर पर प्रणय के ससुर मारुति राव ने हत्या करने के लिए पैसे दिए थे क्योंकि उनकी बेटी अमृता ने परिवार की इच्छा के खिलाफ युवक से शादी की थी.

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ) 

Comments