भारत

15 सालों बाद मध्य प्रदेश को मिला एक मुस्लिम मंत्री

मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा आरिफ अकील 15 साल बाद मध्य प्रदेश के पहले मुस्लिम मंत्री चुने गए. अकील उत्तर भोपाल से विधायक हैं.

Arif Aqueel Madhya Pradesh MLA Facebook

आरिफ अकील. (फोटो साभार: www.facebook.com/arif.aqueel.94)

भोपाल: मध्य प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीते 25 दिसंबर को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए 28 मंत्रियों को शामिल किया. अपने मंत्रिपरिषद में उन्होंने आरिफ अकील को भी जगह दी है.

आईएएनएस की ख़बर के मुताबिक, आरिफ अकील उत्तर भोपाल से विधायक हैं और वे पिछले 15 सालों बाद मध्य प्रदेश के पहले मुस्लिम मंत्री बने हैं.

क्षेत्रीय संतुलन को ध्यान में रखते हुए, कमलनाथ ने मालवा निवाड़ क्षेत्र से नौ विधायकों को मंत्रीमंडल में शामिल किया है. वहीं छह मध्य मध्य प्रदेश से, पांच ग्वालियर-चंबल क्षेत्र से और तीन को बुंदेलखंड से मंत्रिमंडल में जगह मिली है.

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भोपाल में राजभवन में नए मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई.

मंत्रियों की टीम में 11 लोग मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी हैं. वहीं नौ लोग कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह की टीम से, सात लोग ज्योतिरादित्य सिंधिया की टीम से और एक व्यक्ति राज्य के पूर्व पार्टी प्रमुख अरुण यादव की कैंप से हैं.

मंत्रिमंडल में केवल दो महिलाएं हैं- महेशावर से विजय लक्ष्मी साधो और डाबरा से इमरती देवी.

कमलनाथ और सिंधिया द्वारा पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया है. नवनिर्वाचित विधानसभा का सत्र 7 जनवरी से शुरू होने वाला है.

मालूम हो कि शिवराज सिंह चौहान की भाजपा सरकार को हराकर कांग्रेस ने 15 साल बाद राज्य की सत्ता में वापसी की है.

मध्य प्रदेश विधानसभा के लिए 28 नवंबर को मतदान हुआ था और 11 दिसंबर को आए चुनाव परिणाम में प्रदेश की कुल 230 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं. वह बसपा के दो, सपा के एक और चार अन्य निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बना रही है. उसे फिलहाल कुल 121 विधायकों का समर्थन हासिल है. वहीं, भाजपा को 109 सीटें मिली हैं.