भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की झारखंड में होने वाली सभा में काले रंग की सभी वस्तुओं पर प्रतिबंध

झारखंड के मेदिनीपुर में आगामी पांच जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक सभा को संबोधित करेंगे. राज्यभर के संविदा शिक्षकों के प्रदर्शन की आशंका के चलते प्रशासन ने उठाया क़दम.

Tokyo: Prime Minister Narendra Modi addresses the Indian diaspora at an event, in Tokyo, Monday, Oct 29, 2018. (PIB Photo via PTI)(PTI10_29_2018_000024)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

मेदिनीनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पांच जनवरी को झारखंड के मेदिनीपुर में होने वाली जनसभा में कोई भी काली वस्तु साथ में लेकर आने पर रोक लगा दी गई है.

पलामू ज़िले के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने बताया कि सुरक्षा क़दमों के तहत प्रधानमंत्री की जनसभा में काले रंग की चीज़ों को साथ लाने पर रोक लगा दी गई है.
उन्होंने कहा कि इसका सख़्ती से पालन किया जाएगा.

महथा ने बताया कि काले कपड़े, रिबन वगैरह लेकर किसी भी व्यक्ति को जनसभा में नहीं आने दिया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि इन दिनों राज्य में पारा टीचर (संविदा शिक्षक) राज्य की रघुबर दास सरकार से नाराज़ होकर अपनी मांगों के सिलसिले में आंदोलन कर रहे हैं और इसीके तहत पुलिस ने एहतियात के तौर पर पांच जनवरी को होने वाली प्रधानमंत्री की सभा के मद्देनज़र यह क़दम उठाया है.

मालूम हो कि पारा टीचर पिछले तीन महीनों से राज्यभर में प्रदर्शन कर रहे हैं. इस दौरान कुछ शिक्षकों की मौत होने की भी सूचना है. ये शिक्षक अपनी सेवा नियमित करने  और सरकारी शिक्षकों के बराबर वेतनमान जैसी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं.

Jharkhand Narendra Modi

सूत्रों के अनुसार, पारा टीचर काले कपड़ों से प्रधानमंत्री का विरोध कर सकते हैं.

यह आम सभा अगले पांच जनवरी को झारखंड के मेदिनीनगर में चिंयाकी हवाईअड्डा के समीप होने वाले है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर कोयल में लंबित सिंचाई परियोजना जिसे मंडल बांध के नाम से जाना जाता है, का फिर से शुभारंभ करेंगे. इसके अलावा सूखाग्रस्त पलामू और गढ़वा ज़िलों के लिए नए जल परियोजना का भी उद्घाटन करेंगे.

रिपोर्ट के अनुसार, सिंचाई परियोजना 1622 करोड़ रुपये की है और जल परियोजना 1136 करोड़ रुपये की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड दौरे के समय करीब एक घंटे का वक्त यहां गुज़ारेंगे.

रिपोर्ट के अनुसार, लातेहार, पलामू, गढ़वा और चतरा के डिप्टी कमिश्नरों को भेजे गए संदेश में पलामू के एसपी ने कहा है, ‘सरकारी कर्मचारी या आम लोग काला पैंट, शर्ट, कोट, स्वेटर, मफलर, टाई, जूते और मोजे न तो पहन कर आएं और न ही काला शॉल, बैग, कैप और काले रंग का कपड़ा सभास्थल साथ न लाएं. इसके अलावा एक वैध आईडी कार्ड होना चाहिए तभी उन्हें सभास्थल में प्रवेश दिया जाएगा.’

मालूम हो कि पलामू पुलिस ने इससे पहले भी एक सभा में काले रंग की सभी वस्तुओं पर प्रतिबंध लगा दिया था. इस कार्यक्रम में रघुबर दास भी मौजूद थे. काली वस्तुओं को साथ ले आने वाले लोगों से ऐसी वस्तुएं लेने के बाद ही उन्हें सभास्थल में जाने की अनुमति दी गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)