मीडिया

द वायर हिंदी को मिला रामनाथ गोयनका पत्रकारिता सम्मान

द वायर हिंदी के वरिष्ठ संवाददाता रहे अमित सिंह को यह पुरस्कार ‘सर्वश्रेष्ठ हिंदी पत्रकारिता- प्रिंट’ श्रेणी में जम्मू कश्मीर पुलिस पर की गई उनकी ग्राउंड रिपोर्ट के लिए दिया गया है. वहीं पत्रकार संध्या रविशंकर को द वायर पर प्रकाशित रेत खनन पर उनकी रिपोर्ट के लिए एनवायरमेंटल रिपोर्टिंग- प्रिंट श्रेणी में अवॉर्ड मिला है.

New Delhi: WhoDoingWhat in New Delhi, on Friday, Jan. 4, 2019. SecondaryInfo. (PTI Photo/Arun Sharma)

गृह मंत्री राजनाथ सिंह से अवॉर्ड लेते अमित सिंह (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट काम करने के लिए दिया जाने वाला ‘रामनाथ गोयनका एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म’ अवॉर्ड द वायर हिंदी के वरिष्ठ संवाददाता रहे अमित सिंह को मिला है. यह पुरस्कार साल 2017 के लिए दिया जा रहा है.

अमित को यह पुरस्कार ‘सर्वश्रेष्ठ हिंदी पत्रकारिता- प्रिंट’ श्रेणी में जम्मू कश्मीर पुलिस पर की गई उनकी ग्राउंड रिपोर्ट ‘क्यों घाटी में पुलिसवाला होना सबसे मुश्किल काम है’ के लिए दिया गया है.

यह रिपोर्ट जम्मू कश्मीर पुलिस और प्रदेश के अशांत माहौल में उनकी चुनौतीपूर्ण भूमिका को लेकर की गयी थी. इस रिपोर्ट में अमित सिंह के सहयोगी के बतौर शोम बसु का भी योगदान है, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के ख्यात फोटो जर्नलिस्ट हैं.

स्वतंत्र पत्रकार संध्या रविशंकर को द वायर पर प्रकाशित रेत खनन पर उनकी रिपोर्ट के लिए एनवायरमेंटल रिपोर्टिंग- प्रिंट श्रेणी में यह अवॉर्ड दिया गया है.

इस साल रामनाथ गोयनका एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म अवॉर्ड 18 श्रेणियों में 29 पत्रकारों को गृहमंत्री राजनाथ सिंह द्वारा दिया गया.

द वायर हिंदी सरकारी व कॉरपोरेट दबावों से मुक्त, जनतांत्रिक मूल्यों को आगे ले जाने और जनता से जुड़े उपेक्षित मुद्दों को मुख्यधारा में लाने के लिए प्रतिबद्ध पत्रकारिता संस्थान है. इसकी शुरुआत फरवरी 2017 में हुई थी.

द वायर नॉटफॉर प्रॉफिट कंपनी- फाउंडेशन फॉर इंडिपेंडेंट जर्नलिज़्म द्वारा संचालित, पूर्ण रूप से पब्लिक फंड पर काम करने वाला संस्थान है, जो किसी तरह का सरकारी और कॉरपोरेट विज्ञापन स्वीकार नहीं करता.

एक मीडिया संस्थान को विभिन्न संसाधनों की जरूरत होती है, जिसके लिए वह विज्ञापनों पर निर्भर होता है, ऐसे में द वायर अपने पाठकों द्वारा दिए जाने वाले आर्थिक सहयोग के आधार पर काम करता है.

द वायर जनता का, जनता के लिए और जनता के ही सहयोग से चलने वाला पत्रकारिता संस्थान है. हम ऐसी ख़बरें और कर सकें, इसके लिए हमारा आर्थिक सहयोग करें.