राजनीति

कर्नाटक सरकार से दो विधायकों ने समर्थन वापस लिया, मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कहा- सरकार स्थिर

निर्दलीय विधायक एच. नागेश और केपीजेपी के विधायक आर. शंकर ने कर्नाटक सरकार से समर्थन वापस लिया. कांग्रेस और भाजपा एक दूसरे पर विधायकों को प्रलोभन देने का आरोप लगा रहे हैं.

Bengaluru: Karnataka Chief Minister HD Kumaraswamy speaks during an interview with PTI, in Bengaluru, Saturday, Jan. 12, 2019. (PTI Photo/Shailendra Bhojak) (Story no. MDS 3) (PTI1_13_2019_000053B)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी. (फोटो: पीटीआई)

बेंगलुरु: कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी नीत कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार से दो विधायकों ने मंगलवार को अपना समर्थन वापस ले लिया. एच नागेश (निर्दलीय) और आर. शंकर (केपीजेपी) ने राज्यपाल वजुभाईवाला को पत्र लिख कर अपने इस फैसले से अवगत कराया है.

अलग-अलग पत्रों में विधायकों ने कहा है कि वे कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार को दिया अपना समर्थन तत्काल प्रभाव से वापस ले रहे हैं. फिलहाल मुंबई के एक होटल में ठहरे हुए इन विधायकों ने राज्यपाल से आवश्यक क़दम उठाने का अनुरोध किया है.

कांग्रेस और भाजपा, दोनों ही पार्टियां एक दूसरे पर विधायकों को प्रलोभन देने का आरोप लगा रही हैं.

कांग्रेस के कुछ विधायकों और कुछ निर्दलीय विधायकों के मुंबई के एक होटल में ठहरे होने की ख़बरों के बीच भाजपा के विधायक अभी हरियाणा में डेरा डाले हुए हैं.

कर्नाटक सरकार से दो विधायकों के समर्थन वापस लेने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कहा है कि उनकी सरकार स्थिर है.

कुमारस्वामी ने कहा, ‘दो विधायकों के सरकार से समर्थन वापस ले लेने से विधानसभा के आंकड़ों पर क्या असर पड़ेगा. मैं पूरी तरह से निश्चिंत हूं. मुझे अपनी ताक़त पता है. पिछले हफ़्ते से मीडिया में जो भी चल रहा है मैं उसका मज़ा ले रहा हूं.’

कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री जी. परमेश्वर ने कहा, ‘भाजपा हमारे विधायकों को पैसे और ताक़त से लालच देकर हमारी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है, लेकिन हमारी सरकार स्थिर है.’

समर्थन वापस लेने वाले एच. नागेश ने कहा, ‘गठबंधन सरकार को मेरा समर्थन अच्छी और स्थिर सरकार देने के लिए था. हालांकि गठबंधन सहयोगियों को लेकर सरकार में कोई तालमेल नहीं है. इसलिए मैंने एक स्थिर सरकार के लिए भाजपा के साथ जाने का निर्णय लिया है.’

समर्थन वापस लेने वाले दूसरे विधायक आर. शंकर ने कहा, ‘आज मकर संक्रांति है. आज के दिन हम सरकार में बदलाव चाहते हैं, इसलिए मैं सरकार से समर्थन वापस ले रहा हूं.’

मालूम हो कि 224 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 104 विधायक, कांग्रेस के 79, जद एस के 37, बसपा, केपीजेपी और निर्दलीय के एक-एक विधायक हैं. अभी तक बसपा के साथ ही केपीजेपी और निर्दलीय विधायक भी गठबंधन सरकार का समर्थन कर रहे थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)