भारत

जम्मू कश्मीर में सभी सरकारी कर्मचारियों का गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होना अनिवार्य

जम्मू कश्मीर सरकार ने आदेश दिया है कि गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल न होना सरकार की अवहेलना मानी जाएगी. हालांकि किस प्रकार की कार्रवाई होगी इसका जिक्र नहीं है.

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (फोटो: पीटीआई)

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (फोटो: पीटीआई)

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर सरकार ने राज्य के अफसरों को आदेश जारी किया है कि उन्हें गणतंत्र दिवस के मौके पर जम्मू यूनिवर्सिटी और शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में होने वाले समारोह में आवश्यक रूप से मौजूद रहना है. ऐसा नहीं हुआ तो उसे ड्यूटी में कोताही और सरकार के आदेश की अवहेलना माना जाएगा.

आदेश में कहा गया है कि 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस बेहद महत्वपूर्ण दिन है और सभी सरकारी अफ़सर और कर्मचारी की ज़िम्मेदारी है कि वे इस कार्यक्रम में शामिल हों.

सरकार के डिप्टी सेक्रेटरी चंद्र प्रकाश की ओर से जारी किए गए आदेश पत्र में लिखा है, ‘राज्य सरकार के प्रशासनिक सचिव, विभाग के मुखिया, प्रबंध निदेशक और सार्वजनिक उमक्रम के कार्यकारी प्रमुख यह सुनिश्चित करें कि उनके अधीन काम करने वाले कर्मचारी भी समारोह में पहुंचें.’

हालांकि पत्र में इस बात का जिक्र नहीं है कि जो भी कर्मचारी समारोह में शामिल नहीं होगा उस पर किस प्रकार की कार्रवाई होगी.

इसके अलावा राज्य परिवहन निगम और पर्यटन विकास निगम के निदेशकों को इन अफसरों और कर्मचारियों को समारोह स्थल तक पहुंचाने के लिए वाहनों का इंतजाम करने का निर्देश दिया गया है.