भारत

बिहार: शादी के 10 साल बाद भी मां नहीं बनी तो महिला को ज़िंदा जलाने की कोशिश

बिहार के भोजपुर ज़िले का मामला. महिला के भाई ने बताया कि सोमवार को पहले तो उसके साथ मारपीट की गई, इसके बाद जब वह बेहोश हो गई तो उसे सोन नदी के किनारे पर एक चिता बनाकर ज़िंदा जलाने का प्रयास किया गया.

Arrah

शादी के 10 साल बाद भी मां नहीं बन पाने के कारण सोमवार को बिहार के भोजपुर जिले (आरा) में एक महिला को ज़िंदा जलाने का प्रयास हुआ. हालांकि समय से सूचना मिलने के कारण पुलिस वहां पहुंच गई और महिला को बचाने में कामयाब रही.

प्रभात खबर की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को पहले तो ससुरालवालों ने महिला से मारपीट की इसके बाद जब वह बेहोश हो गई तो उसे सोन नदी के किनारे पर एक चिता बनाकर ज़िंदा जलाने का प्रयास किया. जलाए जाने से बचाने के बाद पुलिस ने उसे स्थानीय सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करा दिया.

महिला की पहचान संदेश गांव के रवींद्र ठाकुर की पत्नी पुतुल देवी के रूप में की गई है. वहीं उसका मायका बचरी गांव में है. महिला का मायका और ससुराल दोनों भोजपुर जिले के संदेश थाने के तहत आता है.

महिला के भाई गणेश ठाकुर ने बताया कि उन्होंने 10 साल पहले अपनी बहन की शादी रवींद्र ठाकुर के साथ की थी. शादी के 10 साल बाद भी बहन मां नहीं पाई और इसी कारण रवींद्र उसके साथ मारपीट करता था. उसने कहा कि सोमवार को पुतुल के सुसराल वालों ने उसके साथ मारपीट की और बेहोशी की हालत में उसे सोन नदी के पास चिता पर लिटा कर जलाने का प्रयास किया.

पुलिस को इस मामले की सूचना देने वाले सारीपुर गांव निवासी मंजीत तिवारी ने बताया कि वे सोमवार की शाम को सोन नदी के किनारे शौच करने गए थे. वहां उन्होंने देखा कि चिता पर लेटी एक महिला को जलाने के लिए 10-12 लोग जुटे हुए थे. चिता पर लेटी महिला दर्द से कराह रही थी. तिवारी ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी.

पुलिस के आने की जानकारी होते ही महिला के ससुराल पक्ष के लोग वहां से भाग खड़े हुए. वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को चिता से उठाकर अपने कब्जे में लिया. पुलिस महिला के होश में आने का इंतजार कर रही है. इस संबंध में थानाध्यक्ष सुदेह कुमार ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है.