भारत

बिहार में पटरी से उतरी सीमांचल एक्सप्रेस, सात लोगों की मौत

रविवार तड़के चार बजे हुए इस हादसे में कम से कम 29 लोग घायल हो गए हैं. मृतकों के परिजनों के लिए रेल मंत्रालय ने पांच लाख रुपये जबकि बिहार सरकार ने चार लाख रुपये की सहायता राशि की घोषणा की.

सीमांचल एक्सप्रेस हादसे की तस्वीर (फोटो साभार: एएनआई)

सीमांचल एक्सप्रेस हादसे की तस्वीर (फोटो साभार: एएनआई)

नई दिल्ली: बिहार में रविवार को 12487 जोगबनी-आनंद विहार सीमांचल एक्सप्रेस ट्रेन के 11 डिब्बों के पटरी से उतर जाने से कम से कम सात लोगों की मौत हो गयी जबकि 29 अन्य घायल हो गए। रेलवे और पुलिस अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी.

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि दुर्घटना सुबह करीब चार बजे सोनपुर खंड में महनार रोड के समीप सहदेई बुजुर्ग में हुई। उन्होंने बताया कि हादसे में एक जनरल कोच, एसी कोच बी 3, तीन स्लीपर कोच – एस 8, एस 9, एस 10 तथा छह और कोच पटरी से उतर गए।

कुमार ने बताया, ‘‘बचाव अभियान जारी है और मौके पर एक दुर्घटना राहत बचाव ट्रेन भेजी जा रही है। एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर पहुंच चुकी है।’

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दुर्घटना में मारे गये लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये और मामूली रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की है।

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने हादसे पर दुख जताते हुए कहा कि वह घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं. हादसे के बाद से वह अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं. रेल मंत्रालय ने दुर्घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए पांच लाख रुपये की सहायता राशि की घोषणा की.

मंत्रालय ने कहा कि गंभीर रूप से घायलों को एक लाख रुपये जबकि मामूली रूप से चोटिल होने वालों को 50 हजार रुपये की राशि दी जाएगी. इसके साथ ही सभी घायलों के इलाज का खर्च रेलवे उठाएगा.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख जताते हुए प्रशासन को हर जरूरी मदद के लिए निर्देश जारी किए हैं. बिहार सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये की सहायता राशि दिए जाने और घायलों को 50 हजार रुपये दिए जाने का ऐलान किया है.

रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिए हैं जिन पर लोग पूछताछ कर सकते हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)