भारत

महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा की नेता पूजा पांडेय गिरफ़्तार

महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय गांधी जी के पुतले को गोली मारते हुए नज़र आ रही थी. इसके बाद कार्यकर्ताओं ने इस पुतले को जला दिया था.

महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारती हुई हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडे (फोटो: ट्विटर)

महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारती हुई हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडे (फोटो: ट्विटर)

नई दिल्ली: महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय को बुधवार को अलीगढ़ पुलिस ने उसके पति अशोक पांडेय के साथ गिरफ्तार कर लिया.

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के अनुसार, महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर सोशल मीडिया में वायरल हुए एक कथित वीडियो में देखा गया था कि संगठन की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय गांधी जी के पुतले को गोली मारते हुए नज़र आ रही हैं. इसके बाद कार्यकर्ताओं ने इस पुतले को जलाया था. कार्यकर्ताओं ने नाथूराम गोडसे की तस्वीर को माला पहनते हुए मिठाई भी बांटी थी.

मालूम हो कि 30 जनवरी को अलीगढ़ में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर अखिल भारत हिंदू महासभा द्वारा महात्मा गांधी के पुतले पर गोली चलाने का वीडियो सामने आया था.

इस मामले में पूजा, उसके पति और अखिल भारत हिंदू महासभा (एबीएचएम) के प्रवक्ता सहित नौ लोगों के खिलाफ अलीगढ़ के गांधी पार्क थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 153-ए, 295-ए और 147 के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं, पुतला जलाने को लेकर विशेष अधिकार अधिनियम भी लगाया गया है.

वहीं, अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अशोक पांडेय ने उनके द्वारा गांधी की ‘हत्या’ को दोहराने की पुष्टि करते हुए कहा, ‘हमें इसमें कुछ गलत नहीं लगता क्योंकि देश में रावण दहन भी उस घटना को दोहराते हुए किया जाता है. हमने ऐसा अपने दफ्तर के परिसर के अंदर किया है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘वो (गांधी) बंटवारे के लिए भी जिम्मेदार थे… 10 लाख से ज्यादा हिंदू मारे गए थे.’ अशोक पांडेय पूजा शकुन पांडेय के पति हैं. उन्होंने बताया कि वे इस घटना के समय मौजूद थे.

इसके बाद, एबीएचएम के सदस्य ने पूजा के शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि वह संगठन का हिस्सा नहीं थी और उसने हमारे बैनर का दुरुपयोग किया. यह शिकायत एबीएचएम के सदस्य राजीव कुमार ने कराई थी जिसके अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणी हैं.

हालांकि, बाद में अशोक पांडेय ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वे एबीएचएम के सदस्य थे जिसके राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्र प्रकाश कौशिक थे. स्वामी चक्रपाणी द्वारा संचालित एबीएचएम से हमारा कोई लेना देना नहीं है. पुलिस ने गलत तरीके से राजीव की शिकायत पर पूजा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली.

वहीं, इस घटना के बाद कांग्रेस ने कहा था कि केंद्र और राज्य में भाजपा की सरकारें चुपचाप ऐसी गतिविधि का समर्थन कर रही हैं. उन्होंने सोमवार को देशभर में इसके विरोध में प्रदर्शन भी किया था.