भारत

आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिलाने के लिए मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू दिल्ली में धरने पर

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात की तरह उनके राज्य में भी राजधर्म का पालन नहीं किया. हमें वह देने से इनकार कर दिया गया जिस पर हमारा अधिकार है.

New Delhi: Andhra Pradesh Chief Minister N Chandrababu Naidu addressing a press conference in New Delhi on Saturday, July 21, 2018.( PTI Photo/Atul Yadav)(PTI7_21_2018_000063B)

चंद्रबाबू नायडू (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू ने केंद्र सरकार द्वारा राज्य को विशेष दर्जा देने और 2014 में आंध्र प्रदेश के विभाजन से पहले किए गए सभी वादों को पूरा करने की मांग को लेकर सोमवार को दिल्ली में एकदिवसीय अनशन शुरू किया.

तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) प्रमुख नायडू आंध्र प्रदेश भवन में अनशन पर बैठे हैं.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, नायडू ने अनशन शुरू करने से पहले राजघाट पहुंचकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की. विभिन्न विपक्षी दलों के कई नेता नायडू के प्रति एकजुटता दिखा सकते हैं. नायडू मंगलवार को राष्ट्रपति कोविंद को एक ज्ञापन भी सौपेंगे.

आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा नहीं दिए जाने से नाराज नायडू की पार्टी तेदेपा मार्च 2018 में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए से अलग हो गई थी.

नायडू का कहना है कि यह आंध्र प्रदेश के आत्म सम्मान का मामला है और केंद्र सरकार को 2014 में राज्य के विभाजन से पहले किए गए सभी वादों को पूरा करना चाहिए.

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी पर राजधर्म का पालन नहीं करने का आरोप लगाते  हुए नायडू ने कहा, ‘(पूर्व प्रधानमंत्री) अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि गुजरात (2002 के दंगों के दौरान) में राजधर्म का पालन नहीं हुआ. अब, आंध्र प्रदेश के मामले में भी राजधर्म का पालन नहीं हो रहा है. हमें वह देने से इनकार कर दिया गया जिस पर हमारा अधिकार है.

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश के साथ बहुत अन्याय किया है और इससे देश की एकता प्रभावित होगी.

नायडू ने कहा, ‘आज हम केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध जताने आए हैं. कल धरने से एक दिन पहले प्रधानमंत्री ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर का दौरा किया. मैंने पूछना चाहता हूं कि इसकी क्या जरूरत थी.’

नायडू ने रविवार को प्रधानमंत्री मोदी के आंध्र प्रदेश के गुंटूर के दौरे को लेकर निशाना साधते हुए कहा, ‘अगर आप हमारी मांगें पूरी नहीं करेंगे तो हमें पता है उन्हें कैसे पूरा कराया जाना है. यह आंध्र प्रदेश के लोगों के आत्म सम्मान का सवाल है. जब भी हमारे स्वाभिमान पर हमला होगा, हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. मैं इस सरकार को और विशेष रूप से प्रधानमंत्री मोदी को चेतावनी दे रहा हूं कि निजी हमले करना बंद करें.’

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने गुंटूर में अपनी रैली के दौरान नायडू को लोकेश का पिता कहकर संबोधित किया था, जिसका जवाब देते हुए नायडू ने कहा, जब आपने मेरे बेटे का हवाला दिया है तो मैं आपकी पत्नी का जिक्र कर रहा हूं. क्या लोगों को पता है कि नरेंद्र मोदी पत्नी भी हैं. उनका नाम जसोदा बेन हैं.  नायडू ने यह बातें विजयवाड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही थीं.