भारत

देश में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 377 हुई, 12 हज़ार से अधिक प्रभावित: सरकार

राजस्थान में स्वाइन फ्लू के सर्वाधिक 3,508 मामले सामने आए, जिसमें से 127 लोगों की मौत हो गई. इस मामले में गुजरात दूसरे नंबर पर है, जहां इस विषाणु से 1,983 लोग प्रभावित हुए जिनमें से 71 लोगों की मौत हो गई.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्लीः देश में पिछले सप्ताह एच1एन1 विषाणु से 65 लोगों की मौत हो गई. इस तरह स्वाइन फ्लू से इस साल मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 377 हो गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि स्वाइन फ्लू से प्रभावित लोगों की संख्या 12 हजार से अधिक है.

मंत्रालय के आंकड़े के मुताबिक, राजस्थान में स्वाइन फ्लू के सर्वाधिक 3,508 मामले सामने आए, जिसमें से 127 लोगों की मौत हो गई. इस मामले में गुजरात दूसरे नंबर पर है, जहां इस विषाणु से 1,983 लोग प्रभावित हुए जिनमें से 71 लोगों की मौत हो गई.

दिल्ली में स्वाइन फ्लू से प्रभावित लोगों की संख्या 2,278 रही. पंजाब में इस बीमारी के 410 मामले दर्ज किए गए, जिनमें से 31 लोगों की मौत हो गई.

मध्य प्रदेश में 30 लोगों की मौत हो गई और 128 मामले सामने आए. हिमाचल प्रदेश में विषाणु से 27 लोगों की मौत हुई और 224 प्रभावित हुए.

जम्मू एवं कश्मीर में इससे 22 मौत हुई और 293 मामले दर्ज किए गए जबकि महाराष्ट्र में 17 लोगों की मौत हुई और 330 मामले सामने आए. हरियाणा में सात लोगों की मौत हुई जबकि 752 लोग इस विषाणु से प्रभावित हुए. देश के अन्य हिस्सों में शेष मौतें हुई.

आंकड़ों से स्पष्ट है कि इस वर्ष रविवार तक एच1एन1 विषाणु से 1,2191 लोग पॉजीटिव पाए गए. पिछले वर्ष यह संख्या 14,992 थी और 1,103 लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत हुई थी.

स्वाइन फ्लू के बढ़ते खतरे के मद्देनजर स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकारों को मामलों का जल्द पता लगाने के लिए निगरानी बढ़ाने और इन मामलों से निपटने के लिए अस्पतालों में बिस्तरों को आरक्षित रखने के लिए कहा है.