दुनिया

पाकिस्तान का जम्मू कश्मीर में असैन्य कार्रवाई का दावा, कहा- भारतीय वायुसेना के दो विमान गिराए

पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के आधिकारिक बयान में कहा गया कि बुधवार को पाकिस्तानी वायुसेना ने पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र में रहते हुए नियंत्रण रेखा के पार हमला किया जिसका मक़सद अपने हक़ और आत्मरक्षा की क्षमता को दिखाना था.

भारत द्वारा मंगलवार को हवाई हमले में इस्तेमाल किए गए मिराज 2000 लड़ाकू विमान की एक तस्वीर. (फोटो: पीटीआई)

भारत द्वारा मंगलवार को हवाई हमले में इस्तेमाल किया गया मिराज 2000 लड़ाकू विमान. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने बुधवार को जम्मू कश्मीर के पूंछ और नौशेरा सेक्टर में भारतीय हवाईसीमा का उल्लंघन किया और बम गिराए.

पाकिस्तान ने एक बयान में कहा, ‘आज, पाकिस्तानी वायुसेना ने पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र में रहते हुए नियंत्रण रेखा के पार हमला किया.’

कार्यालय ने कहा, ‘पाकिस्तान ने गैर सैन्य ठिकाने को निशाना बनाया और यह ध्यान में रखा कि किसी की जान न जाए और आसपास कोई नुकसान न हो. इसका एकमात्र उद्देश्य हमारे अधिकारों, इच्छा और क्षमताओं को दिखाना था. हमारा मकसद तनाव को बढ़ावा देना नहीं है लेकिन अगर मजबूर किया गया तो हम इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं.’

कार्यालय ने कहा कि यह कार्रवाई एक स्पष्ट चेतावनी है और इसे दिन में किया गया है. पिछले कुछ वर्षों से कोई भी बहानेबाजी और कोई भी दिन चुनकर भारत आक्रमकता दिखाता रहा है.

उसने कहा, ‘यदि भारत सबूत के बिना तथाकथित आतंकी समर्थकों पर हमले कर रहा है तो हमें भी उन तत्वों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करने का अधिकार है जो पाकिस्तान में आतंकी कृत्यों को अंजाम देते हैं और जिन्हें भारत का संरक्षण प्राप्त है. हम उस रास्ते पर नहीं जाना चाहते और उम्मीद करते हैं कि भारत परिपक्व लोकातांत्रिक राष्ट्र की तरह शांति को पनपने और मुद्दों के समाधान का मौका दे.’

बता दें कि मंगलवार को बालाकोट में किए गए हमले को लेकर भारत ने कहा था कि उसने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविर को तबाह कर दिया जबकि पाकिस्तान ने कोई हानि नहीं होने की बात कही थी.

वरिष्ठ भारतीय अधिकारियों ने कहा, ‘भारतीय विमानों ने पाकिस्तानी विमानों को वापस भगा दिया. वापसी के दौरान उन्होंने अपने विमानों से बम गिराए.’

पाकिस्तानी सैन्य बलों के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ़ ग़फ़ूर ने ट्वीट कर कहा, ‘पाकिस्तान ने पाकिस्तानी हवाईक्षेत्र में दो भारतीय विमानों को मार गिराया.’ उनके अनुसार, एक विमान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में गिरा और पायलट को गिरफ्तार कर लिया. वहीं, दूसरा विमान जम्मू कश्मीर में गिरा.’

राजौरी के जिला अधिकारी ऐजाज ने बताया, ‘पाकिस्तानी विमानों ने एलओसी के पास चार स्थानों नादियां, राजौरी जिले के लाम झांगर और केरी और पूंछ में भिंबेर गल्ली के हमीरपुर इलाके में बम गिराए. उनके अनुसार, इस बमबारी में एक नौ साल का बच्चा घायल हो गया.’

इससे पहले बुधवार की सुबह कश्मीर के बडगाम में भारतीय वायुसेना का एक लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. दुर्घटना में पायलट और सहायक पायलट की मौत हो गई.

रक्षा मंत्रालय और भारतीय वायुसेना ने अभी तक पाकिस्तान के हवाई हमले या विमान को मार गिराने के दावे पर कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया है.

बता दें कि पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन किए जाने के बाद मंगलवार से ही भारत और पाकिस्तान की सेनाओं द्वारा सीमा पार गोलीबारी की जा रही है. पाक अधिकृत कश्मीर में चार नागरिकों के मारे जाने की ख़बर है.

जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में भारतीय वायुसेना के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के फौरन बाद बुधवार को श्रीनगर, जम्मू एवं लेह हवाई अड्डों समेत पांच हवाई अड्डों पर व्यावसायिक विमानों की आवाजाही बंद कर दी गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

भारतीय वायुसेना के पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर हमला करने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव को देखते हुए इन पांच हवाई अड्डों को बंद किया गया है.

एअरलाइन अधिकारियों के मुताबिक चंडीगढ़ और अमृतसर के हवाई अड्डों को भी बंद कर दिया गया है. श्रीनगर में एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के एक अधिकारी ने बताया, ‘आपातस्थिति को देखते हुए अस्थायी तौर पर श्रीनगर, जम्मू और लेह एयरपोर्टों पर नागरिक हवाई उड़ानों को निलंबित कर दिया गया है.’

हालांकि अधिकारी ने आपात स्थिति की प्रकृति के बारे में नहीं बताया लेकिन माना जा रहा है कि बुधवार सुबह बडगाम जिले में भारतीय वायुसेना के विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि उन्हें हवाई यातायात नियंत्रकों से निर्देश प्राप्त हुए हैं कि हवाईअड्डों को व्यावसायिक उड़ानों के लिए बंद कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि जम्मू, लेह और श्रीनगर हवाईअड्डों की तरफ जा रहे कुछ विमानों को वापस उन हवाईअड्डों पर भेज दिया गया है जहां से उन्होंने उड़ान भरी थी.

नियंत्रण रेखा के दोनों तरफ से गोलाबारी बढ़ जाने से सुरक्षाबलों और अन्य प्रतिष्ठानों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. यह गोलाबारी पाकिस्तानी सेना की ओर से बुधवार तड़के शुरू की गई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)