राजनीति

बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक के संबंध में जानकारी सार्वजनिक होनी चाहिए: ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बालाकोट में हवाई हमलों के बाद हमें बताया गया कि 300 मौतें हुईं, लेकिन मैंने कई ऐसी ख़बरें पढ़ीं जिनमें कहा गया कि कोई इंसान नहीं मारा गया.

Kolkata: West Bengal chief minister and Trinamool Congress chief Mamata Banerjee addresses the party's extended Core Committee meeting in Kolkata, Monday, Feb 25, 2019. (PTI Photo/Swapan Mahapatra) (PTI2_25_2019_000127B)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. (फोटो: पीटीआई)

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि जवानों का जीवन चुनावी राजनीति से ज़्यादा कीमती है, लेकिन देश को यह जानने का अधिकार है कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना के हवाई हमले के बाद वास्तव में वहां क्या हुआ था.

विदेशी मीडिया की उन रिपोर्टों का हवाला देते हुए जिनमें कहा गया था कि बालाकोट में आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना के हमलों से कोई नुकसान नहीं हुआ है, ममता ने कहा, ‘बलों को तथ्यों के साथ सामने आने का मौका दिया जाना चाहिए.’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार ममता बनर्जी ने कहा, ‘राजनीतिक दबाव की वजह से दो देशों के बीच युद्ध नहीं होना चाहिए.’

ममता ने कोलकाता स्थित राज्य सचिवालय में बीते गुरुवार को संवाददाताओं से कहा, ‘हवाई हमलों के बाद, हमें बताया गया कि 300 मौतें हुईं, 350 मौतें हुईं. लेकिन मैंने न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट में ऐसी ख़बरें पढ़ीं जिनमें कहा गया कि कोई इंसान नहीं मारा गया. एक अन्य विदेशी मीडिया रिपोर्ट में केवल एक व्यक्ति के घायल होने की बात कही गई थी.’

उन्होंने कहा, ‘हमें यह जानने का अधिकार है, इस देश के लोग यह जानना चाहते हैं कि कितने मारे गए (बालाकोट में). वास्तव में बम कहां गिराया गया था? क्या यह लक्ष्य पर गिरा था? ये जानकारी सार्वजनिक की जानी चाहिए.’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार ममता ने कहा, ‘हम वास्तव में हुई घटना की जानकारी चाहते हैं क्योंकि हमें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई है. हम देश से प्यार करते हैं लेकिन हमें ये देखना पसंद नहीं कि लोग जवानों के शव पर राजनीति करें.’

उन्होंने कहा, ‘उरी और पठानकोट हमले के बाद कोई भी कार्रवाई नहीं की गई. सरकार को हमले के संबंध में खुफिया जानकारी भी मिली हुई थी, लेकिन इसे रोकने के लिए कोई क़दम नहीं उठाया गया और जवानों की ज़िंदगियों को ख़तरे में डाला गया.’

इससे पहले सरकारी अधिकारियों ने मंगलवार को दावा किया था कि वायुसेना ने पाकिस्तान के ख़ैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के बड़े प्रशिक्षण शिविरों पर बम गिराकर उन्हें तबाह कर दिया, जिसमें कई आतंकवादी मारे गए थे.

बहरहाल ममता बनर्जी के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा, ‘हमारे देश में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिनके पास करने के लिए कोई काम नहीं है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)