भारत

अगर हमारे पास रफाल विमान होते, तो परिणाम कुछ और होते: प्रधानमंत्री मोदी

नरेंद्र मोदी के आरोपों पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि रफाल विमानों की आपूर्ति में देरी के लिए सिर्फ आप जिम्मेदार हैं. आपकी वजह से विंग कमांडर अभिनंदन जैसे बहादुर पायलटों को पुराने विमान उड़ाकर अपना जीवन जोखिम में डालना पड़ रहा है.

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi speaks during the National Youth Parliament Festival, 2019 Awards function, in New Delhi, Wednesday, Feb 27, 2019. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI2_27_2019_000026B)

नरेंद्र मोदी (फोटोःपीटीआई)

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक के संबंध में शनिवार को कहा कि अगर देश के पास रफाल विमान होता तो परिणाम कुछ और होते.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी ने इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2019 में कहा कि लोगों ने हालिया घटनाक्रमों से भारत की विदेश नीति के प्रभाव देख लिए हैं और भारतीयों के बीच एकता ने देश और देश के बाहर राष्ट्रविरोधी लोगों के मन में भय पैदा कर दिया है.

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज देश एक स्वर में पूछ रहा है कि रफाल क्यो नहीं था. उन्होंने कहा, ‘देश रफाल की कमी को महसूस कर रहा है. पूरा देश आज एक स्वर में कह रहा है, अगर हमारे पास रफाल होता तो नतीजे कुछ अलग होते. रफाल पर स्वार्थ नीति और अब राजनीति के कारण देश को बहुत नुकसान हुआ.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं उनसे (विपक्ष) स्पष्ट तौर पर कहता हूं कि मोदी का विरोध कीजिए, हमारी योजनाओं मे कमियां निकालिए और योजनाओं के नतीजों के आधार पर सरकार की आलोचना कीजिए लेकिन देश के सुरक्षा हितों का विरोध मत कीजिए.’

उन्होंने कहा, ‘आप ध्यान रखिए कि मोदी विरोध की इस जिद में मसूद अज़हर और हाफिज़ सईद जैसे आतंकियों, आतंक के सरपरस्तों को सहारा न मिल जाए. वो और मजबूत ना हो जाएं.’

उन्होंने कहा, ‘आज का भारत नया भारत है और बदला हुआ भारत है. हर जवान का खून अनमोल है. पिछली सरकारों ने लोगों और जवानों के लिए बहुत कम किया. आज का नया भारत निडर है, निर्भीक है और निर्णायक है. भारतीय की एकता ने देश के बाहर और भीतर दोनों जगह देशविरोधियों के मन में डर बैठा दिया है.’

मोदी ने कहा, ‘आज जो ये वातावरण बना है, मैं यही कहूंगा, ये डर अच्छा है. जब दुश्मन में भारत के पराक्रम का डर हो तो ये डर अच्छा है, जब आतंक के आकाओं में सैनिकों के शौर्य का डर हो तो ये डर अच्छा है.’

मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मुझे आश्चर्य होता है कि ऐसे समय में जब पूरा देश हमारी सेना के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है, कुछ लोग सेना पर संदेह कर रहे हैं. एक तरफ, पूरी दुनिया आतंक के खिलाफ लड़ाई में भारत का समर्थन कर रहा है तो दूसरी तरफ कुछ लोग संदेह जता रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘ये वही लोग हैं, जिनके बयान और लेखों का पाकिस्तान की संसद, रेडियो और टीवी चैनलों में भारत के खिलाफ सबूतों के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है. मोदी का विरोध करते-करते उन्होंने अब देश का विरोध करना शुरू कर दिया है, जिससे देश को नुकसान हो रहा है.’

मोदी ने कहा,  ‘वह ऐसे लोगों से पूछना चाहते हैं कि क्या आप सेना पर भरोसा करते हैं या आप हमारी सेना की क्षमता पर संदेह करते हैं? क्या आप हमारी सेना के बयानों पर विश्वास करते हैं या जो लोग हमारी जमीन पर आतंक का समर्थन कर रहे हैं उनका विश्वास कर रहे हैं.’

मोदी के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रिय प्रधानमंत्री क्या आपको थोड़ी सी भी शर्म नहीं आती. रफाल विमानों की आपूर्ति में देरी के लिए सिर्फ आप जिम्मेदार हैं. आपकी वजह से विंग कमांडर अभिनंदन जैसे बहादुर पायलटों को पुराने विमान उड़ाकर अपना जीवन जोखिम में डालना पड़ रहा है.’