राजनीति

अमित शाह ने कहा, बालाकोट में 250 आतंकी मारे गए, कांग्रेस ने पूछा- संख्या किसने बताई

कांग्रेस ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को यह बताना चाहिए कि बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई में मारे गए आतंकवादियों की संख्या उन्हें किसने बताई. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री देश को सच बताएं.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: कांग्रेस ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री एसएस अहलूवालिया की कथित टिप्पणियों तथा वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के बयान को लेकर सोमवार को मोदी सरकार पर हमला बोला और कहा कि शाह को यह बताना चाहिए कि बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई में मारे गए आतंकवादियों की संख्या उन्हें किसने बताई.

पार्टी ने यह भी कहा कि इस मामले में प्रधानमंत्री को देश को सच बताना चाहिए.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘मोदी जी, आपके केंद्रीय मंत्री टीवी चैनल की ख़बरों को यह कहकर झुठला रहे हैं कि बालाकोट हवाई हमले में 300 आतंकवादियों के मारे जाने की पुष्टि प्रधानमंत्री ने कभी नहीं की. क्या यह सच है? अगर नहीं तो प्रधानमंत्री देश को सच बताएं.’

बालाकोट में 250 आतंकियों के मारे जाने से जुड़े शाह के बयान को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, ‘वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ का कहना है कि बालाकोट हवाई हमले में कितने लोग मारे गए, यह संख्या वायुसेना गिन नहीं सकती. लेकिन अमित शाह कहते हैं कि 250 आतंकवादी मारे गए. भाजपा अध्यक्ष को यह संख्या कहां से मिली? उन्हें स्पष्ट करना चाहिए.’

दरअसल, वायुसेना प्रमुख ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा कि मरने वालों की संख्या लक्षित ठिकाने में मौजूद लोगों की संख्या पर निर्भर करती है, वायुसेना मरने वालों की गिनती नहीं करती.

वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि वायुसेना मरने वालों की गिनती नहीं करती और बालाकोट आतंकी शिविर पर हवाई हमले में हताहत लोगों की संख्या की जानकारी केंद्र सरकार देगी.

अमित शाह ने क्या कहा

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, गुजरात के अहमदाबाद में एक कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, ‘उरी हमले के बाद सेना ने एक सर्जिकल स्ट्राइक किया था. पुलवामा हमले के बाद लोगों का कहना था कि लेकिन (पाकिस्तान के) काफी चौकन्ना होने वजह से वहां सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया जा सकता, लेकिन घटना के 13वें दिन नरेंद्र मोदी सरकार ने एयरस्ट्राइक किया और बिना किसी नुकसान के 250 से ज़्यादा आतंकी मारे गए.’

अमित शाह ने कहा, ‘जब विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान पकड़े गए, वे (विपक्ष) फिर शुरू हो गए, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार का प्रभाव ऐसा था कि दुनिया में पहली बार एक युद्धबंदी इतने कम समय में रिहा कर दिया गया. अभिनंदन को 48 घंटे के भीतर रिहा किया गया.’

रिपोर्ट के अनुसार, सूरत में एक अन्य कार्यक्रम के दौरान शाह ने कहा, ‘ममता बनर्जी ने एयर स्ट्राइक करने का सबूत मांगा, राहुल गांधी ने कहा कि मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है, अखिलेश यादव ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए. मुझे कहना पड़ेगा कि आप लोगों को शर्म आनी चाहिए. आप लोगों के बयान से पाकिस्तान को हंसने का मौका मिला है. अगर आप मोदी और सेना का समर्थन नहीं कर सकते तो कम से कम चुप रहना सीख लीजिए.’

अमित शाह के बयान से पहले केंद्रीय मंत्री एसएस अहलूवालिया ने कहा था, ‘घटना के बाद क्या मोदी जी ने ये कहा कि 300 लोगों की मौत हुई. क्या भाजपा के किसी प्रवक्ता ने ऐसा कहा. या अमित शाह ऐसा बोले.’

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, ‘ऐसा इसलिए क्योंकि वहां बड़े स्तर पर तबाही नहीं हुई और हम सिर्फ यह संदेश देना चाहते थे कि हम तबाही मचाने में सक्षम हैं. हम जान-माल का नुकसान नहीं चाहते.’

मालूम हो कि अहलूवालिया के इस बयान से संबंधित एक वीडियो भी वायरल हुआ है, जो बांग्ला भाषा में है. सीपीआईएम और कांग्रेस के नेताओं ने इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

वायुसेना पर पूरा विश्वास है, लेकिन वहां मारे जाने वालों की संख्या किसने बताई: चिदंबरम

उधर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि भारत के एक गौरवान्वित नागरिक के तौर पर उन्हें पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी शिविर पर की गई वायुसेना की करवाई पर पूरा विश्वास है, लेकिन वहां 300-350 लोगों के मारे जाने की यह संख्या किसने बताई है.

उन्होंने यह भी कहा कि पूरी दुनिया वायुसेना के इस अभियान पर यकीन करे, इस बारे में सरकार को प्रयास करने चाहिए.

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, ‘वायुसेना की कार्रवाई के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सबसे पहले वायुसेना को सलाम किया. मोदी जी यह क्यों भूल जाते हैं?’

उन्होंने कहा, ‘वायुसेना प्रमुख ने कार्रवाई में मारे गए लोगों की संख्या के बारे में टिप्पणी करने से इनकार किया. विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया कि कोई आम व्यक्ति और सैनिक हताहत नहीं हुआ. फिर किसने मारे गए लोगों की संख्या 300-350 बताई?’

चिदंबरम ने यह भी कहा, ‘एक गौरवान्वित नागरिक के तौर पर मुझे अपनी सरकार में भरोसा है. लेकिन अगर हम चाहते हैं कि दुनिया इस पर विश्वास करे तो सरकार को विपक्ष पर निशाना साधने के बजाय इस दिशा में प्रयास करने चाहिए.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय मीडिया का कहना है कि बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई में एक भी आतंकी मारा नहीं गया. क्या अंतरराष्ट्रीय मीडिया पाकिस्तान का समर्थक है? जब अंतरराष्ट्रीय मीडिया पाकिस्तान के विरुद्ध बोलता है तो आप गौरवान्वित महसूस करते हैं लेकिन जब वह आपसे सवाल करता है तो क्या वह पाकिस्तान का मददगार हो जाता है?’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)