भारत

नई दिल्ली के सीजीओ कॉम्प्लेक्स में आग से महत्वपूर्ण दस्तावेज़ नष्ट, सब-इंस्पेक्टर की मौत

सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के कार्यालय में लगी आग. आग लगने के कारण राष्ट्रीय कंपनी क़ानून अपीलीय न्यायाधिकरण में होने वाली सुनवाइयां अगली सूचना तक टलीं.

सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के कार्यालय में लगी आग. (फोटो साभार: एएनआई)

सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के कार्यालय में लगी आग. (फोटो साभार: एएनआई)

नई दिल्ली: दक्षिणी दिल्ली स्थित सीजीओ कॉम्प्लेक्स में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के कार्यालय में बुधवार को आग लग गई जिसमें सीआईएसएफ के एक सब-इंस्पेक्टर की मौत हो गई और कई महत्वपूर्ण फाइलें तथा दस्तावेज नष्ट हो गए.

सीजीओ कॉम्प्लेक्स में केंद्र सरकार के प्रमुख कार्यालय स्थित हैं.

अधिकारियों ने बताया कि ज़हरीली गैस के संपर्क में आने से केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के सब-इंस्पेक्टर एमपी गोदारा बेहोश हो गए. उन्हें एम्स ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई.

दिल्ली दमकल सेवा के अधिकारियों ने बताया कि विभाग को सुबह 8:34 बजे कॉम्प्लेक्स स्थित पंडित दीनदयाल अंत्योदय भवन की पांचवीं मंजिल पर आग लगने की सूचना मिली. इसके बाद दमकल की 25 गाड़ियां घटनास्थल पर भेजी गईं.

पंडित दीनदयाल अंत्योदय भवन को पहले पर्यावरण भवन के नाम से जाना जाता था. इस 11 मंज़िला भवन में दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग सहित कई सरकारी कार्यालय भी हैं. भवन में पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय, वन मंत्रालय और भारतीय वायुसेना की एक शाखा भी स्थित है.

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, भवन की बी 1 शाखा का 80 प्रतिशत हिस्सा जल गया और इसमें कई महत्वपूर्ण फाइलें और दस्तावेज़ नष्ट हो गए. मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘इस वक़्त यह नहीं कहा जा सकता कि नुकसान कितना हुआ है लेकिन कई फाइलें और दस्तावेज़ आग में नष्ट हुई होंगी.’

अधिकारी ने कहा, ‘कोई भी आकलन अंदर जाने के बाद ही हो सकता है.’

वायुसेना के पूर्व कर्मचारी गोदारा ने जब पांचवीं मंजिल से धुआं निकलता देखा तो वह उस स्थान को खाली कराने के लिए सीआईएसएफ के अन्य कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचे.

मुख्य अग्निशमन अधिकारी अतुल गर्ग ने बताया कि इमारत में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के कार्यालय से आग लगनी शुरू हुई. आग पर काबू पा लिया गया है.

गर्ग ने कहा, ‘गोदारा शिफ्ट प्रभारी थे. जब वह स्थिति का जायज़ा ले रहे थे तब कार्बन मोनोऑक्साइड के संपर्क में आने से बेहोश हो गए. उन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया.’ उन्होंने बताया कि ऐसा लगता है कि शार्ट सर्किट के चलते आग लगी होगी. हालांकि, जांच के बाद ही वास्तविक कारण का पता चल पाएगा.

सीआईएसएफ प्रवक्ता के मुताबिक, गोदारा राजस्थान के चुरू ज़िले के रहने वाले थे. वह 2008 में सीआईएसएफ में शामिल हुए थे. उनके परिवार में दो बेटे और पत्नी हैं, जो चुरू में रहते हैं.

आग लगने के कारण एनसीएलएटी की सुनवाई अगली सूचना तक टली

राष्ट्रीय कंपनी कानून अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने सीजीओ कॉम्प्लेक्स में स्थित पंडित दीनदयाल अंत्योदय भवन में आग लगने के कारण सुनवाई को अगली सूचना तक के लिये बुधवार को टाल दिया.

एनसीएलएटी पंडित दीनदयाल अंत्योदय भवन में ही तीसरे तल पर स्थित है.

एनसीएलएटी के पोर्टल पर दी गई सूचना में कहा गया, ‘आज सुबह पंडित दीनदयाल अंत्योदय भवन में आग लगने की घटना के कारण एनसीएलएटी की अदालती सुनवाई आदि जैसी कार्यवाहियां अगली सूचना तक निलंबित रहेंगी.’

एनसीएलएटी में ज्योति स्ट्रक्चर्स, डिशनेट वायरलेस, मोनेट इस्पात और लिबर्टी हाउस समेत कुछ अन्य महत्वपूर्ण मामलों की सुनवाई होने वाली थी.

एनसीएलएटी के एक अधिकारी ने संपर्क किये जाने पर कहा कि संभावित नुकसान के आकलन तथा भवन की छानबीन के लिए कुछ समय लगेगा.