भारत

लखनऊ: भगवाधारियों ने की कश्मीरी विक्रेताओं से मारपीट, एक गिरफ़्तार

सोशल मीडिया पर आए एक वीडियो में उत्तर प्रदेश की राजधानी में विश्व हिंदू दल के सदस्य सड़क किनारे बैठने वाले कश्मीरी विक्रेताओं से मारपीट करते दिख रहे हैं. वे यह भी कहते दिखे कि उन्हें कश्मीरी होने के कारण मार रहे हैं.

कश्मीरियों पर हमला करते भगवाधारी लोग (फोटो: फेसबुक)

कश्मीरियों पर हमला करते भगवाधारी लोग (फोटो: फेसबुक)

लखनऊ: पुलवामा आतंकी हमले के बाद देशभर में कश्मीरियों के खिलाफ हो रही हिंसा के मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार और 10 राज्यों को नोटिस जारी करने बाद भी उनके साथ हिंसा की घटनाएं नहीं रुक रही हैं.

ताजा घटना उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित डालीगंज इलाके की है. वहां सड़क किनारे फड़ लगाकर मेवा बेच रहे कश्मीरियों के साथ भगवा पहने कुछ लोगों ने मारपीट की और अपशब्द कहे.

मामला बुधवार शाम का बताया जा रहा है और पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

एनडीटीवी की ख़बर के अनुसार, मारपीट की घटना डालीगंज पुल पर शाम करीब पांच बजे हुई.

इस वीडियो में भगवा पहने यह लोग कश्मीरी विक्रेता को मारते दिख रहे हैं. इस बीच एक राहगीर जब उनसे मारपीट की वजह पूछता है तो वे कहते हैं कि इसलिए मार रहे हैं कि ये कश्मीरी है.

वीडियो के दूसरे हिस्से में भगवाधारी कश्मीरी विक्रेता को पीटते हुए उससे पहचान पत्र दिखाने को कह रहे हैं. इस बीच एक राह चलते व्यक्ति ने बीचबचाव कर विक्रेता को हमलावरों से बचाया और हमला करने वालों से पुलिस बुलाने की बात कही.

भगवा पहने यह लोग विश्व हिंदू दल के बताये जा रहे हैं. पुलिस ने इस संबंध में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. हालांकि विश्व हिंदू दल का अध्यक्ष होने का दावा करने वाले मुख्य आरोपी हिमांशु अवस्थी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

फेसबुक पर एक पोस्ट में हिमांशु ने दावा किया था कि उसने और उसके लोगों हमले को अंजाम दिया था. हालांकि उसके द्वारा फेसबुक पर साझा किए गए हमले का वीडियो हटा लिया गया है.

पुलिस ने बताया है कि दंगे और शांति भंग का मामला दर्ज किया गया है और एक व्यक्ति बजरंग सोनकर को गिरफ्तार किया गया है. एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए बजरंग सोनकर पर पहले से ही 12 मामले दर्ज़ हैं, जिसमें हत्या जैसे अपराध शामिल हैं.

उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) आनंद कुमार ने कहा, ‘यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण और ऐसी हुई एकमात्र घटना है. हम ऐसी घटनाओं पर कानून के तहत कड़ी कार्रवाई करेंगे. कोई भी कानून से ऊपर नहीं है और कोई भी इस तरह निर्दोष नागरिकों पर हमला नहीं कर सकता है. निर्दोष कश्मीरियों पर हमला करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

ज्ञात हो कि 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले के बाद से ही देश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे कश्मीरियों पर हमले की घटनाएं सामने आयी हैं.

इस बीच जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित करते हुए ट्वीट किया, ‘आपने इसके खिलाफ बात की थी, लेकिन ऐसा अब भी हो रहा है. यह आपके द्वारा चुने गए मुख्यमंत्री के राज्य में हो रहा है. क्या हम इस मामले में किसी कार्रवाई की उम्मीद कर सकते हैं या फिर हम मान लें कि आपकी चिंता और आश्वासन बस जुमला थे?’

मालूम हो कश्मीरियों पर हमले के बाद बाद सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और 10 राज्यों को नोटिस जारी करते हुए कहा था कि राज्यों के नोडल अफसर कश्मीरी और अन्य अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा तथा भेदभाव को रोकें.

इसके बाद टोंक में एक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं.