दुनिया

न्यूज़ीलैंडः क्राइस्टचर्च आतंकी हमले में पांच भारतीयों की मौत की पुष्टि

भारतीय उच्चायोग ने बताया कि क्राइस्टचर्च के आतंकी हमले में हमारे 5 नागरिकों की मौत की खबर साझा कर रहे हैं, जिनके नाम- महबूब खोखर, रमीज वोरा, आसिफ ओरा, अंसी अलीबावा और ओजैर कादिर हैं.

क्राइस्टचर्च के लिनवुड मस्जिद के बाहर लोगों द्वारा रखे गए फूल (फोटो: रॉयटर्स)

क्राइस्टचर्च के लिनवुड मस्जिद के बाहर लोगों द्वारा रखे गए फूल (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: न्यूज़ीलैंड स्थित भारतीय उच्चायोग ने क्राइस्टचर्च आतंकी हमले में पांच भारतीयों के मारे जाने की रविवार को पुष्टि की. न्यूज़ीलैंड के क्रिस्टचर्च शहर में दो मस्जिदों में हुए आतंकी हमले में 50 लोगों की मौत हो गई थी.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, भारतीय दूतावास ने पांचों की पहचान महबूब खोखर, रमीज वोरा, आसिफ ओरा, अंसी अलीबावा और ओजैर कादिर के रूप में की है.

इन मृतकों में एक ऐसा पिता भी था जो कि अपनी पांच दिन की बेटी के लिए दुआ मांगने गया था.

भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट किया, ‘बहुत भारी मन से हम क्राइस्टचर्च के भयंकर आतंकी हमले में हमारे 5 नागरिकों के अमूल्य जिंदगी गंवाने की खबर साझा कर रहे हैं जिनके नाम- महबूब खोखर, रमीज वोरा, आसिफ ओरा, अन्सी अलीबावा और ओजैर कादिर हैं.’

ट्वीट में लिखा गया, ‘हमारे हेल्पलाइन नंबर्स 021803899 और 021850033 मृतकों के परिवारों की सहायता के लिए हर समय उपलब्ध रहेंगे. हम भारतीय मूल के लोगों सहित अन्य सभी निर्दोष लोगों की मौत पर गहरा शोक व्यक्त करते हैं.’

भारतीय उच्चायोग ने कहा कि सामुदायिक नेताओं के एक समूह को परिवारों की सहायता के लिए नियुक्त कर दिया गया है. ऑकलैंड आने वाले लोग किसी भी सहायता के लिए 021531212 पर हमसे संपर्क कर सकते हैं.

इसके साथ ही उसने क्राइस्टचर्च मृतकों के परिजनों के लिए वीजा की तत्काल व्यवस्था करने के लिए न्यूज़ीलैंड आव्रजन द्वारा एक खास पेज के गठन की भी जानकारी दी.

हमले में मारे गए लोगों में केरल के त्रिशूर जिले की रहने वाली 23 वर्षीय अंसी भी शामिल थीं. उनके पति पोन्नादाथु अब्दुल नज़र दूसरे मस्जिद में नमाज पढ़ रहे थे.

मृतकों में गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले 65 वर्षीय महबूब खोखर भी शामिल थे. वह पहली बार अपने बेटे से मिलने के लिए क्राइस्टचर्च पहुंचे थे. हमले में गंभीर रूप से घायल होने के बाद शनिवार को उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

इस आतंकी हमले में गुजरात के वडोदरा के रहने वाले एक पिता और उनके बेटे की मौत हो गई है. 58 साल के आसिफ व्होरा और 27 साल के उनके बेटे रमीज व्होरा ने इस आतंकी हमले में अपनी जान गंवा दी.

इस बीच न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने शनिवार को कहा कि क्राइस्टचर्च आतंकी हमले में मारे गए लोगों के शवों को रविवार रात से उनके परिजनों को सौंपा जाने लगेगा.

अर्डर्न ने कहा, ‘मस्जिद हमले को देखते हुए गन कानून में बदलाव किया जाएगा और इस पर सोमवार को कैबिनेट में विस्तृत चर्चा होगी.’

बता दें कि न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में शुक्रवार को हुई गोलीबारी में अब तक 50 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 40 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे. गोलीबारी के समय बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मस्जिद में प्रवेश करने वाले थे, जो इस हमले में बाल-बाल बच गए.

मस्जिदों में यह हमला शुक्रवार दोपहर को उस समय हुआ, जब भीड़ ज़ुमे की नमाज़ के लिए इकट्ठा थी. इस दौरान अज्ञात बंदूकधारियों ने दोनों मस्जिदों में मौजूद लोगों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी. बांग्लादेश क्रिकेट टीम के सदस्य भी मस्जिद में प्रवेश करने ही वाले थे.

यह गोलीबारी मध्य क्राइस्टचर्च स्थित मस्जिद अल नूर और उपनगर लिनवुड में स्थित एक मस्जिद में की गई.

क्राइस्टचर्च आतंकी हमले के आरोपी 28 वर्षीय ऑस्ट्रैलियाई ब्रेंटन टैरंट को शनिवार को अदालत में पेश किया गया उस पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है.