भारत

बेगुसराय से ही चुनाव लड़ेंगे गिरिराज सिंह: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा है कि संगठन गिरिराज सिंह की सभी समस्याओं का समाधान निकालेगा. सीट बदलने पर गिरिराज सिंह ने कहा था कि इससे उनके स्वाभिमान को ठेस पहुंची है.

गिरिराज सिंह (फोटो: पीटीआई)

गिरिराज सिंह (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में सीट बदले जाने के तरीके को लेकर असंतुष्ट केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अब पार्टी की ओर से बेगुसराय सीट से ही चुनाव लड़ेंगे. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने यह जानकारी दी.

भाजपा की ओर से घोषित सूची में गिरिराज सिंह को उनकी वर्तमान सीट नवादा की बजाए बेगुसराय सीट से टिकट दिया गया था. इसके कारण वह असंतुष्ट थे.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘गिरिराज सिंह बिहार के बेगुसराय से लोक सभा चुनाव लड़ेंगे. उनकी सारी बातों को मैंने सुना है और संगठन उनकी सभी समस्याओं का समाधान निकालेगा.’ शाह ने कहा, ‘मैं चुनाव के लिए उन्हें शुभकामनायें देता हूं.’

मंगलवार को गिरिराज सिंह ने कहा था कि प्रदेश नेतृत्व अगर मुझे विश्वास में ले लेता तो मुझे कोई परेशानी नहीं होती, इसने मेरे स्वाभिमान को ठेस पहुंचाई है.

गौरतलब है कि नवादा सीट राजग में सीटों के बंटवारे के तहत लोक जनशक्ति पार्टी के खाते में चली गई है. वहीं बेगूसराय सीट पर गिरिराज सिंह का मुकाबला भाकपा के कन्हैया कुमार और राजद के तनवीर हसन से है .

गिरिराज सिंह नवादा सीट से चुनाव लड़ना चाह रहे थे. 2014 के लोकसभा चुनाव में वह इसी सीट से जीते थे.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सोमवार को इस बात से नाराज़गी जताते हुए कहा था कि वह इस बात से आहत हैं कि भाजपा ने उन्हें उनकी मौजूदा नवादा सीट से चुनाव लड़ने का मौका नहीं दिया.

सिंह ने कहा था, ‘मेरे आत्मसम्मान को ठेस पहुंची है क्योंकि बिहार में किसी भी सांसद की सीट नहीं बदली गई है. यह फैसला मुझसे बात किए बिना लिया गया. भाजपा की राज्य इकाई को मुझे बताना चाहिए कि आखिर ऐसा क्यों किया गया. मुझे बेगुसराय से कोई शिकायत नहीं है लेकिन मैं अपने आत्मसम्मान से समझौता नहीं कर सकता हूं.’

हालांकि उन्होंने कहा था कि उन्हें पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व से कोई समस्या नहीं है.

सिंह ने यह भी बताया था, ‘मैं 1996 और 2014 में बेगुसराय से लड़ना चाहता था लेकिन तब पार्टी नेतृत्व ने कहा कि वहां से भोला सिंह लड़ना चाहते हैं. इसके बाद मुझे नवादा से उतारा गया. उन्होंने कहा कि उन्होंने नवादा के लोगों के लिए बहुत मेहनत से काम किया है.’

सिंह ने दावा किया कि चिराग पासवान और बिहार भाजपा प्रमुख नित्यानंद राय ने उन्हें आश्वासन दिया था कि वे उन्हें उनकी पसंद का सीट देंगे. चिराग पासवान ने मुझसे कहा कि उन्होंने नवादा सीट नहीं लिया बल्कि भाजपा ने उन्हें खुद दिया है. मुझे इससे और दुख हुआ.

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)