भारत

आंध्र प्रदेश में चुनाव संबंधी झड़पों में दो की मौत, ईवीएम में गड़बड़ी की भी सूचना

मारे गए लोग सत्तारूढ़ तेलुगू देशम पार्टी और मुख्य विपक्षी दल वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ता थे. आंध्र प्रदेश के बंटवारे के बाद राज्य में पहली बार लोकसभा की 25 एवं विधानसभा की 175 सीटों के लिए मतदान हुए.

Amaravati: TDP President and Andhra Pradesh Chief Minister N Chandrababu Naidu and his family members show their finger marked with indelible ink after casting vote during the first phase of the general elections, in Amaravati, Thursday, April 11, 2019. (PTI Photo)(PTI4_11_2019_000133B)

अमरावती में गुरुवार को टीडीपी अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ मतदान किया. (फोटो: पीटीआई)

अमरावती: आंध्र प्रदेश के अनंतपुरमु ज़िले में चुनाव संबंधी झड़प में बृहस्पतिवार को सत्तारूढ़ तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और मुख्य विपक्षी दल वाईएसआर कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ता की मौत हो गई.

पुलिस ने कहा कि झड़प दोपहर में ताडीपत्री विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत वीरापुरम गांव में हुई.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, मृतकों की पहचान वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के पुल्ला रेड्डी और तेदेपा के सिद्दा भास्कर रेड्डी के रूप में हुई है.

तेदेपा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ता की मौत की निंदा की और वाईएसआर कांग्रेस पर चुनाव जीतने के लिए हिंसा में लिप्त करने का आरोप लगाया.

नायडू के आरोपों पर पलटवार करते हुए वाईएसआर कांग्रेस ने आरोप लगाया कि स्थानीय तेदेपा सांसद जेसी दिवाकर रेड्डी और उनके विधायक भाई जेसी प्रभाकर रेड्डी ने वीरापुरम में एक मतदान केन्द्र पर गड़बड़ी का प्रयास किया.

वाईएसआर कांग्रेस ने दावा किया कि पुल्ला रेड्डी पर धारदार हथियार से हमला किया गया जिससे उनकी मौत हो गई.

आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा और 175 विधानसभा सीटों पर मतदान बृहस्पतिवार को हो रहा है.

कुरनूल के अहोबिलम क्षेत्र में भी टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़प हुई. कड़पा ज़िले के जम्मालमाडुगु मंडल के एक पोलिंग स्टेशन में टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के बीच झड़प में वाईएसआर कांग्रेस के एक कार्यकर्ता के घायल होने की सूचना है.

गुंटूर ज़िले के गुरजाला विधानसभा क्षेत्र के श्रीनिवासपुरम गांव के एक पोलिंग स्टेशन पर भी टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़प हुई. गुंटूर ज़िले के सत्तेनपल्ली के एक पोलिंग बूथ पर टीडीपी नेता कोडेला शिव प्रसाद राव पर हमला होने की सूचना है.

लोकसभा के साथ विधानसभा के लिए हुए मतदान, ईवीएम ने कई जगह दिया धोखा

आंध्र प्रदेश के बंटवारे के बाद राज्य में गुरुवार को पहली बार लोकसभा की 25 एवं विधानसभा की 175 सीटों पर चुनाव सुबह सात बजे शुरू हो गया.

अधिकारी ने बताया कि कई स्थानों पर ईवीएम में तकनीकी ख़राबी के चलते मतदान प्रक्रिया में कुछ देरी भी हुई.

मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू और उनका परिवार राज्य की राजधानी अमरावती के उडावल्ली गांव स्थित मतदान केंद्र में वोट डालने पहुंचा.

उनके बेटे नारा लोकेश मंगलगिरि विधानसभा क्षेत्र से तेदेपा के उम्मीदवार हैं जो उडावल्ली के अंतर्गत आता है.

वाईएसआर कांग्रेस अध्यक्ष वाईएस. जगमोहन रेड्डी ने भी कड़पा ज़िले के अपने पैतृक गांव पुलिवेन्दुला में वोट डाला, जहां से वह दोबारा मैदान में हैं.

राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी गोपाल कृष्ण द्विवेदी ने तदेपल्ली में अपना वोट डालने के बाद बताया कि करीब 50 स्थानों पर ईवीएम में तकनीकी ख़राबी की शिकायत मिली.

उन्होंने बताया कि तकनीकी टीम ने मौके पर पहुंच समस्या का समाधान कर मतदान शुरू कराया.

राज्य में कुल 3,93,45,717 मतदाता हैं, जिनमें 1,94,62,339 पुरुष, 1,98,79,421 महिलाएं और 3,957 ट्रांसजेंडर शामिल हैं.

इनमें से 18-19 वायु वर्ग के 10.5 लाख मतदाता पहली बार मतदाता बन रहे हैं.

राज्य में लोकसभा की 25 सीटों के लिए 319 उम्मीदवार और विधानसभा की 175 सीटों के लिए 2,118 उम्मीदवार मैदान में हैं.

राज्य में कुल 46,120 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें 8,514 की पहचान संवेदनशील और 520 की वाम चरमपंथ प्रभावित इलाके के तौर पर की गई है.

वामपंथी चरमपंथी इलाकों में मतदान शाम पांच बजे तक ही चलेगा. ये इलाके अधिकतर ओडिशा और छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)