भारत

छत्तीसगढ़: अवैध खनन पर कार्रवाई के लिए पहुंची टीम को जेसीबी से कुचलने का प्रयास

रायगढ़ ज़िले के सारंगढ़ टिमरलगा क्षेत्र का मामला. अवैध खनन की सूचना पर सहायक कलेक्टर अपनी टीम के साथ पहुंचे थे, जहां खनन माफिया ने उन्हें जान से मारने की धमकी देते हुए उनकी कार को जेसीबी कुचलने की कोशिश की. मामला दर्ज.

प्रतीकात्मक फोटो पीटीआई

प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई

रायपुर: छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में खनन माफिया ने एक सहायक कलेक्टर की कार को जेसीबी से कुचलकर कथित तौर पर हत्या करने की कोशिश की. पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी.

अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने बताया कि यह घटना सारंगढ़ के टिमरलगा खनन क्षेत्र में शुक्रवार देर रात हुई.

उन्होंने बताया कि अवैध तरीके से पत्थर उत्खनन और डोलोमाइट खनन के बारे में सूचना मिलने पर सहायक कलेक्टर के रूप में रायगढ़ में तैनात प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी मयंक चतुर्वेदी, उप-निदेशक (खनन) एसएस नाग और एक खनन इंस्पेक्टर सारंगढ़ इलाके के लिए रवाना हुए.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि टिमरलगा में जारी अवैध खनन देखने के बाद वे जांच के लिए रुक गए. तभी इलाके में खनन करवा रहा अमृत पटेल वहां पहुंच गया और कथित तौर पर अधिकारियों को कोई भी कार्रवाई करने से रोकने की कोशिश की.

उन्होंने बताया कि पटेल ने अपने सहयोगियों को बुलाया और जब अधिकारी वहां से जाने वाले थे कि तभी पटेल के निर्देश पर एक जेसीबी मशीन के चालक ने चतुर्वेदी की कार को कुचलने का प्रयास किया.

दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार पूरी कार्रवाई के दौरान शासकीय अधिकारियों को जान से मारने की धमकी देने के साथ बदतमीज़ी भी की गई. चंद्रपुर पुलिस के पहुंचने पर आरोपी मौके से भागा और टीम ने उत्खनन में लगी गाड़ियों और माल को जब्त कर लिया.

घटनास्थल से दस ट्रक, दो जेसीबी मशीन, चार मोटरसाइकिल, 300 टन चूना पत्थर और विस्फोटक सामग्री बरामद की गई.

वर्मा ने बताया कि घटना में अधिकारी बाल-बाल बच गए लेकिन पटेल ने इसके बाद कथित तौर पर उन पर हमला कर दिया, जिसमें चतुर्वेदी को मामूली चोट आई. इसके बाद पटेल और उसके सहयोगी वहां से भाग निकले.

उन्होंने यह भी बताया कि भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत पटेल और अन्य के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया है और उसे गिरफ्तार करने की कोशिश जारी है.

पत्रिका के मुताबिक सारंगढ़ के टिमरलगा इलाके में प्रशासनिक अधिकारियों पर जानलेवा हमला करने वाले अमृत पटेल पर चोरी की बिजली से अवैध खदान चलाने का आरोप है. विद्युत विभाग ने सारंगढ़ में पटेल के खिलाफ बिजली चोरी करने का मामला दर्ज कराया है.

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आरोपी द्वारा अवैध कनेक्शन से विद्युत विभाग को 4,97,450 लाख रुपये की राजस्व नुकसान हुआ है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 135 के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)