कैंपस

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीसीबी छात्रावास में छात्र की गोली मारकर हत्या

पिछले साल नवंबर में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीसीबी छात्रावास में ही पूर्व छात्रनेता अच्युतानंद शुक्ला की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. रविवार देर रात मारा गया छात्र अच्युतानंद शुक्ला का क़रीबी बताया जा रहा है.

रोहित शुक्ला. (फोटो साभार: फेसबुक)

रोहित शुक्ला. (फोटो साभार: फेसबुक)

इलाहाबाद: इलाहाबाद विश्वविद्यालय के एक छात्रावास में रविवार देर रात रोहित शुक्ला नाम के एक छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई.

पुलिस अधीक्षक (नगर) बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि पीसीबी छात्रावास में रविवार देर रात करीब ढाई बजे रोहित शुक्ला (21) नाम के एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई.
डायल 100 से सूचना मिली की आदर्श त्रिपाठी नाम के व्यक्ति ने रोहित पर गोली चलाई.

उन्होंने बताया कि रोहित शुक्ला के सिर के पीछे गोली मारी गई जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई.

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आरोपी की तलाश की जा रही है.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, रोहित इलाहाबाद के यमुनापार स्थित बारा थानाक्षेत्र के रहने वाले थे और विश्वविद्यालय में विधि के छात्र थे. उन्हें पूर्व छात्रनेता अच्युतानंद शुक्ला का करीबी बताया जा रहा है.

रिपोर्ट के अनुसार, रोहित शुक्ला हत्या मामले में आदर्श त्रिपाठी, अभिषेक यादव और कुछ अन्य आरोपी हैं. हत्या का कारण अभी साफ नहीं, लेकिन ये वर्चस्व की लड़ाई बताई जा रही है.

टाइम्स ऑफ इंडिया ने पुलिस के हवाले से बताया है कि रविवार रात रोहित किसी से मिलने हुए गए थे. इसी दौरान उनकी आदर्श त्रिपाठी से कहासुनी हो गई, जिसके बाद आदर्श ने रोहित को गोली मार दी. मामले में केस दर्ज कर लिया गया है. आदर्श त्रिपाठी की खोज की जा रही है.

हालांकि टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में चीफ प्रॉक्टर आरएस दुबे ने बताया, ‘रोहित शुक्ला न तो हॉस्टल का रहने वाला था और न ही इलाहाबाद विश्वविद्यालय का छात्र है. मैंने एसएसपी इलाहाबाद को इस संबंध में एक पत्र लिखकर सूचना दी थी कि विश्वविद्यालय के हॉस्टल अपराधियों के लिए स्वर्ग बनते जा रहे हैं. पुलिस को उन्हें बाहर निकालना चाहिए.’

एसएसपी इलाहाबाद अमित मिश्रा ने बताया, ‘मामले की जांच के लिए एक टीम बना दी गई है, जो आरोपी आदर्श त्रिपाठी की खोज में लगी है. उसे जल्द ही पकड़ लिया जाएगा.’

मालूम हो कि पिछले साल नवंबर में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र नेता अच्युतानंद शुक्ला उर्फ सुमित की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. यह हत्या भी पीसीबी छात्रावास में हुई थी.

छात्रावास में जन्मदिन की पार्टी के दौरान अच्युतानंद शुक्ला को गोली मारी गई. 30 वर्षीय अच्युतानंद शुक्ला विभिन्न मामलों में वांछित था और उस पर 25,000 रुपये का ईनाम घोषित था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)