राजनीति

भाजपा ने रवि किशन को गोरखपुर से, प्रवीण निषाद को संत कबीर नगर से प्रत्याशी बनाया

संत कबीर नगर से सांसद शरद त्रिपाठी को भाजपा ने टिकट नहीं दिया है. त्रिपाठी पिछले महीने संत कबीर नगर में एक बैठक के दौरान ज़िले की मेंहदावल सीट से भाजपा विधायक राकेश बघेल को जूते से पीटने के बाद चर्चा में आए थे.

अभिनेता रवि किशन और गोरखपुर से सांसद प्रवीण निषाद. (फोटो साभार: फेसबुक)

अभिनेता रवि किशन और गोरखपुर से सांसद प्रवीण निषाद. (फोटो साभार: फेसबुक)

लखनऊ/नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सात और सीटों के लिए सोमवार को अपने प्रत्याशी घोषित किए. इनमें भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रवि किशन का नाम भी शामिल है, जिन्हें गोरखपुर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है.

योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने से पहले इसी सीट से लगातार सांसद चुने जाते रहे हैं.

भाजपा ने संत कबीर नगर से मौजूदा सांसद शरद त्रिपाठी का टिकट काटकर गोरखपुर के मौजूदा सांसद प्रवीण को दिया है.

त्रिपाठी पिछले महीने संत कबीर नगर में जिला योजना की एक बैठक के दौरान ज़िले की मेंहदावल सीट से भाजपा विधायक राकेश बघेल को जूते से पीटने के बाद चर्चा में आए थे.

प्रवीण निषाद संजय निषाद के बेटे हैं जो निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद) के अध्यक्ष हैं. निषाद पार्टी के संस्थापक हैं. यह पार्टी अब उत्तर प्रदेश में भाजपा के साथ गठबंधन में है. इन नामों के साथ पार्टी ने अब तक लोकसभा की 420 सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं.

निषाद ने सपा उम्मीदवार के तौर पर पिछले साल हुए उपचुनाव में गोरखपुर सीट जीती थी. सपा और बसपा के बीच हुए गठबंधन के तहत उन्हें बसपा से समर्थन मिला था.

भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद गोरखपुर सीट ख़ाली हो गई थी.

पिछले साल इस सीट पर हुए उपचुनाव में बसपा के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ी सपा ने जीत हासिल की थी.

उस उपचुनाव में सपा के टिकट पर सांसद चुने गये प्रवीण निषाद को भाजपा ने संत कबीर नगर से उम्मीदवार बनाया है. निषाद ने हाल ही में सपा—बसपा का साथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था.

कुछ दिन पहले एक समाचार चैनल के एक स्टिंग ऑपरेशन में गोरखपुर के सांसद प्रवीण निषाद ने खुफिया कैमरे पर 2018 में हुए उपचुनाव में काला धन ख़र्च करने की बात करते नज़र आए थे. समाचार चैनल ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में दावा किया था कि गोरखपुर चुनाव में होने वाले ख़र्च के बारे में पूछने पर प्रवीण निषाद ने बताया था कि लगभग 5-6 करोड़ रुपये ख़र्च होते हैं.

हालांकि भाजपा ने संत कबीर नगर से सांसद शरद त्रिपाठी के पिता रमापति राम त्रिपाठी को देवरिया से उम्मीदवार बनाया है. रमापति वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष थे.

वर्ष 2014 में देवरिया सीट से भाजपा के कलराज मिश्र चुनाव जीते थे.

भाजपा ने प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी को आम्बेडकर नगर सीट से मैदान में उतारा है. पार्टी ने प्रतापगढ़ से संगम लाल गुप्ता को टिकट दिया है. वर्ष 2014 में यह सीट भाजपा के सहयोगी ‘अपना दल’ ने जीती थी. भाजपा ने जौनपुर से केपी सिंह को उम्मीदवार बनाया है. वहीं भदोही से रमेश बिंद को प्रत्याशी बनाया गया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)