राजनीति

अमेठी-रायबरेली के प्रत्याशी की ज़मानत पर चर्चा नहीं, भोपाल की प्रत्याशी पर तूफान आ गया: मोदी

मालेगांव बम धमाके की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल से टिकट देने का बचाव करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया में पांच हज़ार साल तक जिस महान संस्कृति और परंपरा ने वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया, ऐसी संस्कृति को आपने बिना सबूत आतंकवादी कह दिया.

Forbesganj: Prime Minister Narendra Modi addresses an election rally at Araria lok sabha constituency, in Forbesganj, Saturday, April 20, 2019. (PTI Photo) (PTI4_20_2019_000038B)

नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल लोकसभा सीट से मालेगांव बम धमाके की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट दिए जाने के भाजपा के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि प्रज्ञा सिंह को भोपाल से टिकट देना हिंदू संस्कृति को आतंकवादी कहने वालों को जवाब देना है और यह जवाब कांग्रेस को महंगा पड़ने वाला है.

टाइम्स नाउ को दिए साक्षात्कार में यह पूछे जाने पर कि आतंकवाद की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल से टिकट दिया जाना कितना सही है?

इस सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘जब 1984 में श्रीमती इंदिरा गांधी की हत्या की गई, उसके बाद कहा गया था कि एक बड़ा पेड़ गिरता है तो जमीन हिलती है और उसके बाद देश में हजारों सरदारों का कत्लेआम हुआ. यह आतंक नहीं था क्या? यह एक निश्चित लोगों का आतंक नहीं था क्या? उसके बाद भी उनको प्रधानमंत्री बना दिया गया. और इस संबंध में इस देश की न्यूट्रल (निष्पक्ष) मीडिया ने एक सवाल भी कभी नहीं पूछा, जो आज पूछ रहा है.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘जिन लोगों पर सिख दंगों के आरोप लगे, उन्हें सांसद बना दिया गया, केंद्र में मंत्री बनाया गया और उनमें से एक को अभी मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया गया, जिन लोगों को अदालत ने सज़ा दी है उनसे गले मिला जा रहा है, उनसे जेल में जाकर मिला जा रहा है. अगर जेल से अस्पताल आए तो उनको मिलने के लिए जा रहे हैं. उनको उसूलों की बातें करने का हक़ है क्या?’

उन्होंने कहा, ‘अमेठी का उम्मीदवार ज़मानत पर हो तो चर्चा नहीं, रायबरेली का उम्मीदवार ज़मानत पर हो तो इस पर भी कोई चर्चा नहीं लेकिन भोपाल की उम्मीदवार ज़मानत पर है तो इन लोगों ने तूफान खड़ा कर दिया. ये कैसे चलेगा?’

मालूम हो कि नेशनल हेराल्ड मामले में अमेठी से उम्मीदवार राहुल गांधी और रायबरेली की उम्मीदवार सोनिया गांधी ज़मानत पर हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘एक महिला को, वो भी एक साध्वी को, इस प्रकार से प्रताड़ित किया गया. मैं गुजरात में रहकर आया हूं, मैं कांग्रेस की मोडस ऑपरेंडी (काम करने का तरीका) को भलीभांति समझ गया हूं. वो क्या करते हैं, जैसे एक फिल्म की स्क्रिप्ट लिखते हैं, वैसे पहले बैठकर कागज पर स्क्रिप्ट लिखते हैं. एक छोटा सा कहीं ढूंढकर लाएंगे, उसको ऐसे फैलाएंगे, रंग भरेंगे, फिर एक विलेन को ले आएंगे, उसके अंदर हीरो-हीरोइन लाएंगे और फिर स्टोरी बना देंगे.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारे यहां जितने भी एनकाउंटर हुए उन सबको ऐसे ही चलाया गया. हर घटना को ऐसा ही खींचते थे. मैंने देखा जस्टिस लोया की प्राकृतिक कारणों से मौत हुई, उसे मोडर ऑपरेंडी से ऐसा केस बना दिया, जैसे उनकी हत्या हो गई.’

उन्होंने कहा, ‘इन दिनों ईवीएम को लेकर लंदन में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले लोग, उसी मोडस ऑपरेंडी के साथ किया. अभी झूठा वीडियो बनाकर डिमोनेटाइजेशन को लेकर ड्रामा किया. चार दिन पहले भी ऐसा ही एक ड्रामा किया था. तो ये इनकी मोडस ऑपरेंडी है और समझौता एक्सप्रेस का जजमेंट आ गया. क्या निकला?’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘आपने बिना सबूत दुनिया में पांच हज़ार साल तक जिस महान संस्कृति और परंपरा (हिंदू) ने वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया, सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वे सन्तु निरामया: का संदेश दिया, जिस संस्कृति ने एकम सदविप्र: बहुधा वदन्ति का संदेश दिया, ऐसी संस्कृति का आपने आतंकवादी कह दिया. उन सबको जवाब देने के लिए, ये एक प्रतीक (प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट) है और यह कांग्रेस को महंगा पड़ने वाला है.’

गौरतलब है कि भाजपा ने इस सप्ताह की शुरुआत में ही भोपाल सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ़ प्रज्ञा ठाकुर को टिकट दिया गया था.

वह 2008 के मालेगांव बम विस्फोट मामले में गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम के तहत और भारतीय दंड संहिता की अन्य धाराओं के तहत आरोपों का सामना कर रही हैं. वह फिलहाल ज़मानत पर बाहर हैं. मामले में छह लोगों की मौत हो गई थी और 101 लोग घायल हुए थे.