राजनीति

बाबरी मस्जिद गिराए जाने का अफ़सोस नहीं, गर्व है: प्रज्ञा सिंह ठाकुर

मालेगांव बम धमाके की आरोपी और भोपाल से भाजपा की उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, ‘हमारे प्रभु राम जी के मंदिर में अपशिष्ट पदार्थ थे हमने उनको हटा दिया. हम गर्व करते हैं इस बात पर हमारे देश का स्वाभिमान जागा है. प्रभु राम का भव्य मंदिर भी बनाएंगे.’

प्रज्ञा सिंह ठाकुर. (फोटो: पीटीआई)

प्रज्ञा सिंह ठाकुर. (फोटो: पीटीआई)

भोपाल: मुंबई आतंकी हमले के दौरान शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे को लेकर विवाद अभी थमा भी नहीं था कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से भाजपा की उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक और बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया है.

अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने से जुड़े एक सवाल पर समाचार चैनल आज तक को दिए एक बयान में प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, ‘अयोध्या में ढांचा गिराए जाने का अफसोस क्यों होगा. ढांचा गिराने पर तो हम गर्व करते हैं. हमारे प्रभु राम जी के मंदिर में अपशिष्ट पदार्थ थे हमने उनको हटा दिया.’

उन्होंने कहा, ‘हम गर्व करते हैं इस बात पर हमारे देश का स्वाभिमान जागा है. प्रभु राम का भव्य मंदिर भी बनाएंगे. 70 वर्षों में उन्होंने देश की क्या हालत की है, हमारे देवस्थान भी सुरक्षित नहीं हो पाए हैं. हिंदुओं ने ढांचा तोड़कर स्वाभिमान को जागृत किया है और भव्य मंदिर बनाकर हम उनकी आराधना करेंगे, आनंद पाएंगे.’

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, ‘हां, मैं वहां गई थी (अयोध्या). मैंने कल भी कहा था और इस बात से अब भी पलट नहीं रही कि मैंने ढांचा (विवादित) गिराया था. मैं वहां जाऊंगी और राम मंदिर के निर्माण में मदद करूंगी.’

उन्होंने कहा, ‘मैं पूर्ण आत्मबल और आत्मविश्वास के बोल रही हूं कि ये मेरे राम जी हैं, मेरे आदर्श हैं, मेरी श्रद्धा हैं, मेरी भक्ति हैं, राम राष्ट्र हैं, राष्ट्र राम है… इसलिए भव्य मंदिर बनाने से मुझे कोई नहीं रोक सकता.’

इस पर रिपोर्टर ने पूछा कि विवादित ढांचा गिराए जाने में भी आप शामिल थीं, इस पर प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, ‘मैं वहां गई थी, काहें का विवादित ढांचा. हमारे राम का मंदिर है, भव्य मंदिर बनाएंगे, पुनर्निर्माण करेंगे उसका.’

इस पर रिपोर्टर ने सवाल किया कि चुनाव आयोग का कहना है कि धर्म और जाति के नाम पर… सवाल पूरा होने से पहले ही उन्होंने कहा, ‘मैंने कह दिया अपना विषय, अब आप बताइए, जिसको जो कहना है कहे, मैं सिर्फ अपनी बात कह रही हूं.’

फिर रिपोर्टर ने पूछा कि राम मंदिर पर भाजपा स्पष्ट तौर पर कुछ नहीं कहती, इस पर प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, ‘हम भव्य मंदिर बनाने जाएंगे. इस बात को मैं नकार नहीं रही हूं.’

प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान पर भोपाल ज़िला चुनाव अधिकारी ने नोटिस जारी किया है. नोटिस में एक दिन के अंदर प्रज्ञा सिंह ठाकुर से जवाब मांगा गया है.

बीते 18 मार्च की शाम भोपाल उत्तर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक में मुंबई एटीएस के तत्कालीन प्रमुख हेमंत करकरे पर जेल में यातना देने का आरोप लगाते हुए प्रज्ञा ने कहा था कि मैंने करकरे को सर्वनाश होने का शाप दिया था और इसके सवा माह बाद आतंकवादियों ने उन्हें मार दिया.

बाद में इस बयान को लेकर उन्होंने माफी मांग ली थी.

मुंबई हमलों के दौरान हेमंत करकरे आतंकियों का सामना करते हुए शहीद हो गए थे. बहरहाल, प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान पर भी चुनाव आयोग ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

29 सितंबर 2008 को महाराष्ट्र के मालेगांव में हुए बम धमाकों के मामले में प्रज्ञा आरोपी हैं और तकरीबन 9 साल जेल में रही हैं. इस बहुचर्चित मामले में वह इन दिनों जमानत पर चल रही हैं.

भाजपा ने उन्हें भोपाल लोकसभा सीट पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ़ चुनाव मैदान में उतारा है.

हेमंत करकरे को लेकर दिए प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान पर ज़िला निर्वाचन अधिकारी एवं भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े ने बताया, ‘हमने प्रज्ञा के इस बयान पर स्वत: संज्ञान लिया है. इस संबंध में हमने प्रज्ञा एवं कार्यक्रम के आयोजक भाजपा भोपाल ज़िलाध्यक्ष विकास वीराना को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है.’

उन्होंने कहा, ‘इस संबंध में वे एक दिन में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें, अन्यथा समयावधि में उत्तर प्रस्तुत न किए जाने की दशा में एकपक्षीय कार्रवाई की जाएगी.’

बता दें कि मालेगांव बम धमाके की आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लोकसभा चुनाव को टिकट देने की वजह से भाजपा की काफी आलोचना भी हुई है.

हाल ही में एक समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल लोकसभा सीट से प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट दिए जाने के भाजपा के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि प्रज्ञा सिंह को भोपाल से टिकट देना हिंदू संस्कृति को आतंकवादी कहने वालों को जवाब देना है और यह जवाब कांग्रेस को महंगा पड़ने वाला है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, ‘अमेठी का उम्मीदवार ज़मानत पर हो तो चर्चा नहीं, रायबरेली का उम्मीदवार ज़मानत पर हो तो इस पर भी कोई चर्चा नहीं लेकिन भोपाल की उम्मीदवार ज़मानत पर है तो इन लोगों ने तूफान खड़ा कर दिया. ये कैसे चलेगा?’

मालूम हो कि नेशनल हेराल्ड मामले में अमेठी से उम्मीदवार राहुल गांधी और रायबरेली की उम्मीदवार सोनिया गांधी ज़मानत पर हैं.

मोदी ने कहा था, ‘एक महिला को, वो भी एक साध्वी को, इस प्रकार से प्रताड़ित किया गया. मैं गुजरात में रहकर आया हूं, मैं कांग्रेस की मोडस ऑपरेंडी (काम करने का तरीका) को भलीभांति समझ गया हूं. वो क्या करते हैं, जैसे एक फिल्म की स्क्रिप्ट लिखते हैं, वैसे पहले बैठकर कागज पर स्क्रिप्ट लिखते हैं. एक छोटा सा कहीं ढूंढकर लाएंगे, उसको ऐसे फैलाएंगे, रंग भरेंगे, फिर एक विलेन को ले आएंगे, उसके अंदर हीरो-हीरोइन लाएंगे और फिर स्टोरी बना देंगे.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, ‘आपने बिना सबूत दुनिया में पांच हज़ार साल तक जिस महान संस्कृति और परंपरा (हिंदू) ने वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया, सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वे सन्तु निरामया: का संदेश दिया, जिस संस्कृति ने एकम सदविप्र: बहुधा वदन्ति का संदेश दिया, ऐसी संस्कृति का आपने आतंकवादी कह दिया. उन सबको जवाब देने के लिए, ये एक प्रतीक (प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट) है और यह कांग्रेस को महंगा पड़ने वाला है.’