भारत

सबूत मांगने वाले विपक्षी नेताओं को रॉकेट में बांधकर बालाकोट भेज देना चाहिए था: देवेंद्र फड़णवीस

पिछले हफ्ते महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस की मंत्री पंकजा मुंडे ने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गले पर बम बांधकर उन्हें किसी दूसरे देश भेज देना चाहिए. इस दौरान वहां फड़णवीस और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मौजूद थे.

Pune: Maharashtra Chief Minister Devendra Fadnavis addresses at the 227th birth anniversary function of Umaji Naik Khomane, at Bhiwadi village in Pune, Friday, Sept 7, 2018. (PTI Photo) (PTI9_7_2018_000162B)

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (फोटो: पीटीआई)

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने सोमवार को एक रैली में कहा कि अगर उन्हें पता होता कि विपक्ष की महाखिचड़ी बालाकोट हवाई हमले का सबूत मांगेगी, हम हम उनके नेताओं को रॉकेट से बांध देते ताकि वे उसे अपनी आंखों से देख सकें.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, महाराष्ट्र के विरार में एक रैली को संबोधित करते हुए फड़णवीस ने बालाकोट हवाई हमले का सबूत मांगने के लिए विपक्ष की आलोचना की.

उन्होंने कहा, ‘कोई महाखिचड़ी के बारे में क्या कह सकता है. पुलवामा आतंकी हमले का मुंहतोड़ जवाब देने वाले सैन्य बलों की तारीफ करने की बजाय वे उन पर सवाल उठा रहे हैं. यह दुर्भाग्यपूर्ण है.’

उन्होंने कहा, ‘अगर हमें पता होता कि महाखिचड़ी ऐसे सबूत मांगेगी तो हम उनके नेताओं को रॉकेट से बांधकर बालाकोट भेज देते ताकि वे अपनी आंखों से देख सकते.’

विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्तान की गिरफ्त में जाने और वापस लौटने पर फड़णवीस ने कहा, ‘हमने अमेरिका और इजरायल की तरह देशों को जोड़ा है जो कि उन्हें नुकसान पहुंचाने वाले खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हैं. आपको क्या लगता है कि अभिनंदन इतनी जल्दी क्यों वापस आ गए?’

उन्होंने कहा, ‘मोदी के रुख और हमारे सैन्य बलों की क्षमता के कारण चीन और अमेरिका ने पाकिस्तान को हमारा आदमी लौटाने की सलाह दी. पिछली सरकारों की तरह बहुत सारी बातें करने और कुछ नहीं करने की बजाय मोदी ने कार्रवाई की. भारत अब सहन नहीं करेगा. यह मुंहतोड़ जवाब देगा.’

इससे पहले पिछले हफ्ते महाराष्ट्र में भाजपा मंत्री पंकजा मुंडे ने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गले पर बम बांध देना चाहिए और उन्हें किसी दूसरे देश भेज देना चाहिए.

महाराष्ट्र के जलना संसदीय सीट में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने बालाकोट हवाई हमले को लेकर कई कांग्रेसी नेताओं द्वारा उठाए गए सवालों को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए यह विवादित टिप्पणी की थी.

मुंडे ने कहा, ‘जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को आतंकवाद से मुक्त करने का प्रयास कर रहे थे तब उन्होंने उन पर सवाल उठाया. जब हमारे सैनिकों पर हमला हो रहा था तब हमने सर्जिकल स्ट्राइक से जवाब दिया.’

उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी हमसे सबूत पेश करने के लिए कहते हैं. मैं कहती हूं कि उनके गले पर बम बांधकर उन्हें किसी दूसरे देश में भेज देना चाहिए. आजकल हेडलाइन बनने के लिए कोई भी हमसे सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल कर देता है.’

पंकजा मुंडे की इस टिप्पणी के दौरान वहां फड़णवीस और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दांवे रावसाहेब दादाराव मौजूद थे. दांवे उस सीट से दोबारा चुनाव लड़ रहे हैं.

भाजपा नेताओं की इन टिप्पणियों को बकवास बताते हुए कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चवाण ने उसे राजनीतिक नफरत करार दिया.

चवाण ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी और उसके नेता सैन्य बलों पर गर्व करते हैं और वे उनकी कार्रवाई पर सवाल नहीं उठाते हैं. लेकिन विपक्षी पार्टी के तौर पर हमारा अधिकार है कि इस पूर घटनाक्रम के दौरान कई स्तरों पर हुई विफलता के लिए हम सरकार से सवाल पूछें जिसकी वजह से पुलवामा और बालाकोट जैसी घटनाएं हुईं.’

उन्होंने कहा, ‘ऐसे सबूत हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सर्जिकल और एयर स्ट्राइक को राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं जो कि गंभीर चर्चा का मुद्दा है.’