राजनीति

क़ब्र के लिए अगर ज़मीन चाहिए तो वंदे मातरम बोलना पड़ेगा: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

बिहार की बेगूसराय लोकसभा सीट से एनडीए के उम्मीदवार गिरिराज सिंह ने कहा कि जो वंदे मातरम और भारत की मातृ भूमि को नमन नहीं कर सकता, उसे देश माफ नहीं करेगा.

Begusarai: BJP President Amit Shah being garlanded by the party workers during an election campaign rally ahead of the Lok Sabha polls, in Begusarai district, Wednesday, April 24, 2019. (PTI Photo) (PTI4_24_2019_000051B)

बुधवार को बेगूसराय में हुई एक रैली के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ गिरिराज सिंह. (फोटो: पीटीआई)

बेगूसराय: विवादित बयान देने के लिए जाने जाने वाले केंद्रीय मंत्री और बिहार के बेगूसराय लोकसभा सीट से एनडीए के प्रत्याशी गिरिराज ने एक और बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया है.

बीते 24 अप्रैल को बेगूसराय में हुई एक सभा के दौरान गिरिराज सिंह ने कहा, ‘लोग सांप्रदायिक आग फैलाना चाह रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी जब तक है, न तो ये बिहार में होगा और न ही बेगूसराय की धरती पर होने देंगे. आरजेडी के उम्मीदवार दरभंगा में कहते हैं वंदे मातरम, मैं नहीं बोलूंगा. बेगूसराय में भी कुछ लोग आकर बड़े भाई का कुर्ता और छोटे भाई को पायजामा पहनकर विष वदन कर रहे हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं कहना चाहता हूं कि जो वंदे मातरम नहीं कह सकता, जो भारत की मातृ भूमि को नमन नहीं कर सकता… अरे गिरिराज के तो बाबा दादा सिमरिया घाट में गंगा के किनारे मरे और उसी भूमि पर फिर हमने कोई क़ब्र नहीं बनाया, तुम्हें तो तीन हाथ का जगह भी चाहिए अगर तुम नहीं कर पाओगे तो देश कभी माफ नहीं करेगा.’

बेगूसराय में हुई इस सभा में भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे.

बता दें कि कुछ दिन पहले दरभंगा से आरजेडी के उम्मीदवार अब्दुल बारी सिद्दीकी ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा था कि भारत माता की जय कहने में उन्हें दिक्कत नहीं है, लेकिन वंदे मातरम कहना उनके धार्मिक विश्वास के ख़िलाफ़ है.

भाजपा ने इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया जताई थी.

बहरहाल बेगूसराय लोकसभा सीट पर इस बार मुक़ाबला त्रिकोणीय हो गया है. भाजपा की ओर से जहां गिरिराज सिंह चुनाव मैदान में हैं, राजद ने तनवीर हसन को मैदान उतारा है और सीपीआई ने जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया को अपना उम्मीदवार बनाया है.