राजनीति

क़ब्र संबंधी बयान पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज

बिहार के बेगूसराय ज़िले में एक चुनावी सभा के दौरान केंद्रीय मंत्री और एनडीए के लोकसभा उम्मीदवार गिरिराज सिंह ने कहा था कि क़ब्र के लिए अगर ज़मीन चाहिए तो वंदे मातरम बोलना पड़ेगा.

Begusarai: BJP President Amit Shah being garlanded by the party workers during an election campaign rally ahead of the Lok Sabha polls, in Begusarai district, Wednesday, April 24, 2019. (PTI Photo) (PTI4_24_2019_000051B)

जिस सभा में गिरिराज सिंह के बयान पर विवाद हुआ, उसमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: बिहार के बेगूसराय से एनडीए उम्मीदवार गिरिराज सिंह के ख़िलाफ़ मुस्लिमों के क़ब्र संबंधी बयान को लेकर एफआईआर दर्ज किया गया है. आरोप है कि 24 अप्रैल को बेगूसराय ज़िले में एक चुनावी जनसभा के दौरान उन्होंने अल्पसंख्यकों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला वक्तव्य दिया था.

जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी राहुल कुमार ने मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए बीते गुरुवार को गिरिराज सिंह के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है.

गौरतलब है कि गिरिराज सिंह ने बुधवार को जनसभा में कहा था, ‘मैं कहना चाहता हूं कि जो वंदे मातरम नहीं कह सकता, जो भारत की मातृ भूमि को नमन नहीं कर सकता… अरे गिरिराज के तो बाबा दादा सिमरिया घाट में गंगा के किनारे मरे और उसी भूमि पर फिर हमने कोई क़ब्र नहीं बनाया, तुम्हें तो तीन हाथ का जगह भी चाहिए अगर तुम नहीं कर पाओगे तो देश कभी माफ नहीं करेगा.’

गिरिराज सिंह ने जिस वक्त ये टिप्पणी की थी, उस समय मंच पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे.

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि गिरिराज का उपरोक्त वक्तव्य अल्पसंख्यकों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाला है जो आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है.

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने गिरिराज के खिलाफ जनप्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा 125 एवं 123, आईपीसी की धारा 153ए, 153बी, 295ए, 171सी, 188, 298 तथा 505 दो के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई है.

बेगूसराय लोकसभा सीट पर इस बार मुक़ाबला त्रिकोणीय हो गया है. भाजपा की ओर से जहां गिरिराज सिंह चुनाव मैदान में हैं, राजद ने तनवीर हसन को मैदान उतारा है और सीपीआई ने जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया को अपना उम्मीदवार बनाया है.