भारत

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों के हमले में 15 जवान शहीद

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली ज़िले में आईडीडी के ज़रिये किए गए विस्फोट में जवानों को ले जा रहे वाहन के ड्राइवर की भी मौत. इससे पहले नक्सलियों ने गढ़चिरौली में ही सड़क निर्माण कर रही टीम की 25 गाड़ियों को आग लगा दी थी.

(फोटो साभार: एएनआई)

(फोटो साभार: एएनआई)

गढ़चिरौली: महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में एक आईईडी धमाके में बुधवार को पुलिस के 15 जवान शहीद हो गए. क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा 25 वाहनों को आग लगाने की घटना के कुछ ही घंटे बाद यह हमला हुआ.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, घटना गढ़चिरौली के जमबोरखेड़ा और लेंढ़ारी के बीच में हुई. ये पुलिसकर्मी गढ़चिरौली पुलिस की क्विक रिस्पॉन्स टीम का हिस्सा थे.

गढ़चिरौली रेंज के डीआईजी अंकुश शिंदे ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा है, ‘कुरखेड़ा पुलिस स्टेशन से सुरक्षाकर्मियों की यह टीम निकली थी. वे एक निजी वाहन से पुरादा गांव जा रहे थे. विस्फोट दोपहर तकरीबन 12:30 बजे हुआ.’

एनएनआई के मुताबिक हमले में निजी वाहन के ड्राइवर की भी मौत हो गई.

नक्सलियों ने जहां वाहन जलाए थे, क्या यह टीम वहां जा रही थी, इस सवाल पर डीआईजी ने कहा, ‘हम ऐसी जगहों पर नहीं जाते क्योंकि अक्सर इस तरह के स्थलों पर घात लगाकर हमला होने का ख़तरा रहता है. सुरक्षाकर्मियों का दल कहा जा रहा था, इसकी जानकारी के लिए मुझे वहां से ग्राउंड रिपोर्ट मंगानी होगी.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ‘गढ़चिरौली में जवानों पर हमले की घटना की निंदा करता हूं. मैं सभी साहसी जवानों को सलाम करता हूं. उनके बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी पूरी संवेदना है. इस हमले को अंजाम देने वालों को बक्शा नहीं जाएगा.’

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने ट्वीट कर कहा, ‘नक्सलियों के कायराना हमले में 15 जवानों के शहीद होने की घटना से दुखी हूं. शहीदों के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. मैं गढ़चिरौली के डीआईजी और एसपी से संपर्क में हूं. मैंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से बात कर स्थिति की जानकारी दे दी है.’

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा है, ‘गढ़चिरौली में हुई दुखद घटना के संबंध में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस से बात की है. हम राज्य सरकार को ज़रूरी सहयोग दे रहे हैं. केंद्रीय गृह मंत्रालय राज्य प्रशासन के साथ लगातार संपर्क में है.’

एक अन्य ट्वीट में राजनाथ सिंह ने कहा, ‘गढ़चिरौली में महाराष्ट्र पुलिस के जवानों पर हमला एक कायराना हरकत है. हमें जवानों की बहादुरी पर गर्व है. देश की सेवा करते हुए दिया गया उनका बलिदान बेकार नहीं जाएगा. उनके परिवार के प्रति मेरी पूरी सहानुभूति है.’

बता दें कि इससे पहले नक्सलियों ने गढ़चिरौली जिले में एक सड़क निर्माण कंपनी के करीब 25 वाहनों में आग लगा दी थी.

गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवाड़े ने बताया कि यह घटना कुरखेड़ा तहसील के दादापुर में हुई.

उन्होंने बताया, ‘माओवादियों का एक समूह तड़के 3:30 बजे दादापुर में जमा हुआ जहां पिछले कुछ महीने से राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण का काम चल रहा है.’

अधिकारी ने बताया कि उन्होंने सड़कों पर खड़े वाहनों में केरोसिन और डीज़ल डालकर आग लगा दी. उन्होंने बताया, ‘वाहनों में आग लगाने के बाद नक्सली जंगल में भाग गए. तलाश अभियान शुरू किया गया है.’

बलकवाड़े ने बताया कि घटना के बारे में औपचारिक शिकायत अभी दर्ज नहीं की गई है.