भारत

वरुण गांधी ने बसपा उम्मीदवार पर की टिप्पणी, कहा- संजय गांधी का लड़का हूं, इनसे जूते खुलवाता हूं

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने यह विवादित टिप्पणी सुल्तानपुर में अपनी मां मेनका गांधी के लिए चुनाव प्रचार करते हुए की.

(फोटो साभार: वरुण गांधी/फेसबुक)

(फोटो साभार: वरुण गांधी/फेसबुक)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से भाजपा उम्मीदवार वरुण गांधी ने अपनी मां मेनका गांधी के लिए चुनाव प्रचार करने सुल्तानपुर पहुंचे वरुण गांधी ने वहां से गठबंधन के उम्मीदवार को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा कि वह संजय गांधी के लड़के हैं और ऐसे लोगों से अपने जूते खुलवाते हैं.

एनडीटीवी के अनुसार, सुल्तानपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए वहां से सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार चंद्रभद्र सिंह उर्फ सोनू पर बिना नाम लिए हमला किया. वरुण गांधी ने कहा, ‘एक इंसान बिना स्वाभिमान के केवल एक लाश होता है. मैं एक ही चीज आपको कहना चाहता हूं, किसी से डरने की जरुरत नहीं है. केवल एक से डरा जाता है और वो भगवान है.’

उन्होंने कहा, ‘अपने पाप और गुनाहों से लोगों को डरना चाहिए, किसी मोनू-टोनू से डरने की जरूरत नहीं है. मैं खड़ा हूं यहां पर. मैं संजय गांधी का लड़का हूं, मैं इन लोगों से अपने जूते खुलवाता हूं.’

दरअसल, सोनू सिंह और उनके भाई मोनू सिंह की इलाके में दबंग छवि है. सोनू सिंह पहले विधायक भी रह चुके हैं और बीएसपी ने उन्हें लोकसभा का टिकट दिया है.

गौरतलब है कि इस लोकसभा चुनाव में भाजपा ने केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और उनके बेटे वरुण गांधी की सीटें बदल दी थीं. वरुण गांधी अब पीलीभीत से और मेनका गांधी सुल्तानपुर से चुनाव लड़ रही हैं.

बता दें कि मेनका गांधी पिछले दो दशकों में चुनाव नहीं हारी हैं. साल 2014 में उन्होंने अपने गढ़ पीलीभीत से जीत हासिल की थी. वहीं, वरुण गांधी ने सुल्तानपुर से चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी.

इससे पहले वरुण गांधी के लिए पीलीभीत में चुनाव प्रचार करते हुए मेनका गांधी ने कहा था, ‘हम हर बार पीलीभीत में जीतते हैं, तो इस बात का मापदंड क्या है कि एक गांव के लिए ज्यादा काम करवाया जाता है एक में नहीं. हमारा मापदंड है कि हम गांवों को ए, बी, सी, डी में बांट देते हैं.

उन्होंने कहा था, ‘जिस गांव से 80 फीसदी वोट मिलेगा, वह ए कैटेगरी में रहेगा, जिस गांव से 60 फीसदी वोट मिलेगा वो बी कैटेगरी में. जिस गांव से 50 फीसदी वोट मिलेगा वो सी कैटेगरी में होगा. 50 फीसदी से कम वोट मिलेगा वो डी में.’

वहीं इससे पहले भी मेनका गांधी ने मुसलमान मतदाताओं को लेकर एक विवादित बयान दिया था, जिस पर चुनाव आयोग ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

सुल्तानपुर से भाजपा उम्मीदवार मेनका गांधी ने 12 अप्रैल को मुसलमानों से वोट देने की अपील करते हुए कहा था कि अगर वे उन्हें वोट नहीं देंगे तो वह भी उनके लिए काम नहीं करेंगी.