राजनीति

केजरीवाल को सत्येंद्र जैन ने दिए दो करोड़ रुपये: कपिल मिश्रा

दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार के मंत्री पद से हटाए जाने के बाद कपिल मिश्रा ने लगाए आरोप. उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि लगाए गए आरोप जवाब के लायक नहीं हैं.

KejriwalKapilMishra PTI

कपिल मिश्रा और अरविंद केजरीवाल. (फोटो: पीटीआई)

दिल्ली सरकार के मंत्री पद से बर्खास्त किए गए कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर अपने साथी मंत्री सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपये लेने का आरोप लगाया, हालांकि उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस आरोप को खारिज कर दिया.

मिश्रा की तरफ से यह सनसनीखेज आरोप उस वक्त लगाया गया है जब आम आदमी पार्टी में टकराव की स्थिति चल रही है. मिश्रा ने राजघाट पर महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धांजलि देने के बाद संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने जैन को केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर उन्हें दो करोड़ रुपये देते हुए देखा.

उनके मुताबिक जब उन्होंने इसके बारे में पूछा तो मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीति में कुछ चीजें होती हैं. मिश्रा ने कहा, अरविंद केजरीवाल में पूरा विश्वास होने की वजह से मैं चुप था. मैंने खुद देखा कि जैन केजरीवाल को उनके आवास पर दो करोड़ रुपये नकद दे रहे हैं. केजरीवाल ने कहा कि राजनीति में कुछ चीजें होती हैं और इसके बारे में बाद में बताया जाएगा.

उन्होंने यह भी आरोप लगाया, जैन ने मुझे बताया था कि उन्होंने केजरीवाल के रिश्तेदार का 50 करोड़ रुपये का भूमि सौदा कराया है. जब मैंने इस बारे में केजरीवाल को बताया तो उन्होंने कहा कि यह झूठ है और मुझसे कहा कि मैं उनमें भरोसा रखूं.

उप मुख्यमंत्री सिसोदिया ने कहा कि कपिल मिश्रा की ओर से लगाए गए आरोप जवाब के लायक नहीं है. सिसोदिया ने कहा, उनके आरोप जवाब के लायक नहीं हैं. खराब कामकाज की वजह से उनको मंत्री पद से बर्खास्त किया गया. उन्होंने कहा, आरोप बहुत ज्यादा बेतुके हैं और इनमें कोई तथ्य नहीं है.

बहरहाल, मिश्रा का दावा है कि जब उन्होंने पिछले कुछ दिन से चर्चा में चल रहे भ्रष्टाचार के मामले को लेकर पार्टी नेताओं पर दबाव बनाया तब उनको हटाया गया.

उन्होंने कहा, मैं पूछना चाहता हूं कि अगर ऐसा (कामकाज) था तो केजरीवाल और सिसोदिया पहले क्यों नहीं बोले. जब वे शहर में जल आपूर्ति विकसित करने में सरकार के काम की बात कर रहे थे तो क्या वे लोगों को मूर्ख बना रहे थे.

मिश्रा ने कहा कि लंबे समय से पार्टी को मिले चंदे, पंजाब चुनाव और दिल्ली सरकार से जुड़े विभिन्न तरह के भ्रष्टाचार के बारे में बातें हो रही थीं.

पूर्व मंत्री ने कहा, मैंने कुछ मामले अपने आंखों से देखे थे, लेकिन केजरीवाल में भरोसा था और यह मानता था कि उनको कोई भ्रष्ट नहीं कर सकता. धनशोधन, कालेधन और मंत्री (जैन) की बेटी की नियुक्ति, लक्जरी बस योजना, सीएनजी फिटनेस टेस्ट घोटाला, ये सब मेरी जानकारी में थे और मैंने हमेशा माना कि केजरीवाल कार्रवाई करेंगे.

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि आप में रहकर भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ेंगे और उनको कोई पार्टी से बाहर नहीं कर सकता. मिश्रा ने कहा, आप मेरी पार्टी है, मुझे कोई बाहर नहीं निकाल सकता. हम पार्टी से भ्रष्टाचार साफ करेंगे और मैं यह काम शुरू करने के लिए यहां (राजघाट)आया हूं.

उन्होंने कहा, मैं केजरीवाल सरकार का इकलौता मंत्री हूं जिस पर भ्रष्टाचार का कोई मामला नहीं है, सीबीआई या एसीबी की कोई जांच नहीं चल रही है और जिसने बेटी या रिश्तेदार की नियुक्ति नहीं की.

Comments