भारत

दिल्ली से अवैध प्रवासियों को निकालने के लिए एनआरसी जैसे क़दम की ज़रूरत: मनोज तिवारी

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि मुझे स्थानीय निवासियों ने बताया कि बेटी से छेड़खानी का विरोध करने पर ध्रुव त्यागी की हत्या में अवैध रोहिंग्या या बांग्लादेशी हो सकते हैं.

New Delhi: Delhi Pradesh BJP President Manoj Tiwari at the Delhi BJP executive committee meet at Dr Ambedkar International Centre, in New Delhi, Saturday, Sept 22, 2018. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI9_22_2018_000020B)

मनोज तिवारी (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी से अवैध प्रवासियों को बाहर निकालने के लिए राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) जैसे कदम उठाए जाने चाहिए. यह बात तिवारी ने शनिवार को बसई दारापुर में मृत ध्रुव त्यागी के परिजनों के साथ बातचीत के दौरान कही.

तिवारी ने मोती नगर में ध्रुव त्यागी के परिवार से मिलने पहुंचे थे. गौरतलब है कि बेटी के साथ छेड़खानी का विरोध करने को लेकर त्यागी की कथित रूप से हत्या कर दी गई. सांसद ने त्यागी के परिवार के प्रति गहरी संवेदना जताई और कहा कि इस तरह की हिंसा के लिये समाज में कोई जगह नहीं है.

परिजनों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार को इस मामले में जल्द ही न्याय मिलना चाहिए. इसके लिए मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होनी चाहिए.

उन्होंने यह भी कहा कि यह दिल दहला देने वाली बात है कि एक पिता के सामने उसके बेटी से छेड़छाड़ की जा रही है और विरोध करने पर उसकी हत्या कर दी जाती है. इस हमले में भाई घायल और जिंदगी और मौत से जूझ रहा है. इस निर्मम हत्या के दोषियों के लिए उन्होंने फांसी की सजा की मांग की.

तिवारी ने कहा, ‘मुझे स्थानीय निवासियों ने बताया कि त्यागी के हत्यारे अवैध रोहिंग्या या बांग्लादेशी हो सकते हैं. मैंने इस संबंध में पुलिस आयुक्त से भी बात की है.’ उन्होंने आरोप लगाया कि अवैध प्रवासियों की बढ़ती मौजूदगी के कारण शहर में आपराधिक गतिविधियों में तेजी आई है. दिल्ली में एनआरसी जैसे कदम उठाने की जरूरत है.

बता दें कि पश्चिमी दिल्ली के मोती नगर में 51 वर्षीय ध्रुवराज त्यागी नामक एक शख्स की निर्ममता पूर्वक चाकू से गोदकर इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि उनसे अपने पड़ोस में रहने वाले युवक और नाबालिगों द्वारा अपनी बेटी पर भद्दी फब्तियां कसने का विरोध किया था.

यही नहीं इस दौरान अपने पिता को बचाने के लिए पहुंचे बेटे अनमोल को भी हत्यारों ने चाकू से मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया, जो कि अस्पताल में जिंदगी और मौत से लड़ रहा है. वारदात को अंजाम दे सभी मौके से फरार हो गए. सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया. पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए पड़ोस में रहे वाले दो नाबालिग सहित 4 को दबोच लिया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)