भारत

उत्तर प्रदेश: लोकसभा की 80 में से 58 सीटों पर भाजपा आगे, 20 पर महागठबंधन को बढ़त

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: 2014 में उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 73 सीटें भाजपा और उसके सहयोगी दलों को मिली थींं.

Kolkata: BJP supporters show victory sign as they celecbrate their party's lead in the Lok Sabha elections, at BJP office, in Kolkata, Thursday, May 23, 2019. (PTI Photo/Ashok Bhaumik) (PTI5_23_2019_000073B)

लोकसभा चुनाव 2019 के रुझानों में भाजपा को मिली बढ़त पर जश्न मनाते भाजपा कार्यकर्ता. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा के गठन के लिए 542 सीटों पर 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में सम्पन्न हुए आम चुनावों के बाद गुरुवार को वोटों की गिनती जारी है. उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर सभी सात चरणों में चुनाव हुए थे.

उत्तर प्रदेश में अधिकतर सीटों पर भाजपा नेतृत्व वाली एनडीए आगे चल रही है और उसे महागठबंधन से अच्छी टक्कर मिल रही है. ताजा रुझानों के मुताबिक भाजपा गठबंधन 58 सीटों पर आगे चल रही है. हालांकि 2014 के मुकाबले उसे सीटों का नुकसान जरूर हो रहा है.

उत्तर प्रदेश में पहली बार सपा और बसपा और रालोद ने साथ आकर महागठबंधन बनाया है. वहीं कांग्रेस अकेले अपने दम पर उत्तरप्रदेश में चुनाव लड़ रही है. महागठबंधन 20 और कांग्रेस 2 सीटों पर आगे चल रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी, मेनका गांधी, वरुण गांधी, राजनाथ सिंह, जया प्रदा, हेमा मालिनी जैसे कई बड़े नेता उत्तर प्रदेश से चुनाव लड़ रहे हैं. समाजवादी पार्टी की तरफ से मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव और आजम खान उत्तर प्रदेश से मैदान में हैं.

वाराणसी लोकसभा सीट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 लाख वोट से आगे चल रहे हैं वहीं कांग्रेस के अजय राय पीछे हैं. अमेठी लोकसभा सीट पर भाजपा की स्मृति ईरानी 13 हजार वोटों से आगे चल रही हैं जबकि राहुल गांधी लगातार पिछड़ रहे हैं.

सुल्तानपुर लोकसभा सीट से भाजपा की मेनका गांधी महागठबंधन उम्मीदवार सिर्फ 16 हजार वोट से आगे चल रही हैं. रायबरेली लोकसभा सीट से कांग्रेस की सोनिया गांधी आगे चल रही हैं और भाजपा के दिनेश प्रताप सिंह पीछे हैं.

पीलीभीत लोकसभा सीट से भाजपा के वरूण गांधी महागठबंधन उम्मीदवार हेमराज वर्मा से बहुत आगे चल रहे हैं. मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से भाजपा के संजीव बालियान रालोद के अजित सिंह से आगे चल रहे हैं.

गोरखपुर लोकसभा सीट से भाजपा के रवि किशन महागठबंधन उम्मीदवार रामभुल निषाद से आगे चल रहे हैं. गाजीपुर लोकसभा सीट से भाजपा के मनोज सिन्हा 30 हजार वोट से पीछे चल रहे हैं. वहीं महागठबंधन के अफजल अंसारी आगे हैं.

आजमगढ़ लोकसभा सीट से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भाजपा के दिनेश लाल निरहुआ से काफी आगे चल रहे हैं. अमेठी लोकसभा सीट से भाजपा की स्मृति ईरानी 13 हजार वोटों से आगे चल रही हैं जबकि राहुल गांधी लगातार पिछड़ रहे हैं.

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश के दम पर भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने में कामयाब हुई थी. 2014 में उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 73 सीटें भाजपा और उसके सहयोगी दलों को मिली थींं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा की शानदार बढ़त के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए गुरुवार को कहा कि देश की जनता ने विपक्ष की नकारात्मक राजनीति को सिरे से खरिज किया है.

उन्होंने कहा, ‘मोदी जी ने पांच वर्ष में इस देश को हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिये जो शानदार काम किया है, खासकर वैश्विक मंच पर भारत को सम्मान दिलाने की बात हो, या फिर देश की आतंरिक और बाहरी सुरक्षा के मोर्चे पर, आधारभूत विकास को लेकर या फिर कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव के समाज के प्रत्येक तबके को देने का कार्य हुआ है, यह उसका परिणाम है.’