राजनीति

बड़ी जीत की ओर बढ़ती भाजपा, राजग को क़रीब 350 सीटों पर बढ़त

लोकसभा चुनाव परिणाम 2017: 17वीं लोकसभा के गठन के लिए 542 सीटों में से कांग्रेस गठबंधन को तकरीबन 91 सीटों पर बढ़त. अन्य दल 104 सीटों पर आगे.

Varanasi: BJP workers celebrate party's lead in the Lok Sabha elections 2019, in Varanasi, Thursday, May 23, 2019. (PTI Photo) (PTI5_23_2019_000087B)

लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिली बढ़त का वाराणसी में जश्न मनाते भाजपा कार्यकर्ता. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/लखनऊ: साल 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को हो रही वोटों की गिनती में अब तक प्राप्त रुझानों के अनुसार भाजपा गठबंधन तकरीबन 350 सीटों के साथ फिर से सत्ता में वापसी करता दिख रही है.

रुझानों के अनुसार, भाजपा देशभर में 300 से ज़्यादा सीटों पर आगे चल रही है. वहीं कांग्रेस गठबंधन तकरीबन 91 और अन्य 104 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं.

चुनाव आयोग द्वारा जारी मतगणना के आंशिक आंकड़ों के अनुसार भाजपा इस बार 2014 से बेहतर प्रदर्शन करने की राह पर है.

सात चरण में हुए मतदान में जनता ने विपक्षी गठबंधन को नकार दिया है और रुझानों के अनुसार कांग्रेस पार्टी सिर्फ 53 सीटों पर आगे है.

68 वर्षीय नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में शानदार जीत दर्ज की है. वहीं 8,89,925 वोटों के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गुजरात की गांधीनगर लोकसभा सीट पर से आगे चल रहे हैं.

 

इन रुझानों के साथ ही बाजार में भी उछाल देखा गया और बीएसई सेंसेक्स पहली बार 40,000 पहुंच गया जबकि एनएसई निफ्टी 12000 के पार पहुंच गया. रुपया अमेरिकी डालर की तुलना में 69.51 के सामने 14 पैसे मजबूत हुआ.

अंतिम नतीजों तक रुझान यही रहते हैं तो भाजपा और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन में उसके सहयोगी 344 सीट जीत जाएंगे जबकि 2014 में उन्होंने 336 सीटें जीती थी. भाजपा ने पिछली बार खुद 282 सीटें जीती थी.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- भाजपा की इस बड़ी जीत के लिए बधाई. मैं लोगों की शुक्रगुजार हूं.’

उत्तर प्रदेश जैसे राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन से मिली चुनौती के बीच रात आठ बजे तक भाजपा 80 में से 52 सीटों पर आगे है, जबकि आठ सीटों पर उसे जीत मिल चुकी है.

यूपी में सपा पांच और बसपा 10 सीटों पर आगे है. बसपा को एक सीट पर जीत भी मिल चुकी है. भाजपा ने पिछली बार उत्तर प्रदेश में 71 सीटें जीती थी.

भाजपा का लखनऊ स्थित प्रदेश मुख्यालय भगवा रंग में डूब गया है. भाजपा कार्यकर्ता ने पटाखे जलाये और नगाड़ों की थाप पर झूमते नजर आए.

दूसरी ओर कांग्रेस, बसपा और सपा कार्यालयों में सन्नाटा पसरा रहा है.

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस सिर्फ एक सीट पर आगे है. राहुल गांधी को अपनी परंपरागत सीट अमेठी में भाजपा की स्मृति ईरानी से हार का सामना करना पड़ा है.

कांग्रेस के प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने पत्रकारों से कहा, ‘कांग्रेस पार्टी निराश है और रुझान हमारी अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं है. पूरी मतगणना होने तक मैं नतीजों पर नहीं जाऊंगा.’

हिंदीभाषी प्रदेशों और गुजरात में ही नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल, ओडिशा, महाराष्ट्र और कर्नाटक में भी भाजपा का असर नजर आया, हालांकि केरल, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में पार्टी कोई कमाल नहीं दिखा पायी. तेलंगाना में रात आठ बजे तक भाजपा एक सीट पर जीत चुकी थी और तीन सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.

आंध्र प्रदेश में विधानसभा चुनाव में चंद्रबाबू नायडू की तेलुगू देशम पार्टी हार गई, जबकि वायएसआर कांग्रेस के जगन मोहन रेड्डी बहुमत की ओर बढ़ रहे हैं.

मध्य प्रदेश में राज आठ बजे तक भाजपा 29 में से 11 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी थी, जबकि 17 सीटों पर आगे थी, जबकि राजस्थान में यह 25 में से 16 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी थी और आठ सीटों पर आगे चल रही थी.

नई दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय पर गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय पर गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो साभार: ट्विटर)

छत्तीसगढ़ की 11 सीटों में रात आठ बजे तक भाजपा तीन सीटें जीत चुकी थी और छह सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी. प्रदेश कांग्रेस की एक सीट जीत चुकी थी और एक पर बढ़त बनाए हुए थी.

हरियाणा में दस में से दो सीट रात आठ बजे तक भाजपा जीत चुकी थी और आठ सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी.

ओडिशा में भाजपा 21 में से नौ सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी और बीजू जनता दल 12 सीटों पर आगे थी. ओडिशा विधानसभा चुनाव में बीजद का सत्ता में लौटना तय हो गया है.

बिहार में 40 में से चार सीटों पर भाजपा रात आठ बजे तक जीत दर्ज कर चुकी थी और 13 सीटों पर आगे थी, वहीं पार्टी की सहयोगी जद (यू) चार सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी थी और 12 सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी.

पश्चिम बंगाल में 42 में से रात आठ बजे तक ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस एक सीट जीत चुकी थी, जबकि 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी. यहां भाजपा 18 सीटों पर आगे है. पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां दो सीटें ही जीती थीं, जबकि कभी वामपंथ का गढ रहे राज्य से वाम दलों का सफाया हो गया था.

तमिलनाडु की 38 लोकसभा सीट में से द्रमुक रात आठ बजे तक तीन सीटें जीत चुकी थी और 20 सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी. वहीं एक सीट पर आगे थी.

केरल में कांग्रेस 10 सीटों पर रात आठ बजे तक जीत दर्ज कर चुकी थी और पांच सीटों पर बढ़त बनाए हुए थी. इसके अलावा केरल कांग्रेस एक सीट जीत चुकी थी और सीपीआईएम एक सीट पर बढ़त बनाए हुए थी.

देश भर के 4000 मतगणना केंद्रों पर मतों की गिनती जारी है. विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से मतगणना में पारदर्शिता सुनिश्चित करने का आग्रह किया है.

उल्लेखनीय है कि इस चुनाव में पंजीकृत 90.99 करोड़ मतदाताओं में से करीब 67.11 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है. भारतीय संसदीय चुनाव में यह अब तक का सर्वाधिक मतदान प्रतिशत है.

मोदी का भाजपा मुख्यालय में शानदार स्वागत

लोकसभा चुनाव में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बृहस्पतिवार को भाजपा मुख्यालय में शानदार स्वागत किया गया.

भाजपा मुख्यालय में आने पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया. इस दौरान पार्टी कार्यालय में भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता ‘मोदी मोदी’ के नारे लगा रहे थे. पार्टी कार्यकर्ताओं ने गुलाब के फूलों से उनका स्वागत किया.

लोकसभा चुनाव रुझानों में भाजपा गठबंधन का बढ़त मिलने के बाद नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

लोकसभा चुनाव रुझानों में भाजपा गठबंधन का बढ़त मिलने के बाद नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

प्रधानमंत्री ने हाथ उठाकर विजयी चिह्न बनाकर वहां उपस्थित लोगों का स्वागत किया. इस दौरान वहां भाजपा संसदीय बोर्ड के सदस्य मौजूद थे जिनमें मोदी और शाह के अलावा राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, शिवराज सिंह चौहान, राम लाल, जेपी नड्डा, थावर चंद गहलोत आदि शामिल थे.

वाराणसी से प्रधानमंत्री मोदी की रिकॉर्ड जीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की.

चुनाव आयोग द्वारा घोषित परिणाम के मुताबिक मोदी ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा—बसपा—रालोद गठबंधन प्रत्याशी सपा की शालिनी यादव को चार लाख 79 हजार 505 मतों से परास्त किया.

मोदी को कुल 6,74,664 मत मिले. वहीं शालिनी को 1,95,159 वोट हासिल हुए. कांग्रेस के अजय राय तीसरे स्थान पर रहे जिन्हें 152548 मत प्राप्त हुए.

मोदी ने वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव तीन लाख 74 हजार मतों से जीता था.

भारत एक बार फिर जीता: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत को भारत की जीत बताया और कहा कि सभी मिलकर एक मजबूत एवं समावेशी भारत का निर्माण करेंगे.

मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘सबका साथ + सबका विकास + सबका विश्वास = विजयी भारत.’

उन्होंने कहा, ‘हम साथ मिलकर बढ़ेंगे, साथ मिलकर समृद्ध बनेंगे और साथ मिलकर ही एक मजबूत एवं समावेशी भारत का निर्माण करेंगे.’ मोदी ने कहा, ‘भारत एक बार फिर जीता. विजयी भारत.’

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने ट्वीट में कहा, ‘यह जीत पूरे भारत की जीत है. देश के युवा, गरीब, किसान की आशाओं की जीत है. यह भव्य विजय प्रधानमंत्री मोदी जी के पांच साल के विकास और मजबूत नेतृत्व में जनता के भरोसे की जीत है.’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘मैं भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ताओं की ओर से नरेंद्र मोदी जी को हार्दिक बधाई देता हूं.’

शाह ने कहा कि जन-जन के विश्वास और अभूतपूर्व विकास की प्रतीक ‘मोदी सरकार’ बनाने के लिए भारत की जनता को कोटि-कोटि नमन. सभी देशवासियों को बहुत-बहुत बधाई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)