भारत

लोकसभा में पांच फीसदी से कम हुआ मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व, भाजपा से एक भी मुस्लिम सांसद नहीं

लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने वाली पार्टियों में से भाजपा एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसकी तरफ से एक भी मुस्लिम सांसद लोकसभा नहीं पहुंचा है. 542 सीटों पर हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 303 सीटों जीत दर्ज की है.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा में कुल 25 मुस्लिम सांसद चुनकर पहुंचे हैं. इस तरह संसद के निचले सदन में मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व पांच फीसदी से भी कम है जबकि देश की कुल जनसंख्या में उनका प्रतिनिधित्व 14 फीसदी है.

हालांकि, 16वीं लोकसभा में 23 मुस्लिम सांसद ही चुनकर पहुंचे थे, तो इस बार दो मुस्लिम सांसद अधिक होंगे.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, 542 सीटों पर हुए लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने वाली पार्टियों में से भाजपा एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसकी तरफ से एक भी मुस्लिम सांसद संसद नहीं पहुंचा है. लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 303 सीटों जीत दर्ज की है.

भाजपा ने 27 फीसदी मुस्लिम आबादी वाले पश्चिम बंगाल में दो मुस्लिमों, 95 फीसदी मुस्लिम आबादी वाले लक्ष्यद्वीप में एक मुस्लिम और मुस्लिम बहुल कश्मीर में घाटी में तीन मुस्लिमों को टिकट दिया था. हालांकि, उसके सभी छह मुस्लिम प्रत्याशी चुनाव हार गए.

सबसे अधिक छह मुस्लिम सांसद उत्तर प्रदेश से जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं. ये सभी छह मुस्लिम सांसद सपा-बसपा महागठबंधन की ओर से जीतकर लोकसभा में पहुंचे हैं. इसमें तीन मुस्लिम सांसद सपा और तीन मुस्लिम सांसद बसपा के हैं.

बसपा से कुंवर दानिश अली ने अमरोहा, अफजाल अंसारी ने गाजीपुर और हाजी फजलुर रहमान ने सहारनपुर से जीत दर्ज की है. वहीं सपा से एसटी हसन ने मुरादाबाद, शफीक रहमान बर्क ने संभल और आजम खान ने रामपुर से जीत दर्ज की है.

दूसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल है जहां पर पांच मुस्लिम सांसद टीएमसी और एक मुस्लिम सांसद कांग्रेस से जीतकर लोकसभा पहुंचा है.

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएण ने इस बार ओवैसी के साथ एक अन्य मुस्लिम सांसद को लोकसभा भेजा है. पार्टी के इम्तियाज जलील सैयद ने महाराष्ट्र के औरंगाबाद सीट पर शिवसेना के मौजूदा सांसद चंद्रकांत खैरे को 4400 से अधिक वोटों से हराया है.

एआईएमआईएम महाराष्ट्र में प्रकाश आंबेडकर की पार्टी वंचित बहुजन अघाडी के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही थी.

वहीं वाम मोर्चे ने केरल के अलप्पुझा से एक मुस्लिम सांसद को लोकसभा में भेजा है. वहां से सीपीएम के एएम आरिफ ने 10,474 वोटों से जीत दर्ज की है.

केरल से ही इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने पोन्नानी से ईटी मोहम्मद बशीर और मलप्पुरम से पीके कन्हलीकुट्टी को लोकसभा भेजा है. वहीं आईयूएमएल के के नवस्कानी ने तमिलनाडु के रामनाथपुरम से 1,27,122 वोटों से जीत दर्ज की है. वहां आईयूएमएल , डीएमके नेतृत्व वाले गठबंधन का हिस्सा थी.

वहीं, कश्मीर घाटी से लोकसभा की सभी तीन सीटों पर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जीत दर्ज की है जहां से फारुख अब्दुल्ला, मोहम्मद अकबर लोन और हनानी मसूदी ने जीत दर्ज की.