भारत

मध्य प्रदेश: गोमांस के शक़ में तीन की बेरहमी से पिटाई, जय श्री राम के नारे भी लगवाए

मध्य प्रदेश के सिवनी में गोमांस के शक़ में कथित गोरक्षकों ने एक मुस्लिम युवती सहित तीन लोगों की बेरहमी से पिटाई की.

मध्य प्रदेश के सिवनी में पेड़ से बांधकर युवक की पिटाई करते गोरक्षक (फोटोः वीडियो स्क्रीनशॉट)

मध्य प्रदेश के सिवनी में पेड़ से बांधकर युवक की पिटाई करते गोरक्षक (फोटोः वीडियो स्क्रीनशॉट)

सिवनीः मध्य प्रदेश के सिवनी में कथित तौर पर गोमांस ले जाने के शक में  गोरक्षकों द्वारा एक मुस्लिम महिला सहित तीन लोगों की बेरहमी से पिटाई करने के मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, वीडियो में गोरक्षक पीड़ितों से जबरन जय श्रीराम के नारे लगवाते देखे जा सकते हैं. यह घटना 22 मई की है लेकिन 24 मई को वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने इसका संज्ञान लिया.

वीडियो में साफतौर पर देखा जा सकता है कि इन गोरक्षकों ने डंडों से युवकों की पिटाई की. इन गोरक्षकों ने एक-एक कर युवकों को पेड़ से बांधा और बेरहमी से इनकी पिटाई की.

डुंडा सिवनी पुलिस स्टेशन के प्रभारी गणपत उइके ने बताया कि इस मामले में शुभम बघेल, योगेश उइके, दीपेश नामदेव, रोहित यादव और श्याम देहरिया को गिरफ्तार किया गया है. इन पांचों पर आईपीसी की धारा 143, 148, 149, 341, 294, 323 और 506 और आर्म्स एक्ट की धारा 25 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

गौरतलब है कि 22 मई को गोहत्या रोधी अधिनियम के तहत तौफिक, अंजुम शमा और दिलीप माल्वीय को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया था.

इससे पहले गोरक्षकों ने पुलिस को यह सूचित किया था कि ये लोग कथित तौर पर खैरी गांव से एक ऑटोरिक्शा और दोपहिया वाहन में गोमांस ले जा रहे हैं. गोमांस को जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया. सिवनी के एसपी ललित शाक्यवार ने कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है.

गणपत ने बताया कि इस वीडियो के वायरल होने के बाद इन तीनों लोगों में से एक के संबंधी ने एफआईआर दर्ज कराई. उसने बताया कि गोरक्षकों ने तीनों की पिटाई करने के बाद पुलिस को सूचित किया.

उन्होंने यह भी बताया कि आरोपियों में से एक शुभम बघेल श्रीराम सेना नाम के संगठन से जुड़ा हुआ है.

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मोदी के वोटरों द्वारा बनाए गए निगरानी समिति के सदस्‍य मुस्लिमों के साथ इस तरह का व्यवहार करते हैं. न्‍यू इंडिया में स्‍वागत है, जो समावेशी होगा और जैसा कि प्रधानमंत्री ने कहा है कि धर्मनिरपेक्षता का नकाब.’