भारत

गुड़गांव में कथित तौर पर जय श्री राम का नारा न लगाने पर मुस्लिम युवक की पिटाई

यह घटना गुड़गांव के सदर बाजार की है.

Gurugram-Screenshot-2019-05-27-at-9.25.33-AM-1200x600

गुड़गांव: गुड़गांव में पारंपरिक टोपी पहनने के लिए 25 वर्षीय मुस्लिम युवक की चार अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर पिटाई की. एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी. पीड़ित की पहचान मोहम्मद बरकर आलम के तौर पर हुई है. मूलत: बिहार का रहने वाला आलम यहां के जैकब पुरा इलाके में रहता है.

पुलिस में दी गई शिकायत में आलम ने आरोप लगाया कि सदर बाजार मार्ग पर चार अज्ञात लोगों ने उसे रोका और पारंपरिक टोपी पहनने पर आपत्ति जताई. उसने बताया कि आरोपियों ने उसे धमकी दी और कहा कि इस इलाके में इस तरह की टोपी पहनने की इजाजत नहीं है.

आलम ने अपनी प्राथमिकी में कहा, ‘उन्होंने मेरी टोपी हटा दी और मुझे थप्पड़ मारे साथ ही उन्होंने ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाने को भी कहा.’

उसने कहा, ‘मैंने उनके आदेश का पालन किया और ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाया लेकिन उन्होंने मुझे ‘जय श्रीराम’ का उद्घोष करने के लिए कहा, जिसे करने से मैंने इनकार कर दिया. इस पर एक युवक ने सड़क किनारे पड़ी लाठी उठाई और बेरहमी से मुझे पीटना शुरू कर दिया. उन्होंने मेरे पैर और पीठ पर वार किया.’

एसीपी ने कहा कि इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर आरोपियों की पहचान की जा रही है. उन्हें पकड़ने के प्रयास जारी हैं.

युवक के साथ घटना तब घटित हुई जब वह गुड़गांव के सदर बाजार स्थित एक मस्जिद से नमाज पढ़कर लौट रहा था. पीड़ित युवक का आरोप है कि आरोपी लड़के जब उसकी पिटाई कर रहे थे उस समय मौके पर कई लोग मौजूद थे लेकिन ने उसकी मदद नहीं की.

वहीं, हरियाणा भाजपा के प्रवक्ता रमन मलिक ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी तुष्टिकरण के खिलाफ है लेकिन ऐसी गैरकानूनी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

बता दें कि बरकत पर हमले से एक दिन पहले, नव-निर्वाचित प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सांसदों से कहा था कि दुर्भाग्य से देश के अल्पसंख्यकों को छलावे में भ्रमित और भयभीत रखा गया है, उससे अच्छा होता कि अल्पसंख्यकों की शिक्षा, स्वास्थ्य की चिंता की जाती. 2019 में आपसे अपेक्षा करने आया हूं कि हमें इस छल को भी छेदना है. हमें विश्वास जीतना है.

इससे पहले 22 मई को मध्य प्रदेश के सिवनी में कथित तौर पर गोमांस ले जाने के शक में गोरक्षकों द्वारा एक मुस्लिम महिला सहित तीन लोगों की बेरहमी से पिटाई कर दी गई थी. इस घटना के वायरल वीडियो में गोरक्षक पीड़ितों से जबरन जय श्रीराम के नारे लगवा रहे थे.

इस मामले में कार्रवाई करते हुए मध्य प्रदेश पुलिस ने 24 मई को पांच लोगों को गिरफ्तार किया.

वहीं इससे पहले गुड़गांव के भोंडसी के धमसपुर गांव में होली की शाम को कथित तौर पर 20-25 लोग एक मुस्लिम परिवार के घर में घुस गए और उस परिवार के सदस्यों के साथ उनके यहां आए मेहमानों की छड़ी और रॉड से जमकर पिटाई कर दी. इस मामले में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)