राजनीति

जगनमोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन ने वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख जगनमोहन रेड्डी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. शपथ ग्रहण समारोह में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन भी मौजूद रहे.

Vijayawada: YSR Congress Party President YS Jaganmohan Reddy with Andhra Pradesh Governor ESL Narasimhan during his swearing-in ceremony, at the Indira Gandhi Municipal Stadium in Vijayawada, Thursday, May 30, 2019. (PTI Photo) (PTI5_30_2019_000093B)

विजयवाड़ा में बृहस्पतिवार को वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी को राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. (फोटो: पीटीआई)

विजयवाड़ाः वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने गुरुवार को विजयवाड़ा में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. उन्हें राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन ने विजयवाड़ा के आईजीएमसी स्टेडियम में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

शपथ ग्रहण समारोह में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन भी मौजूद रहे.

आंध्र प्रदेश के विभाजन के बाद रेड्डी ने राज्य के दूसरे मुख्यमंत्री के तौर पर कमान संभाली है.

जगनमोहन रेड्डी ने शपथ लेने के बाद कहा, ‘दोनों तेलुगू राज्यों (आंध्र प्रदेश और तेलंगाना) का विकास आपसी समझ के साथ करने की जरूरत है.’

नई दिल्ली स्थित आंध्र प्रदेश भवन में पहली बार शपथ ग्रहण समारोह का सीधा प्रसारण देखने के लिए खास इंतजाम किए गए थे.

मालूम हो कि शपथ  ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए जगनमोहन  रेड्डी (46) खुली जीप में सवार होकर लोगों का धन्यवाद करते हुए स्टेडियम में पहुंचे.

रेड्डी की पार्टी ने हाल ही में हुए लोकसभा और विधानसभा चुनावों में शानदार जीत हासिल की है. वाईएसआर कांग्रेस ने राज्य विधानसभा की 175 में से 151 सीटों पर जीत दर्ज की, जबकि लोकसभा की 25 सीटों में से 22 पर जीत हासिल की. वहीं चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेदेपा को विधानसभा चुनाव में इस बार सिर्फ 23 सीटें ही मिली थीं.

गौरतलब है कि जगनमोहन रेड्डी ने कांग्रेस से अलग होकर सात दिसंबर, 2010 को नई पार्टी के गठन का ऐलान किया था. उन्होंने मार्च 2011 में अपने दिवंगत पिता वाईएस राजशेखर रेड्डी के नाम पर नई पार्टी का नाम वाईएसआर कांग्रेस रखा.